श्री रामदेव आरती video,Image|Ramdev aarti lyrics PDF Download|ॐ जय श्री रामादेस्वामी |om jai sri ramdev swami

Om Jai Shree Ramadev (Aarti) || Baba Ramdev Ji Ki Aarti || Hindi Devotional Song (Video)

Ramdev aarti lyrics Lyrics In Hindi

॥ श्री रामदेव आरती ॥

ॐ जय श्री रामादेस्वामी जय श्री रामादे।
पिता तुम्हारे अजमलमैया मेनादे॥

ॐ जय श्री रामादे
स्वामी जय श्री रामादे॥

रूप मनोहर जिसकाघोड़े असवारी।
कर में सोहे भालामुक्तामणि धारी॥

ॐ जय श्री रामादे
स्वामी जय श्री रामादे॥

विष्णु रूप तुम स्वामीकलियुग अवतारी।
सुरनर मुनिजन ध्यावेजावे बलिहारी॥

ॐ जय श्री रामादे
स्वामी जय श्री रामादे॥

दु:ख दलजी कातुमने पल भर में टारा।
सरजीवन भाण कोतुमने कर डारा॥

ॐ जय श्री रामादे
स्वामी जय श्री रामादे॥

नाव सेठ की तारीदानव को मारा।
पल में कीना तुमनेसरवर को खारा॥

ॐ जय श्री रामादे
स्वामी जय श्री रामादे॥

यहाँ पढ़ें: 50+ देवी देवताओं की आरती

Ramdev aarti lyrics Image

ramadev aarti lyrics
श्री रामदेव आरती

Ramdev aarti lyrics In Hindi PDF Download – श्री रामदेव आरती

श्री रामदेव आरती का पीडिएफ डाउनलॉड (PDF Download) करने के लिए नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करें।

राजस्थानी कथा | बाबा रामदेव जी की जन्म कथा | रामनिवास राव | | Baba Ramdev Janma Katha ( HD Video)

बाबा रामदेव जिन्हे सभी धर्म के लोग अपने अनुसार लिए गए नाम से जानते हैं। रामदेव बाबा को द्वारिकाधीश का ही अवतार माना जाता है। इन्हे पीरों के पीर रामापीर, (रामसा पीर) बाबाओं के बाबा रामदेव बाबा भी कहा जाता है। बाबा राम देव को हिंदू और मुस्लिम एकता का प्रतीक भी माना जाता है।

बाबा रामदेव जी के जन्म के बारे में कुछ विद्वानों का मानना है कि बाबा का जन्म विक्रम संवत 1409 को उडूकास मीर में हुआ था और विक्रम संवत 1442 में उन्होने रुणिचा में जीवित समाधि ले ली थी। तथा उनके परिवार में उनके पिता का नाम अजमालजी तंवर, और उनकी माता का नाम मैणादे, गुरु का नाम बालीनाथ था।

बाबा राम देव दलितों के रक्षक थे तथा हिंदू मुस्लिम के बीच एकता बढ़ाने के लिए भी कार्यरत थे। वह आपसी भाईचारे को बनाए रखने तथा शांति की शिक्षा दिया करते थे। उन्होने दलितों के खिलाफ हो रहे छुआछूत को हटाने के लिए भी कार्य किया।

बाबा राम देव ने हमेशा एक जन सेवक के रूप मे दलितों, गरीबों, असहाय तथा जरुरतमंदो की सेवा की, तथा इसके साथ- साथ विदेशी ताक़तों से भी लोहा लिया, बाबा राम देव सभी की सेवा एक समान रूप से करते थे।

Leave a Comment