in

Full form of PH – पीएच का फुल फॉर्म क्या होता है?

What is the full form of PH? पीएच का फुल फॉर्म क्या होता है? पीएच का मान हाइड्रोजन की क्षमता होता है। यह हाइड्रोजन आयनो से हाइड्रॉक्साइड के अनुपात का प्रतिनिधित्व करता है। पीएच (PH) का मान पैमाने पर आमतौर पर 0 से लेकर 14 तक होता है। जब 25 डिग्री पर जल का घोल 7 पी एच (P H) मान से कम हो तो इसे अम्लीय (Acidic) माना जाता है।

जबकी 7 से अधिक पी एच (P H) मान वाले घोल को क्षारीय (Alkaline) माना जाता है। तथा 25 डिग्री सेल्सियस पर 7.0 का स्तर तटस्थ होता है। क्योंकि एचओ3+ (HO 3+) की एकाग्रता शुद्ध पानी मे ओएच– (OH -) की एकाग्रता के बराबर होता है।

What is the full form of PH? पीएच का फुल फॉर्म क्या होता है?

full form of PHPOTENTIAL OF HYDROGEN OR POWER OF HYDROGEN
full form of PH in Hindiहाइड्रोजन की क्षमता
FormulapH=-log10[H+]
discovered1909
discovererएस पी एल सोरेनसेन
PH value0,14
types of solutionsNeutral solution, Alkaline solution, Acidic solution
full form of PH

full form of PH पीएच (P H) का फुल फॉर्म होता है। पॉटेंशियल ऑफ हाइड्रोजन या पॉवर ऑफ हाइड्रोडन, इसका हिंदी मे अर्थ होता है “हाइड्रोजन की क्षमता” इसे इंग्लिश मे लिखते हैं (POTENTIAL OF HYDROGEN OR POWER OF HYDROGEN)

What is the PH value? पीएच मान क्या होता है?

पीएच वेल्यू (PH value) किसी भी विलयन के लिए एक संख्या होती है। जो उस विलयन की सांद्रता  (Concentrations) बताती है। पी एच (P H) मान के आधार पर ही उस विलयन की अम्लियता (Acidic) और क्षारीयता (Alkaline) का पता लगाया जाता है। किसी भी विलयन मे एच (H) आयनों की सांद्रता (Concentrations) का नेगेटिव लोगरिदम (Negative logerhythm) ही पीएच (PH) मान कहलाता है।

Formula to find the pH value विलयन के पीएच मान को ज्ञात करने का सूत्र

विलयन मे हाइड्रोजन आयन की सांद्रता (Concentrations) ज्ञात की जाती है।

pH=-log10[H+]

When did PH value be discovered पीएच मान की खोज कब हुई

full form of PH

पीएच (PH) मान की खोज डेनमार्क के रसायनविद एस पी एल सोरेनसेन ने की थी। यह खोज वर्ष 1909 मे की गई थी।

उन्होने यह महत्वपूर्ण खोज कार्ल्सबर्ग मे की थी। सोरेनसेन का जन्म डेनमार्क में वर्ष 1868 में हुआ था। उन्होंने हाइड्रोजन आयन की सांद्रता (Concentrations) बताने वाले मापक या स्केल (Scale) को बनाया था। पी एच (P H) स्केल पर कुल 0 से लेकर 14 मान होते हैं जबकि बिंदु 7 उदासीन होता है।

किसी भी जीव की अम्लीयता (Acidic) या क्षारीयता (Alkaline) उसकी पी एच (P H) वेल्यू (Value) से ही पता की जाती है। इसलिए पी एच (P H) मान किसी भी विलयन की अम्लीयता (Acidic) और क्षारीयता (Alkaline) का पैमाना है।

There are three types of solutions based on pH value -पीएच वैल्यू के आधार पर विलयन के तीन प्रकार होते है-

full form of PH
full form of PH

उदासीन विलयन- (Neutral solution) शुद्ध जल का पीएच (P H) मान 7 होता है। यही मान उदासीन कहलाता है क्योंकि शुद्ध जल किसी अन्य घोल से किसी भी प्रकार की प्रतिक्रिया नही करता है। शुद्ध पानी मे हाइड्रोजन (Hydrogen) आयन और हाइड्रोक्साइड (Hydroxide) आयन की मात्रा समान होती है।

क्षारीय विलयन– (Alkaline solution-) पीएच (P H) 7 से अधिक मान होने पर घोल क्षारीय प्रकृति का होता है। अगर हाइड्रोजन आयन की मात्रा विलयन मे कम होती है। तो उसकी प्रकृति क्षारीय होती है। क्षारीय पदार्थ कसैला या बेस्वाद होता है। क्षार को लिटमस पत्र पर मिलाने से पत्र का रंग नीला हो जाता है।

अम्लीय विलयन– (Acidic solution) अगर किसी भी घोल या विलयन का पीएच (P H) मान 7 से कम होता है तब वह घोल अम्लीय कहलाता है। हाइड्रोजन का आयन की सांद्रता विलयन मे बढ़ती है तो वह अम्लीय हो जाता है। जबकि हाइड्रोक्साइड आयन की मात्रा कम होती है। क्योंकि जितना पीएच (P H) मान कम होगा पदार्थ उतना ही खट्टा होता है। अम्ल नीले रंग के लिटमस को लाल रंग का करता है।

Importance of pH value पीएच मान का महत्व

1.       मिट्टी का पीएच (P H) मान ज्ञात करके मिट्टी की सांद्रता मालूम की जाती है इससे मिट्टी की उर्वरकता का पता चलता है।

