in

Full form of NABARD – In Hindi नाबार्ड का फुल फॉर्म क्या होता है?

full form of NABARD? नाबार्ड का फुल फॉर्म क्या होता है? आपने नाबार्ड का नाम तो बहुत बार सुना होगा। क्या आप जानते हैं कि नाबार्ड होता क्या है और इसका फुल फॉर्म क्या होता है? अगर आपको इसके बारे मे नही पता तो इस आर्टिकल मे आपको नाबार्ड से संबंधित बहुत सी जानकारी मिल जाएगी।

full form of NABARD? नाबार्ड का फुल फॉर्म क्या होता है?

full form of NABARDNational Bank for Agriculture and Rural Development
full form of NABARD in Hindiराष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक
FormationJuly 12, 1982
PredecessorAgricultural Refinance and Development Corporation
TypeDevelopment Finance Institution
Legal statusGovernment of India
Purpose[Rural Development] [Credit Planning] [Bank Supervision]
HeadquartersMumbai, India
Websitewww.nabard.org
full form of NABARD

नाबार्ड का फुल फॉर्म होता है नेशनल बैंक फॉर एग्रीकल्चर एंड रूरल डवलपमेंट इसका हिंदी मे मतलब होता है (राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक) नाबार्ड को इंग्लिश मे लिखते हैं “National Bank for Agriculture and Rural Development”

When was NABARD established नाबार्ड की स्थापना कब हुई थी?

भारत मे स्थापित नाबार्ड एक बहुत बड़ा बैंक है। नाबार्ड का मुख्यालय मुंबई मे स्थित है। नाबार्ड की स्थापना 12 जुलाई 1982 मे गई थी। मुंबई मुख्यालय से पूरे भारत के नाबार्ड का संचालन किया जाता है। हमारे देश की ग्रामीण अर्थव्यवस्था (Economy) को बढ़ाने के लिए यह बैंक काम करता है।

किसान क्रेडिट कार्ड (credit card) नाबार्ड के द्वारा ही निर्माण किया गया है। जिससे देश के बहुत से किसानों को लाभ मिलता है। किसान क्रेडिट कार्ड (credit card) की मदद से किसान बड़ी आसानी से बैंक से लोन ले सकते हैं।

Job in NABARD नाबार्ड मे जॉब

full form of NABARD

नाबार्ड (NABARD) बैंक मे हर महीने कई सारे रिक्त पद के लिए वेकेंसी (Vacancy) निकाली जाती है। जिनकी जानकारी आप नाबार्ड के ऑफिशियल साइट (Official site) के करियर नोटिस (Career notice) मेनू मे देख सकते हैं। आप अगर नाबार्ड (NABARD) के बारे मे करंट जानकारी लेना चाहते हैं तो नाबार्ड के फेसबुक (Facebook) पेज से जुड़ सकते है। इसके साथ ट्वीटर (Twitter) पर भी फोलो कर सकते है।

नाबार्ड की ऑफिशियल बेवसाइट क्या है।

नाबार्ड की ऑफिशियल बेवसाइट (Official website) है www.nabard.org

Main functions of NABARD नाबार्ड के मुख्य कार्य

ग्रामीण समृद्धि के फैसिलिटेटर के रुप मे अपने कार्यों का निर्वाह करने के लिए नाबार्ड को निम्नलिखित जिम्मेदारियाँ सौंपी गई हैं।

1.       संस्थागत विकास करना या बढ़ावा देने के लिए कार्य करना।

2.       क्लाइंट बैंकों का मूल्यांकन करना और निगरानी एवं निरीक्षण करना।

3.       ग्रामीण क्षेत्रों मे ऋण दाता संस्थाओं को पुनर्वित्त उपलब्ध कराना। 

4.       ऋण वितरण प्रणाली की अवशोषण क्षमता के लिए संस्थान के निर्माण की दिशा मे उपाय करता है। जिससे निगरानी, पुनर्वास योजनाओं के क्रियान्वयन, ऋण संस्थाओं के पुनर्गठन, कर्मियों के प्रशिक्षण में सुधार करना आदि शामिल है।

