in

Full form of IRDA – आईआरडीए का फुल फॉर्म क्या होता है

full form of IRDA वर्तमान समय मे बीमा योजना (insurance policy) बहुत ही महत्वपूर्ण हो गई है। आज के समय मे बीमा योजनाओं (insurance policy) का लाभ लगभग प्रत्येक व्यक्ति उठा रहा है। बीमा योजना देश के आर्थिक विकास मे भी विशेष भूमिका निभाता है लेकिन हमे बहुत से बीमा धारकों के साथ कई प्रकार की धोखाधड़ी और पैसे फसने या बीमा का पैसा न मिलने के मामले देखने को मिलते रहते हैं।

बीमा संबंधित इस प्रकार के सभी मामलों का निपटारा करने के लिए आईआरडीए संगठन को बनाया गया, यह बीमा संबंधित किसी भी समस्या का निवारण करता है। What is the full form of IRDA in Hindi? आईआरडीए क्या होता है।

What is the full form of IRDA in Hindi? आईआरडीए का फुल फॉर्म क्या होता है?

full form of IRDAInsurance Regulatory and Development Authority
full form of IRDA in Hindiबीमा नियामक और विकास प्राधिकरण
established1999
Headquarters
Sy No. 115/1, Financial District, Nanakramguda,
Hyderabad – 500032
ChairmanSubhash Chandra Khuntia
Chief General ManagerV Jayanth Kumar
Websiteirdai.gov.in
full form of IRDA

आईआरडीए (IRDA) का फुल फॉर्म होता है। full form of IRDA “Insurance Regulatory and Development Authority” आईआरडीए (IRDA) का फुल फॉर्म हिंदी मे होता है। बीमा नियामक और विकास प्राधिकरण होता है। यह एक स्वायत्त और वैधानिक निकाय है जो बीमा और विनियमित को बढ़ावा देता है।

What is IRDA? आईआरडीए क्या होता है?

Insurance Regulatory and Development Authority “भारतीय बीमा विनियामक विकास प्राधिकरण” एक नियामक संस्था regulatory body होती है। इसका उद्देश्य “आपके हितों की रक्षा करना”। “Protecting Your Interests” और बीमा उधोग को कंट्रोल Control में रखता होता हैं इसके विकास की देखरेख का काम भी इसी को सौंपा गया है। आईआरडीए (IRDA) का गठन बीमा नियामक और विकास प्राधिकरण अधिनियम आईआरडीए (IRDA) अधिनियम, 1999 (Act, 1999) द्वारा किया गया था और इसका मुख्य कार्यालय हैदराबाद, (Hyderabad) तेलंगाना (Telangana) में स्थित है।

What is the authority and main objective? प्राधिकरण क्या है और मुख्य उद्देश्य?

1. प्राधिकरण का मुख्य उद्देश्य है पॉलिसी धारकों के हितों और अधिकारों को बढ़ावा देना।

2. बीमा से निपटने वाले वित्तीय बाजारों में पारदर्शिता और उचित आचार संहिता पर कार्यों को करना भी एक मुख्य उद्देश्य है।

3. बीमा उत्पाद की धोखा धड़ी और चूक को रोकना और वास्तविक दावों का तुरंत निपटारा करना।

4. बीमा उधोग के विकास को बढ़ावा देना और उसे अपनी निगरानी में रखना।

Functions and duties of IRDA आईआरडीए के कार्य और कर्तव्य

full form of IRDA

1. आईआरडीए IRDA भारत की बीमा कंपनियों का पंजीकरण Registration और विनियमन Regulation करने का काम करता है।

2. आईआरडीए IRDA दावों का तेजी से निपटारा करने का कार्य करता है।

3. आईआरडीओ IRDA द्वारा ही बीमा कारोबार और पुन: बीमा व्यवसाय की नियमित वृद्धि को बढ़ावा और सुनिश्चित करने का कार्य किया जाता है।

4. आईआरडीए IRDA भारत की सभी बीमा कंपनियों की नीतियों को बनाने और उन पर निगरानी रखने के लिए काम करता है।

5. आईआरडीओ IRDA बीमा मध्यस्थों Moderators और एजेंटों Agents के लिए अपेक्षित योग्यता, (Required qualification,) आचार संहिता (Code of conduct) और प्रशिक्षण (Training) को निर्दिष्ट करता है।

