in

Full Form Of Love – लव की फुल फॉर्म

सूफी संत रूमी ने प्यार के विषय में कहा है ,

“love will find its way through all language on its own “

माना प्यार अपने दम पर सभी भाषा के माध्यम से अपना रास्ता खोज लेगा। प्यार किसी भी व्यक्ति के लिए सबसे अनमोल अनुभव होता है। ये वो समय होता है जब आप सारी चिंताओं को भूल कर उस एक व्यक्ति से साथ सारा समय गुज़ारते हैं। आप जो भी काम एक साथ करते हैं वो दोनों लोगों के लिए ही नया अनुभव होता है और इसमें आप दोनों ही अपना पूरा सौ प्रतिशत देते हैं। जब रिश्ता नया होता है तो आप चाहते हैं की आप अपने साथी के बारे में सब कुछ जानना चाहते हैं, लेकिन कभी कभी किसी रिश्ते में सब कुछ जानना इतना जरूरी नहीं होता। आपको बस उनको,जैसे वो हैं, वैसे ही अपनाना होता है। 

Full Form Of Love – लव की फुल फॉर्म

Full Form Of Love Laughter, Optimism, Value, Eternity
Full Form Of Loveलाफ्टर, ऑप्टिमिस्म, वैल्यू, एटर्निटी
Full Form Of Love

प्यार यानी love को समझ ने के लिए हमें उसके हर एक शब्द को समझना पड़ेगा 

laughter : यानी मुस्कुराहट, ख़ुशी आदि 

Optimism : यानी उम्मीद या आशा करना 

value : यानी महत्त्व, अहमियत

Eternity : यानी शाश्वतता, नित्यता 

ये सभी प्रेम के अभिन्न अंग। हैं। इनके बिना प्रेम होना महज़ दिखावा होता है। हर व्यक्ति जो प्रेम करता है या प्रेम में होता है उसके लिए ये सारी चीजों का होना अतिआवश्यक होता है। लेकिन इन सबसे पहले हमें प्रेम के प्रकार को समझना जरूरी होगा। हमें भगवान् से प्रेम हो सकता है, जानवरों और प्रकृति से प्रेम हो सकता है या किसी मनुष्य से प्रेम हो सकता है। लेकिन सभी तरह के प्रेम में निम्न अंगों का उपस्थित होना आवश्यक होता है। 

प्रेम के प्रकार 

प्रेम के कई अंग आपको  आपके जीवन में देखने को मिल सकते हैं। इनके कुछ मुख्य रूप हैं 

1. भक्ति या ईश्वर प्रेम 

2 . जानवरों से प्रेम 

3. इंसानो से प्रेम 

Full Form Of Love

भक्ति या ईश्वर प्रेम 

जब बात करते हैं भक्ति या ईश्वर प्रेम का सबसे बड़ा उदाहरण हमें मीरा का कृष्ण के प्रेम से मिलता है। मीरा का सम्बन्ध राणा प्रताप के परिवार से था लेकिन प्रभु प्रेम ने उन्हें सब कुछ त्यागने पर मजबूर कर दिया।  वो कृष्ण के प्रेम में इस तरह लींन हो गयीं की वो शहर शहर घूम कर सिर्फ हरी भजन करने लगी और कृष्ण के प्रति न जाने कितने वर्षों तक लोगों को जागरूक किया।

मशहूर भजन गायक अनूप जलोटा का गाया हुआ भजन ” ऐसी लागी लगन, मीरा हो गयी मगन “,  के प्रति प्रेम दर्शाता है। हम सभी के अंदर भक्ति का होना जरूरी है।  ये हमें एक बेहतर इंसान बनाने में मदद करता है और ये भी दर्शाता है की मुसीबत के समय हम अकेले नहीं हैं, हमारा भगवान् हमारे साथ है।  

जानवरों से प्रेम 

जानवरों से प्रेम होना ये दर्शाता है की आप कितने अच्छे व्यक्ति हैं। एक सर्वे के अनुसार इंसान कितना अच्छा है और उसके अंदर कितनी भावनाएं हैं ये तभी पता चलता है जब उसका जानवरों के प्रति प्रेम प्रदर्शित होता है। जानवरों से प्रेम करने वाले लोगों के बारे में भी कहा जाता है की उनके भीतर किसी भी प्रकार का मैल नहीं हैं और ये दिल के कितने साफ़ हैं।

