in ,

The Biography Of Varun Gandhi – वरुण गाँधी की जीवनी

वरुण गाँधी, एक भारतीय राजनेता और पीलीभीत की सीट से पार्लियामेंट के सदस्य भी हैं। वे भारतीय जनता पार्टी के सदस्य भी हैं और 2012 में पार्टी की चुनावी कैंपेन में वो राजनाथ सिंह द्वारा गठित , टीम के जनरल सेक्रेटरी थे। वरुण गाँधी, नेहरू – गाँधी परिवार के सदस्य हैं, जिनका भारतीय पॉलिटिक्स में एक महत्वपूर्ण योगदान है। 

दादा/ Grand Fatherफ़िरोज़ गाँधी
दादी/ Grandmotherइंदिरा गाँधी
पिता/ Fatherसंजय गाँधी
माता/ Motherमेनका गाँधी
The Biography Of Varun Gandhi

Early Life and his Education – शुरुवाती ज़िन्दगी और उनकी शिक्षा

The Biography Of Varun Gandhi - वरुण गाँधी की जीवनी

वरुण गाँधी का जन्म, साल 1980 में हुआ था। वे संजय गाँधी और मेनका गाँधी के बेटे हैं। वे पूर्व प्रधानमंत्री इन्दिरा गाँधी के पोते हैं और भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल  नेहरू के परनाती हैं। साल 1980 के आम चुनाव में इन्दिरा गाँधी के सत्ता में आने के तुरंत बाद वरुण गाँधी का जन्म हुआ।

संजय गाँधी की एक विमान दुर्घटना में मृत्यु हो गई, जब साल 1980 में वरुण तीन महीने के थे।इन्दिरा की हत्या तब की गई थी, जब 31 अक्टूबर 1984 को वरुण चार साल के थे। अपनी मृत्यु से पहले संजय गाँधी ने अपने बच्चों की परवरिश ज़ोरोएट्रियन धर्म के अनुसार करने में रुचि व्यक्त की थी ।

Political Career of Varun Gandhi –  वरुण गाँधी का पोलिटिकल करियर

वरुण गाँधी को उनकी माँ ने उन्हें राजनीति से साल 1999 में जोड़ा, जब वो पीलीभीत सीट से चुनाव प्रचार कर रहे थे। मेनका गाँधी पहले से नेशनल डेमोक्रेटिक अलायन्स  ( एन. डी. ए.) का हिस्सा थीं, लेकिन वह और वरुण औपचारिक रूप से 2004 में भाजपा में शामिल हो गए ।

2009 के आम चुनाव में, भाजपा ने अपनी माँ मेनका गाँधी की जगह वरुण गाँधी को पीलीभीत निर्वाचन क्षेत्र से अपना उम्मीदवार बनाने का फैसला किया। उन्होंने वह चुनाव भारी मतों से जीता। 5 मार्च 2013 को, पीलीभीत की एक अदालत ने 2009 के लोकसभा चुनाव अभियान के दौरान उनके खिलाफ दर्ज दूसरे हेट स्पीच मामले में गाँधी को बरी कर दिया।

मार्च 2013 में, राजनाथ सिंह ने वरुण गाँधी को भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव के रूप में नियुक्त किया। वह पार्टी के अब तक के सबसे युवा महासचिव बने। मई 2013 में, वरुण गांधी को पश्चिम बंगाल में भाजपा के मामलों का प्रभारी बनाया गया था।

जून 2013 में, गाँधी ने लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार से उत्तराखंड में आपदा के मद्देनजर एक आपातकालीन सर्वदलीय बैठक बुलाने का अनुरोध किया था जिसमें हजारों लोग मारे गए थे। फरवरी 2014 में, गाँधी ने सुल्तानपुर में 2014 के चुनाव के लिए अपने अभियान की शुरुआत की। उन्होंने कादीपुर में एक उत्साही भीड़ को एक भावनात्मक भाषण दिया, और कहा कि वह अपने पिता के सपनों को पूरा करने के लिए सुल्तानपुर आए थे।

मई 2014 में, गाँधी ने लोकसभा 2014 के चुनावों में अमिता सिंह को सुल्तानपुर से हराया। मार्च 2016 में, उन्होंने लोक सभा में जनप्रतिनिधि (संशोधन) विधेयक, 2016 पेश किया। उन्होंने 2019 के आम चुनावों में पीलीभीत लोकसभा सीट से चुनाव लड़ा और लगभग 2,50,000 मतों से जीतकर लगातार तीसरी बार सांसद बने।

यहाँ पढ़ें : संजय गाँधी की जीवनी

Writings of Varun Gandhi –  वरुण गाँधी की लेखनी

The Biography Of Varun Gandhi - वरुण गाँधी की जीवनी

गाँधी ने 2000 में 20 साल की उम्र में द अदरनेस ऑफ़ सेल्फ नाम की अपनी पहली कविता लिखी थी। उनकी दूसरी कविताओं का शीर्षक, स्टिलनेस स्टिलनेस अप्रैल अप्रैल 2015 में हार्पर कॉलिंस द्वारा प्रकाशित किया गया था। यह पुस्तक बेस्टसेलिंग नॉन-फिक्शन बुक, सेलिंग बन गई। रिलीज़ होने के पहले दो दिनों में 10,000 से अधिक प्रतियां।

2018 में, उन्होंने भारतीय ग्रामीण अर्थव्यवस्था पर अपनी पुस्तक का विमोचन किया, जिसका शीर्षक द रूरल मेनिफेस्टो: रियलाइज़िंग इण्डियाज फ्यूचर ऑफ इंडिया विद विलेजेज़ है। पुस्तक ने अपनी रिलीज के दस दिनों में 30,000 से अधिक प्रतियां बेचीं।

References

Written by Utkarsh Chaturvedi

नमस्कार, मेरा नाम उत्कर्ष चतुर्वेदी है। मैं एक कहानीकार और हिंदी कंटेंट राइटर हूँ। मैं स्वतंत्र फिल्म निर्माता के रूप में भी काम कर रहा हूँ। मेरी शुरुवाती शिक्षा उत्तर प्रदेश के आगरा में हुई है और उसके बाद मैं दिल्ली आ गया। यहां से मैं अपनी पत्रकारिता की पढ़ाई कर रहा हूँ और साथ ही में कंटेंट राइटर के तौर पर काम भी कर रहा हूँ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

The Biography Of Sonia Gandhi - सोनिया गाँधी की जीवनी

The Biography Of Sonia Gandhi – सोनिया गाँधी की जीवनी

The Biography of Priyanka Gandhi - प्रियंका गाँधी की जीवनी

The Biography of Priyanka Gandhi – प्रियंका गाँधी की जीवनी