6. आईआरडीओ IRDA टैरिफ सलाहकार समीति (Tariff advisory review) के कामकाज की भी निगरानी करने का कार्य करता है।

7. यह सर्वेक्षण कर्ताओं और हानि मूल्यांकन कर्ताओं के लिए आचार संहिता (Code of conduct) को भी निर्दिष्ट करता है।

8. आई आर डी ओ IRDA बीमा कंपनियों द्वारा धन के निवेश को नियंत्रित करने का कार्य भी करता है।

9. पॉलिसी के आत्म समर्पण मूल्य आदि से संबंधित पॉलिसी धारकों के हितों की रक्षा करना आईआरडीए IRDA का एक मुख्य कार्य है।

10.जनरल इंश्योरेंस के मामले में, आईआरडीओ IRDA द्वारा पॉलिसी धारक के नुकसान का आकलन किया जाता हैं।

11.आई आर डी ए IRDA जीवन बीमा कंपनी को पंजीकरण (Registration) का प्रमाण पत्र प्रदान करने का काम करता है।

12.आईआरडीए IRDA अधिनियम के प्रयोजनों को पूरा करने के लिए बीमा कंपनियों और बीमा एजेंटो Agents से फीस और अन्य शुल्क लेता है।

13.यह ग्रामीण या सामाजिक क्षेत्र में जीवन बीमा और सामान्य बीमा व्यवसाय का प्रतिशत निर्दिष्ट करता है।

14.आई आर डी ए IRDA का मुख्य कार्य बीमा उत्पादों के धोखाधड़ी और गलत वर्तनी को रोकना है। आईआरडीए बीमा प्रोजेक्ट को वित्त करने के लिए बीमाकर्ता की प्रिमियम आय का प्रतिशत निर्दिष्ट करता है।

15.इनके अलावा आईआरडीए IRDA संगठन बीमा कर्ताओं और बीमा बिचौलियों के बीच विवादों को जोड़ता है। ग्रामीण या सामाजिक क्षेत्र में बीमाकर्ता द्वारा स्वीकार किए जाने वाले जीवन बीमा व्यवसाय और सामान्य बीमा व्यवसाय का प्रतिशत निर्धारित करता है।

When was IRDA established? आईआरडीए की स्थापना कब हुई थी?

full form of IRDA
full form of IRDA

आई आर डी ए IRDA यानी बीमा नियामक और विकास प्राधिकरण की स्थापना वर्ष 1999 मे स्वायत्ता निकाय के रुप मे की गई थी। (आई आर डी ए) IRDA का मिशन पॉलिसी होल्डर के हितों की रक्षा करना, बीमा उधोग के क्रमिक विकास को विनियमित करना, और बढ़ावा देना है।  

बीमा एक्ट 1938 की धारा 114 ए के संदर्भ में बीमा उधोग के लिए फ्रेम्स रेगुलेशन (Frame regulation) वर्ष 2000 से विनियमों के अनुसार नई बीमा कंपनियों को पंजीकृत (Registered) किया गया है।, उधोग के स्वस्थ विकास और पॉलिसी धारण कर्ता के हितों के संरक्षण के लिए बीमा क्षेत्र की गतिविधियों पर नज़र रखता है। वर्तमान समय मे यह संगठन लाखों लोगों की मदद करता है।

आईआरडीए एक दस लोगों का संगठन है जो इस प्रकार है-

बीमा कंपनियों द्वारा दुर्घटना के मामलों में बीमाकृत व्यक्तियों की क्षति पूर्ति का आक्ष्वासन दिया जाता हैं, परंतु बहुत बार इसे पूरा नहीं किया जाता है इसलिए यह गतिविधियों पर निगरानी रखते हुए सभी प्रकार की समस्याओं का निवारण करता है। इसी प्रकार की बीमा क्षेत्र में आने वाली समस्याओं को देखते हुए भारत सरकार ने निगरानी और समाधान के लिए आईआरडीए नाम की एक एजेंसी की स्थापना की और इस क्षेत्र के विकास की देखरेख की भी ज़िम्मेदारी इसी एजेंसी को दी है।

