श्री जगदीश जी की आरती video,Image|Jagdish Aarti lyrics PDF Download|ॐ जय जगदीश हरे | om jai jagdish hare

ॐ जय जगदीश हरे आरती Om Jai Jagdish Hare Aarti I ANURADHA PAUDWAL I Vishnu Aarti I Video SongAartiyan

ॐ जय जगदीश हरे आरती

Jagdish Aarti Lyrics In Hindi

॥ आरती श्री जगदीश जी ॥

ॐ जय जगदीश हरे, स्वामी ! जय जगदीश हरे।
भक्त जनों के संकट, क्षण में दूर करे॥
ॐ जय जगदीश हरे।

जो ध्यावे फल पावे, दुःख विनसे मन का।
स्वामी दुःख विनसे मन का।
सुख सम्पत्ति घर आवे, कष्ट मिटे तन का॥
ॐ जय जगदीश हरे।

मात-पिता तुम मेरे, शरण गहूँ मैं किसकी।
स्वामी शरण गहूँ मैं किसकी।
तुम बिन और न दूजा, आस करूँ जिसकी॥
ॐ जय जगदीश हरे।

तुम पूरण परमात्मा, तुम अन्तर्यामी।
स्वामी तुम अन्तर्यामी।
पारब्रह्म परमेश्वर, तुम सबके स्वामी॥
ॐ जय जगदीश हरे।

तुम करुणा के सागर, तुम पालन-कर्ता।
स्वामी तुम पालन-कर्ता।
मैं मूरख खल कामी, कृपा करो भर्ता॥
ॐ जय जगदीश हरे।

तुम हो एक अगोचर, सबके प्राणपति।
स्वामी सबके प्राणपति।
किस विधि मिलूँ दयामय, तुमको मैं कुमति॥
ॐ जय जगदीश हरे।

दीनबन्धु दुखहर्ता, तुम ठाकुर मेरे।
स्वामी तुम ठाकुर मेरे।
अपने हाथ उठा‌ओ, द्वार पड़ा तेरे॥
ॐ जय जगदीश हरे।

विषय-विकार मिटा‌ओ, पाप हरो देवा।
स्वमी पाप हरो देवा।
श्रद्धा-भक्ति बढ़ा‌ओ, सन्तन की सेवा॥
ॐ जय जगदीश हरे।

श्री जगदीशजी की आरती, जो कोई नर गावे।
स्वामी जो कोई नर गावे।
कहत शिवानन्द स्वामी, सुख संपत्ति पावे॥
ॐ जय जगदीश हरे।

यहाँ पढ़ें: 50+ देवी देवताओं की आरती

Jagdish Aarti Lyrics Image

Jagdish Aarti lyrics
ॐ जय जगदीश हरे

Jagdish Aarti Lyrics In Hindi PDF Download – श्री जगदीश जी की आरती

श्री जगदीश जी की आरती का पीडिएफ डाउनलॉड (PDF Download) करने के लिए नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करें।

श्री विष्णु कथा को सुनने से परिवार में रोग ,कष्ट ,संकट ,दूर होकर सुख समृद्धि की प्राप्ति होती हैं

भगवान श्री विष्णु की कृपा अनंत है। इनकी दया से सभी दुख दूर हो जाते हैं। श्री भगवान विष्णु का दिन गुरुवार होता है इस दिन श्री हरि की पूजा की जाती है तथा इसी दिन बृहस्पति देव की भी पूजा होती है।

अगर श्री भगवान विष्णु की कृपा पाना चाहते हैं तो गुरुवार के दिन इनकी पूजा व व्रत करके इनकी कृपा पा सकते हैं। व्रत करने से व्रत करने वाले के घर में सुख- समृद्धि व ऐश्वर्य और धन की प्राप्ति होती है। जिन कन्याओं के विवाह मे बाधा आती है उनके द्वारा इस व्रत को करने से सारी बाधाएं दूर हो जाती हैं।

शास्त्रों मे ऐसा भी कहा जाता है कि जो लोग व्रत नही कर सकते वे केवल इस व्रत कथा को पढ़कर और सुनकर भी इसका लाभ ले सकते हैं। इसलिए कहा जाता है भगवान श्री हरि यानी विष्णु भगवान की कथा सुनने मात्र से आपके सारे कष्ट दूर हो जाते हैं। और सुख समृद्धि प्राप्त होती है। 

Leave a Comment