ब्राह्मण, चोर और राक्षस – पंचतंत्र की कहानी | brahman, chor aur rakshas Panchtantra ki kahani in Hindi

Brahman Rakshas Aur Chor | Moral Story for Kids

brahman chor aur rakshas Panchtantra ki kahani

यहाँ पढ़ें : vishnu sharma ki 101 panchtantra kahaniyan in hindi

ब्राह्मण, चोर और राक्षस पंचतंत्र की कहानी | brahman chor aur rakshas Panchtantra ki kahani in Hindi

प्राचीन भारत में  एक ब्राह्मण के पास दो बछड़े थे। वह  उन दोनों का बहुत खयाल रखता था।  जल्द ही वह दोनों तगड़े हो गए। 

brahman chor aur rakshas Panchtantra ki kahani
brahman chor aur rakshas Panchtantra ki kahani

एक चोर का ध्यान उन पर गया और उसने उन्हें चुराने की  सोची।  जब वह ब्राह्मण के घर जा रहा था,  उसे एक राक्षस मिला।  चोर ने राक्षस को ब्राह्मण और उसके  बछड़ो के बारे में बताया। 

राक्षस बोला, “ हम एक साथ काम कर सकते हैं। मैं ब्राह्मण को खा लूंगा और तुम बछड़े को रख लेना।” 

वह दोनों ब्राह्मण के घर पहुंचे। राक्षस पहले ब्राह्मण को खाना चाहता था। पर चोर पहले बछड़ों को चुराना चाहता था। दोनों झगड़ने लगे और ब्राह्मण जाग गया।

राक्षस ने ब्राह्मण को देखा। ब्राह्मण मंत्रों का जाप कर रहा था। राक्षस डर कर वहां से भाग गया।   ब्राह्मण ने चोर को लाठ से पीटकर वहां से भगा दिया। 

नैतिक शिक्षा :– आपस की लड़ाई में हमेशा दुश्मन का फायदा होता है। 

Leave a Comment