2.       शरीर मे पीएच (P H) वेल्यू कम होने पर कैल्शियम की कमी हो जाती है शरीर खनिज पदार्थों का अवशोषण कम कर देता है इसी कारण हड्डियाँ भी कमज़ोर हो जाती है अत: शरीर मे पी एच (P H) मान का संतुलित रहना आवश्यक होता है।  

3.       मानव के शरीर के पी एच (P H) मान का पता यूरियन टेस्ट के माध्यम से किया जाता है पीएच वेल्यू 6 से 7 के बीच होता है अगर यूरियन का पीएच वेल्यू इससे कम या ज्यादा हो तो शरीर अम्लीय या क्षारीय हो जाता है। इससे शरीर रोगी हो जाता है।

4.       मनुष्य के शरीर मे पीएच (P H) मान का संतुलित रहना जरूरी है। क्योंकि रक्त मे ऑक्सीजन का प्रवाह होता है। रक्त मे पीएच मान 7.5 पर ऑक्सीजन का संचरन कोशिकाओं मे होता है। अगर पीएच वेल्यू इससे कम है तो ऑक्सीजन का प्रवाह कम हो जाता है। इससे कोशिकाओं मे ऑक्सीजन की कमी हो जाती है।

5.       बहुत अधिक चटपटा या मसालेदार भोजन करने पर शरीर मे अक्सर गैस और एसिडिटी की समस्या हो जाती है। इसलिए संतुलित क्षारीय फलों या भोजन का सेवन करने से शरीर स्वस्थ रहता है।

यहाँ पढ़ें : अन्य सभी full form

   Ph. Abbreviated Other Full Forms पीएच संक्षिप्त रुप के अन्य फुल फॉर्म

PH – Panty Hose (Miscellaneous Clothing)
PH – Parathyroid Hormone (Medical British Medicine)
PH – Parker Hannifin Corporation (Business NYSE Symbols)
PH – Past History (Medical Oncology)
PH – Patch for HP (Computing Software)
PH – Per Header (Computing General Computing)
PH – Parallel Haskell (Business AMEX Symbols)
PH – Perl Header file (Computing file Extensions)
PH – Permanent Hiatus (Community News and Media)
PH – Phase (Governmental NASA)
PH – Phi Hanh (Miscellaneous Unclassified)
PH – Philadelphia (Medical British Medicine)
PH – Philippines (Regional Countries)
PH – Phillips Head (Miscellaneous Unclassified)
PH – Phucking Huge (Miscellaneous Unclassified)
PH – Physically Handicapped (Miscellaneous Unclassified)
PH – Ping Hui (Miscellaneous Unclassified)
PH – Phaeochromocytoma (Medical British Medicine)
PH – Place Hold (Community News and Media)
PH – Post Hartshorne (Medical Physiology)
PH – Pale Headed (Academic and Science Universities)
PH – Plant Hygrophelia (Academic and Science Botany)
PH – Platinum Hit (Miscellaneous Unclassified)
PH – Players Handbook (Miscellaneous Unclassified)
PH – Pleckstrin Homology (Medical Laboratory)
PH – Pokemon Heart (Miscellaneous Unclassified)
PH – Political Hypocrisy (Governmental Politics)
PH – Pondus Hydrogenii (Academic and Science Chemistry)
PH – Place Holder (Miscellaneous Unclassified)
PH – Porn Hub (Internet Websites)
PH – Potassium Hydrogen (Academic and science Chemistry)
PH -Potentia Hydrogenii (International Latin)
PH – Potential Health (Medical Physiology)
PH – Potential Heat (Miscellaneous Unclassified)
PH – Potential of Hardness (Miscellaneous Unclassified)
PH – Power House (Business Products)
PH – Power of Hydrogen (Academic and Science Chemistry)
PH – Prancing Horse (Sports)
PH – Precipitation Hardening (Miscellaneous Unclassified)
PH – Presbyterian Hospital (Medical Hospitals)
PH – Previous History (Medical Prescription)
PH -Private Header (Computing Networking)
PH – Probable Helium (Academic and Science Chemistry)
PH – Process Homeostasis (Medical Human Genome)
PH – Professional Hunter (Business Occupation and Position)
PH – Project Headquarters (Governmental US Government)
PH – Proportional Hazard (Governmental Military)
PH – Psychological Hypnosis (Academic and Science Psychology)
PH – Pubic Hair (Community News and Media)
PH – Public Health (Academic and Science Chemistry)
PH – Public Holidays (Governmental US Government)
PH – Public House (Community)
PH – Public Html (Computing General Computing)
PH – Pulmonary Hypertension (Governmental Military)
PH – Punishment House (Miscellaneous Unclassified)
PH – Purple Heart (Governmental Military)

निष्कर्ष- इस लेख मे हमने आपको पीएच के संबंध मे जानकारी दी है जैसे पीएच का फुल फॉर्म क्या होता है What is the full form of PH? इसका फुल फॉर्म होता है। (POTENTIAL OF HYDROGEN OR POWER OF HYDROGEN) इसके अलावा अन्य जानकारी जैसे पीएच क्या होता है, कितने प्रकार का होता है और इसकी खोज कब और किसने की थी तथा पीएच के कुछ अन्य फुल फॉर्म भी बताए गए हैं।

इसके अलावा अगर आपको कोई सुझाव है तो आप हमे नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स मे कमेंट कर सकते हैं।

Reference-
2020, PH, wikipedia

Written by Amit Singh

I am a technology enthusiast and write about everything technical. However, I am a SAN storage specialist with 15 years of experience in this field. I am also co-founder of Hindiswaraj and contribute actively on this blog.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Full form of MSME

Full form of MSME -एम.एस.एम.ई का फुल फॉर्म क्या होता है

full form of NABARD

Full form of NABARD – In Hindi नाबार्ड का फुल फॉर्म क्या होता है?