आपने देखा होगा की लोग अक्सर अपने का चयन करते समय ये ध्यान रखते हैं की क्या उनके साथी जानवरों से प्रेम करते हैं या नहीं। जानवरों से प्रेम करने वालों में एक सबसे अच्छा गुण ये है की वो हर जीव से प्यार करते हैं और किसी को दुःख या दर्द नहीं पहुंचाते।   

इंसानो से प्रेम

किसी व्यक्ति से प्रेम होना सबसे ज्यादा पाया जाने वाला प्रकार है।  हर व्यक्ति को किसी न किसी से प्रेम होता ही है भले ही वो आपके माता पिता हों, भाई हो या घर का कोई और सदस्य हो। और सिर्फ घर का सदस्य ही नहीं आपके दोस्त या कोई ऐसा जिससे आप प्रेम करते हैं , एक ऐसा प्रेम जो शायद आपको किसी और से नहीं हुआ , ये ही कुछ उदाहरण है किसी व्यक्ति से प्रेम होने के।

इस तरह के प्रेम में आप ना सिर्फ अपने लिए काम कर रहे होते हैं बल्कि उस व्यक्ति के लिए भी कर रहे होते हैं जिससे आप प्रेम करते हैं।  कहते हैं प्यार अँधा होता है, ये कुछ भी नहीं देखता।  न मज़हब, न सरहद न जात कुछ नहीं ये किसी भी व्यक्ति को किसी से भी हो सकता है। 

साल 2018 में आये सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के बाद सेक्शन 377 भी अब हटा लिया गया है जिसका मतलब ये है की अब आप किसी भी व्यक्ति को किसी भी व्यक्ति से प्यार करने की और उसको जाहिर करने की आज़ादी मिल गयी है। जिसके बाद कई सोशल एक्टिविस्ट्स ने इस पर अपनी ख़ुशी जताई।  किसी से प्यार करना किसी भी व्यक्ति विशेष का निजी निर्णय होता है। और इस सेक्शन के हट जाने के बाद आप खुल कर अपना प्यार जाहिर कर सकते हैं। गेर रिलेशन्स या होमो सेक्सुअल रिलेशन्स को आज़ादी मिलना प्यार को एक नया आयाम के मिलने जैसा है। सबको सभी से प्यार करने का हक़ है। 

LOVE या प्रेम 

Full Form Of Love
Full Form Of Love

जैसा की अब हम ये जानते हैं की किसी भी व्यक्ति को किसी से भी प्यार हो सकता है। लेकिन प्यार सही मायने में क्या चीज़ है इसको जान ने के लिए हमें सबसे पहले प्यार यानी लव की फुल फॉर्म जानना जरूरी होगा, लव की फुल फॉर्म है ,लाफ्टर, ऑप्टिमिस्म, वैल्यू, एटर्निटी ( full form of love – Laughter, Optimism, Value, Eternity ). किसी भी व्यक्ति में प्यार का होना ये दर्शाता है की उस व्यक्ति में ये गुण मौजूद हैं।

जितने भी गुण किसी व्यक्ति को प्यार करने के लिए चाहिए होते हैं उनमें से प्रमुख केवल ये चार ही हैं। अगर किसी व्यक्ति में इनमें से कुछ भी मौजूद नहीं है तो  प्यार का पूर्ण बीज नहीं बोया गया है।  और जब बीज ही नहीं बोया गया है तो पेड़ की आशा कैसे की जा सकती है।  

जैसा की आप जानते हैं की Full Form Of love या प्यार को 4 भाग में बांटा गया है,

laughter  यानी मुस्कुराहट, ख़ुशी आदि 

Optimism  यानी उम्मीद या आशा करना 

value  यानी महत्त्व, अहमियत

Eternity  यानी शाश्वतता, नित्यता  

अगर प्यार को समझना है तो इसकी शुरुवात हमें यहां इन शब्दों को जानने से करनी चाहिए। जब हम इन शब्दों को सही मायने में समझते हैं तभी आप इश्क़ के सन्दर्भ में सब कुछ जान ने का दावा पेश कर सकते हैं। चलिए इन शब्दों का असल मतलब समझते हैं जो इसे इश्क़ के लिए इतना महत्वपूर्ण बनाता है।  

laughter  यानी मुस्कुराहट, ख़ुशी

ख़ुशी का होना दर्शाता है की जो भी आपके साथ है वो आपके रंग में रंग चुका है । उसके भीतर किसी भी प्रकार का कोई भी मैल मौजूद नहीं है। इस गुण के होने से आप भी अपने अंदर एक अलग ऊर्जा का होना पाते हैं।  मान लीजिये आप और आपका साथी जब साथ रहने लगेंगे तब हो सकता है एक ऐसा दिन भी आये जब आपका साथी थका हारा हुआ घर आये और उसका मूड बिलकुल सही न हो, तब आप खुश करना और उसके चेहरे पर मुस्कराहट लाना  एक बारी में ही कर देगा जिससे वो एकदम पहले जैसे बढ़िया हो जाएंगे।