1. अध्यक्ष और आईआरडीए के सदस्यों की नियुक्ति भारत सरकार द्वारा की जाती है।

2. एक अध्यक्ष होता है जिसका कार्यकाल पाँच वर्ष और उसके लिए अधिकतम आयु 60 वर्ष है।

3. चार अंशकालिक सदस्य होते हैं जो पाँच वर्ष से अधिक नही होते।

4. पाँच पूर्ण कालिक सदस्य इनका कार्यकाल पाँच वर्ष और अधिकतम आयु 62 वर्ष रखी गई है।

यहाँ पढ़ें : अन्य सभी full form

Electronic इलेक्ट्रॉनिक रुप में बीमा पॉलिसी

भारत के वित्त मंत्री द्वारा हाल ही में यह घोषित और निर्धारित किया गया है। कि पॉलिसी धारकों को अब पेपर फॉर्म के बजाय इलेक्ट्रॉनिक Electronic रुप में बीमा पॉलिसी खरीदने और रखने मे मदद करने की सुविधा प्रदान की जाएगी। बीमा पॉलिसी धारकों के इलेक्ट्रॉनिक Electronic रिकॉर्ड रखे जाएंगे।

बीमा अनुबंधों की सभी सीमाएँ क्षेत्रों के लिए भिन्न- भिन्न होती है। इसका मतलब कुछ अनुबंधों का समय एक वर्ष का होता है और कुछ बीस वर्षों का या उससे भी अधिक हो सकता है और  ऐसे अनुबंधों का आकार भी बहुत बड़ा होता है।

 Role of IRDA आईआरडीए की भूमिका

आई आर डी ए IRDA द्वारा बीमा पॉलिसी धारकों के लिए उचित उपचार के हित को सुरक्षित रखने के लिए कई कदम उठाए गए है।

अर्थ व्यवस्था Economy के विकास में तेजी लाने के लिए दीर्घ कालिक धन प्रदान करने के लिए और बीमा उधोग या क्षेत्र को व्यवस्थित करने के लिए विकास करना।

अखंडता, (Integrity) निष्पक्ष व्यवहार्यता (Fair feasibility) और उन लोगों की क्षमता के उच्च मानकों को निर्धारित करना, बढ़ाना देना, निगरानी करना और लागू करना।

आई आर डी ए IRDA सुनिश्चित करने के लिए की बीमा पॉलिसी धारक बीमा कंपनियों द्वारा प्रदान किए गए उत्पादों और सेवाओं के बारे में सटीक, स्पष्ट और सही जानकारी प्राप्त करता है और इस संबंध में अपने कर्तव्यों और जिम्मेदारियों के बारे में ग्राहकों को जागरुक करता है।

वास्तविक दावों को तुरंत निपटाने और यह सुनिश्चित करने कि बीमा धोखाधड़ी, और घोटालों को रोकने के लिए और ऑपरेटिव शिकायत निवारण करने के लिए कार्य करे।

बाजार के खिलाड़ियों के बीच वित्तीय सुदृढ़ता के हाई स्टैंडर्ड को लागू करने के लिए, बीमा से निपटने वाले वित्तीय बाजारों में पारदर्शिता, निष्पक्ष रुप से व्यवस्थित करने के लिए और एक विश्वसनीय प्रबंधन सूचना प्रणाली का निर्माण करने के लिए भी आईआरडीए कार्य करता है।

निष्कर्ष- आईआरडीए क्या होता है? इसका फुल फॉर्म क्या होता है? आईआरडीए के कार्य और उद्देश्य, What is the full form of IRDA in Hindi? Insurance Regulatory and Development Authority” इस प्रकार की सभी जानकारी आपको इस लेख मे मिल जाएगी अगर इसके संबंध मे आपका कोई सुझाव है तो आप हमे नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स मे कमेंट कर सकते हैं।

Written by Amit Singh

I am a technology enthusiast and write about everything technical. However, I am a SAN storage specialist with 15 years of experience in this field. I am also co-founder of Hindiswaraj and contribute actively on this blog.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

full form of IMAO

Full form of IMAO – IMAO का फुल फॉर्म क्या होता है?

Full form of IT

What is the full form of IT in Hindi – आईटी का फुल फॉर्म क्या होता है?