लोमड़ी और कौवा पंचतंत्र की कहानी | lomdi aur kauwa Panchtantra ki kahani in Hindi

लोमड़ी और कौवा कहानी -Urdu Stories | Urdu Moral Stories for kids | Urdu fairy tales

lomdi aur kauwa Panchtantra ki kahani

यहाँ पढ़ें : पंचतंत्र की 101 कहानियां – विष्णु शर्मा

लोमड़ी और कौवा पंचतंत्र की कहानी | lomdi aur kauwa Panchtantra ki kahani in Hindi

एक बार एक भूखी लोमड़ी जंगल से गुजर रही थी। उसने पेड़ की डाल पर एक कौवे को देखा। 

कौवे ने अपनी चोंच में रोटी का एक टुकड़ा दबाया हुआ था। लोमड़ी ने सोचा किसी तरह अगर यह रोटी का टुकड़ा मुझे मिल जाए तो मेरी भूख शांत हो जाएगी।

lomdi aur kauwa Panchtantra ki kahani
lomdi aur kauwa Panchtantra ki kahani

यह सोच कर वह कौवे के पास गई और बोली, “कौवे भाई तुम्हारे पंख कितने सुंदर हैं। तुम जरूर बहुत ही प्यारा गाते होंगे। मुझे एक गाना सुनाओ ना।”

अपनी तारीफ सुनकर कौवा फुलाना नहीं समाया। जैसे ही उसने गाना गाने के लिए अपना मुंह खोला, रोटी का टुकड़ा नीचे गिर गया। लोमड़ी उस रोटी के टुकड़े को लेकर भाग गई।

नैतिक शिक्षा :– चापलूसो से सावधान रहना चाहिए।

Leave a Comment