5.       ग्रामीण क्षेत्रों मे विभिन्न विकासात्मक गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए जो संस्थान निवेश और उत्पादन ऋण उपलब्ध कराते हैं। उनके वित्तपोषण की एक शीर्ष एजेंसी के रुप मे भी यह कार्य करता है।

6.       नाबार्ड (NABARD) ग्रामीण वित्तपोषण की गतिविधियों के साथ समन्वय रखता है। तथा भारत सरकार, राज्य सरकारों, भारतीय रिज़र्व बैंक एव नीती निर्धारण के मामलों से जुड़ी अन्य राष्ट्रीय स्तर की संस्थाओं के साथ तालमेल बनाए रखता है।

7.       यह अपनी पुनर्वित्त परियोजनाओं की निगरानी एवं मूल्यांकन का उत्तरदायित्व निभाता है।

Credit card scheme for farmers किसानों के लिए क्रेडित कार्ड योजना

full form of NABARD

किसानों को फसल ऋण उपलब्ध कराने के लिए नाबार्ड द्वारा भारतीय रिज़र्व बैंक के सहयोग से अगस्त 1998 में किसान क्रेडिट कार्ड योजना शुरु की गई थी। टेक्नोलॉजी (Technology) क्रांति में अग्रणी भूमिका निभाते हुए नाबार्ड ने ग्रामीण वित्तीय संस्थाओं को सहायता उपलब्ध कराई है ताकि वे अपने सभी किसान ग्राहकों को रुपये किसान कार्ड उपलब्ध करा सकें।

सभी किसान कार्ड खातों के लिए मिशन मोड में किसानों को रुपये किसान कार्ड उपलब्ध कराने के लिए क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों तथा ग्रामीण सहकारी बैंकों को सहायता प्रदान की गई ताकि वे यूरोपे, मास्टर कार्ड और वीजा चिप आधारित रुपये किसान कार्ड जारी कर सकें।

स्कूलों, कॉलेजों, दुग्ध समितियों तथा अन्य समितियों मे माइक्रो एटीएम के लिए सहायता उपलब्ध कराई गई ताकि किसानों को उनके रुपे किसान कार्ड का प्रयोग करने के लिए अधिक सुविधाएँ उपलब्ध हों। 31 मार्च 2019 तक क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों के द्वारा 1.18 करोड़ तथा सहकारी बैंकों द्वारा 2.00 करोड़ रुपे किसान कार्ड जारी किए जा चुके हैं।          

नाबार्ड के क्षेत्रीय कार्यालय

यहाँ पढ़ें : अन्य सभी full form

नाबार्ड अपने 28 क्षेत्रीय कार्यालय और एक उप कार्यालय जो सभी राज्यों, केंद्र शासित प्रदेशों की राजधानियों में स्थित हैं। इसके माध्यम से परिचालित है। प्रत्येक क्षेत्रीय कार्यालय (आरओ) मे प्रधान कार्यकारी के रुप मे एक मुख्य महाप्रबंधक होता है। और प्रधान कार्यालय मे कई शीर्ष अधिकारी कार्यकारी होते हैं। जैसे कि कार्यकारी निदेशक, प्रबंध निर्देशकों और अध्यक्ष संपूर्ण देश के रुप मे इसके 336 जिला कार्यालय, पोर्ट ब्लेयर में एक उप-कार्यालय और श्री नगर मे एक सेल है। नाबार्ड के पास 6 प्रशिक्षण संस्थान भी हैं।

नाबार्ड को इसके एसएचजी बैंक लिंकेज कार्यक्रम के लिए भी जाना जाता हैं। जो भारत के बैंकों को स्वावलंबी समूहों के लिए उधार देने के लिए प्रोत्साहित करता है। क्योंकि एसएचजी का गठन विशेष कर गरीब महिलाओं के लिए किया गया है। इसलिए यह महत्वपूर्ण भारतीय उपकरण के रुप मे विकसित हो गया है।