इससे न सिर्फ उनका दिल हल्का होगा चेहरे पर मुस्कुरराहट आएगी लेकिन एक अलग स्थान बनेगा जो आपके लिए सबसे ऊपर रखेगा। आप उनके लिए अनमोल हो जाएंगे। 

यहाँ पढ़ें : अन्य सभी full form

Optimism  यानी उम्मीद या आशा करना 

किसी भी प्रकार के रिश्ते में आप अपने साथी से उम्मीद रखते हैं और ये आशा करते हैं की  आप उसके लिए एक ज़रूरी व्यक्ति हैं। लेकिन क्या हो अगर उमीदों पर खरे न उतर पाएं। हो सकता है आप दोनों के बीच का प्रेम खत्म हो जाए और ये रिश्ता महज़  रिश्ता बन कर रह जाए।

अगर ऐसा होता है तो ये आप दोनों के लिए ही सही नहीं होगा इसीलिए अपने साथी से आशा रखें लेकिन इतनी भी न रखें की उसके पूरा ना होने पर आपको दुःख पहुंचे। आपको समझना पड़ेगा की आपका साथी क्या चाहता है , क्या वो आपसे किसी चीज़ की उम्मीद करता है और क्या आप उसकी उम्मीदों पर खरे उतर रहे हैं ? अगर आपका जवाब नहीं है तो आपको अपने साथी को थोड़ा और जानने की जरूरत है। 

value  यानी महत्त्व, अहमियत 

आपकी और आपके साथी की एक दूसरे की ज़िन्दगी में बहुत एहमियत है लेकिन क्या आपको याद है की आखिरी बार आपने उनको ये कब जताया था की वो आपके लिए क्या है या वो आपकी ज़िन्दगी मे एहमियत रखते हैं ? हो सकता है आपको लगता हो की ऐसा करना महज़ एक दिखावा है लेकिन यकीं मानिये कभी कभी ऐसा करना आपके रिश्ते के लिए बहुत जरूरी होता है। कभी कभी आपके पर्सनल जेस्चर्स ये नहीं बता पाते जो आपके शब्द बता सकते हैं। इसलिए आपका बोलना यहां ज़रूरी पड़ जाता है।

अगर आप  से प्यार करते हैं तो उनको बताएं की उनका होना आपके जीवन में क्या एहमियत रखता है।  अगर आप ऐसा करते हैं तो ये आपके रिश्ते के लिए बहुत ज़रूरी होगा।   

Eternity  यानी शाश्वतता, नित्यता  

शाश्वतता या  नित्यता का होना किसी भी रिश्ते के लिए इसलिए ज़रूरी हो जाता है क्योंकि किसी भी  रिश्ते की जब भी नीव रखी जाती है तो उसका पहला उद्देश्य ये होता है की ये रिश्ता सालों तक कायम रहेगा और भविष्य में आप इस रिश्ते में रहते हुए इस रिश्ते को और मजबूत बनाएंगे। रिश्ता कोई समझौता नहीं है। 

यदि आप किसी से इश्क़ करते हैं तो उसके साथ हमेशा रहने का वादा करना आपका प्रथम उद्देश्य होना चाहिए।  सिर्फ समय बिताने की नियत से बनाया गया कोई भी रिश्ता सिर्फ एक  और ऐसे रिश्ते का कोई भविष्य नहीं होता। और जब किसी रिश्ते का कोई भविष्य नहीं है तो ऐसे रिश्ते में रहने का कोई फ़ायदा नहीं है।  अगर  आप किसी के साथ रहने का वादा करे  तो उससे आजीवन निभाना आपका प्रमुख कर्त्तव्य है। 

Reference-
17 November 2020, full form of LOVE, wikipedia

Written by Amit Singh

I am a technology enthusiast and write about everything technical. However, I am a SAN storage specialist with 15 years of experience in this field. I am also co-founder of Hindiswaraj and contribute actively on this blog.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Full Form of TBC

Full Form of TBC – टी.बी.सी.का फुल फॉर्म क्या होता है

Full Form of STFU

Full Form of STFU – एस टी एफ यू फुल फॉर्म