नाबार्ड के पास प्राकृतिक संसाधन प्रबंधन कार्यक्रम का भी एक पोर्टफोलियो है जिसमे एक समर्पित उद्देश्य के लिए स्थापित कोष के माध्यम से जल संभर विकास, आदिवासी विकास और नवोन्मेषी फार्म जैसे विभिन्न क्षेत्रों को शामिल किया गया है।

राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक

यह एक ऐसा बैंक है जो ग्रामीणों को उनके विकास एवं आर्थिक रूप से उनकी जीवन स्तर सुधारने के लिए उनको ऋण उपलब्ध कराती है। कृषि, लघु उद्योग, हस्तशिल्प और अन्य ग्रामीण शल्पों के उन्नयन और विकास के लिए ऋण प्रवाह सुविधाजनक बनाने के अधिदेश के साथ नाबार्ड 12 जुलाई 1982 को एक शीर्ष विकासात्मक बैंक के रुप में स्थापित किया गया था। उसे ग्रामीण क्षेत्रों मे अन्य संबंधित क्रियाकलापों को सहायता प्रदान करने, एकीकृत और सतत ग्रामीण विकास को बढ़ावा देने और ग्रामीण क्षेत्रों में सुनिश्चित करने का भी अधिदेश प्राप्त है।

नाबार्ड के अध्यक्ष

नाबार्ड के वर्तमान समय मे अध्यक्ष हर्ष कुमार भनवाला है।

नाबार्ड के पूरे देश मे 28 क्षेत्रीय कार्यालय हैं जो कि अलग – अलग राज्यों के राजधानी या बड़े शहरों मे स्थित है। और 6 प्रशिक्षण कार्यालय हैं।

नाबार्ड बैंक का मुख्य कार्यालय मुंबई में है और यह जो 6 प्रशिक्षण कार्यालय हैं वह प्रशिक्षण देने का कार्य करते हैं। देश के विविध राज्यों मे जो 28 क्षेत्रीय कार्यालय हैं उनका संचालन मुख्य कार्यालय से किया जाता है जो कि मुंबई मे हैं।

नाबार्ड की उपलब्धियाँ

नाबार्ड के मुख्यत: तीन कार्य क्षेत्र हैं वित्तीय, विकासात्मक और पर्यवेक्षी- जिनके माध्यम से वह ग्रामीण अर्थव्यवस्था के लगभग हर पहलू में योगदान कर रहा है। इनके अंतर्गत उसके विभिन्न दायित्व हैं: पुनर्वित्त सहायता उपलब्ध कराना, ग्रामीण आधार भूत संरचनाओं का निर्माण, जिला स्तरीय ऋण योजनाएँ तैयार करना आदि।

निष्कर्ष- इस लेख मे हमने आपको नाबार्ड से संबंधित जानकारी प्रदान की है जैसे नाबार्ड का फुल फॉर्म क्या होता है। इसका फुल फॉर्म होता है “National Bank for Agriculture and Rural Development”। इसके साथ – साथ हमने नाबार्ड से संबंधित अन्य जानकारी जैसे नाबार्ड के कार्यों के बारे में इसकी स्थापना के बारे में जानकारी देने की कोशिश की है अगर आपका कोई सुझाव है तो आप हमे नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स मे कमेंट कर सकते हैं।

Written by Amit Singh

I am a technology enthusiast and write about everything technical. However, I am a SAN storage specialist with 15 years of experience in this field. I am also co-founder of Hindiswaraj and contribute actively on this blog.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

full form of PH

Full form of PH – पीएच का फुल फॉर्म क्या होता है?

full form of MIS

Full form of MIS in Hindi – एमआईएस का फुल फॉर्म क्या होता है