गौतम गंभीर जीवनी | Gautam Gambhir jivani in hindi | गौतम गंभीर का जीवन परिचय (Member of Loksabha)

Table Of Contents
show

गौतम गंभीर का करियर, गौतम गंभीर के कितने शतक हैं, गौतम गंभीर कहां के सांसद हैं, गौतम गंभीर धोनी, गौतम गंभीर राजनीति, गौतम गंभीर वाइफ, गौतम गंभीर विकिपीडिया, गौतम गंभीर आईपीएल


अगर जिक्र क्रिकेट के धुरंधरों का छिड़े, तो जाहिर है क्रिकेट जगत के कुछ चेहरे अपने आप ही जहन में आना शुरू हो जाते हैं। क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर से लेकर सौरव गांगुली और विरेंद्र सहवाग तक…ये कुछ ऐसे नाम हैं, जिनके जिक्र के बिना भारतीय क्रिकेट की कहानी अधूरी नजर आती है। इसी कड़ी में एक नाम मशहूर क्रिकेटर गौतम गंभीर का भी शामिल है। महज 10 साल की उम्र में क्रिकेट से नाता जुड़ने से लेकर मैदान में शानदार पारी और फिर सियासत की पिच पर एंट्री तक गंभीर का सफर हर किसी के लिए एक मिसाल है। gautam gambhir biography in hindi

यहाँ पढ़ें : मुकेश अंबानी जीवनी
यहाँ पढ़ें : फ़िरोज़ गाँधी की जीवनी

gautam gambhir biography in hindi – गौतम गंभीर जीवनी

नाम          गौतम गंभीर
जन्म तिथि    14 अक्टूबर 1981
जन्म स्थान   नई दिल्ली
माता         सीमा गंभीर
पिता          दीपक गंभीर
बहन           एकता गंभीर
पत्नी        नताशा गंभीर
व्यवसाय      क्रिकेटर, राजनीतिज्ञ
राजनीतिक पद  सासंद, पूर्वी दिल्ली
राजनीतिक पार्टीभारतीय जनता पार्टी
gautam gambhir biography

गौतम गंभीर : जीवन परिचय, Gautam Gambhir Biography, Gautam Gambhir Wife, Children, Family, Join BJP

gautam gambhir biography

यहाँ पढ़ें : हरिवंश राय बच्चन जीवनी
यहाँ पढ़ें : इन्दिरा गाँधी की जीवनी

gautam gambhir background – गौतम गंभीर का शुरूआती जीवन

गौतम गंभीर का जन्म 14 अक्टूबर 1981 gautam gambhir birthday को देश की राजधानी दिल्ली gautam gambhir birthplace में हुआ था। उनके पिता दीपक गंभीर कपड़ों के व्यापारी थे, वहीं उनकी माता सीमा गंभीर एक गृहणी थीं। गौतम गंभीर की बहन का नाम एकता गंभीर है, जो उनसे दो साल छोटी हैं।

गंभीर के जन्म के महज 18 दिन बाद ही उनके दाद-दादी ने उन्हें गोंद ले लिया था, जिसके बाद से वो हमेशा के लिए दादा-दादी के पास ही रहने लगे।

gautam gambhir education – गौतम गंभीर की शिक्षा

गौतम गंभीर ने अपनी शुरूआती पढ़ाई नई दिल्ली के मॉर्डन स्कूल से की और उन्होंने दिल्ली विश्वविद्यालय से संबंधित हिन्दू कॉलेज से अपनी स्नातक की डिग्री हासिल की।

यहाँ पढ़ें : मुंशी प्रेमचन्द्र जीवनी
यहाँ पढ़ें : राजनाथ सिंह जीवनी

gautam gambhir career – गौतम गंभीर की क्रिकेट में दिलचस्पी

गौतम गंभीर ने 90 के दशक से महज 10 साल की उम्र में ही क्रिकेट खेलना शुरू कर दिया कर दिया था। इस दौरान गंभीर दिल्ली में अपने मामा पवन गुलाटी के साथ रहते थे। गंभीर अपने मामा से बेहद प्रभावित थे और वो उन्हीं को अपना मार्गदर्शक मानते थे।

क्रिकेट की ट्रेनिंग के दौरान लाल बहादुर शास्त्री अकादमी gautam gambhir cricket academy के कोच संजय भारद्वाज और राजू टंडन ने गंभीर को क्रिकेट का प्रशिक्षण दिया, जिसके बाद साल 2000 में बेंगलोर  स्थित राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी में उनका चयन हो गया।

gautam gambhir cricketer – क्रिकेट की दुनिया में गंभीर की एंट्री

गौतम गंभीर ने साल 2008 में अपने होम ग्राउंड दिल्ली से ही क्रिकेट के मैदान में अपने करियर की ओपनिंग की थी। इस दौरान गंभीर ने रणजी ट्रॉफी के फाइनल में दिल्ली की तरफ से खेलते हुए नाबाद 130 रनों की पारी खेली और उत्तर प्रदेश को नौ विकेटों से मात दे दी।

दरअसल इसी समय ऑस्ट्रेलिया में होने वाले वन डे मैच के लिए महज दो दिन बाद भारतीय क्रिकेट टीम का सेलेक्शन होने वाला था और दूसरी तरफ रणजी में शानदार रिकॉर्ड बनाने के चलते गंभीर भी जमकर सूर्खियां बटोर रहे थे।

gautam gambhir ipl – इंडियन प्रिमियर लीग में गंभीर

gautam gambhir biography
gautam gambhir biography

gautam gambhir delhi daredevils – दिल्ली डेयरडेविल्स

इसी साल 2008 में गंभीर IPL की दिल्ली डेयरडेविल्स फ्रेंचाइजी का हिस्सा बने। इस लीग में गंभीर 725,000 डॉलर के साथ दूसरे सबसे मंहगे gautam gambhir salary खिलाड़ी थे। इसके साथ IPL के इस सीजन में गंभीर ने कुल 14 मैंचों में 534 रनों की दमदार पारी खेली।

गंभीर की दिन-ब-दिन निखरती परफॉर्मेंस के चलते उन्होंने बेहद कम समय में न सिर्फ क्रिकेट की दुनिया में बल्कि क्रिकेट के दीवानों के दिल में भी अपनी खास जगह बना ली थी। इसी कड़ी में 2010 में होने वाले IPL में गंभीर को टीम का कप्तान चुनते हुए दिल्ली डेयरडेविल्स की कमान सौंप दी गई। इस टूर्नामेंट में गंभीर 1000 रनों की शानदार पारी खेलने वाले अकेले खिलाड़ी बने थे।

यहाँ पढ़ें : मदर टेरेसा जीवनी
यहाँ पढ़ें : महादेवी वर्मा जीवनी

gautam gambhir kolkata night riders (kkr) – कोलकाता नाइट राइडर्स

2011  के IPL में कोलकाता नाइट राइडर्स ने 2.4 मिलियन डॉलर्स की बोली लगाकर गंभीर को अपनी टीम में शामिल कर लिया। इस दौरान बतौर कप्तान गंभीर की अगुवाई में KKR न सिर्फ प्ले ऑफ तक पहुंचने में कामयाब रही बल्कि पहली बार टीम चैंपियंस लीग का हिस्सा भी बनी।

वहीं 2012 के IPL में KKR ने लीग की दमदार टीम चेन्नई सुपरकिंग्स को उसी के होम ग्राउंड में ही मात देकर इतिहास रचने में कामयाब रचते हुए IPL की पहली ट्रॉफी अपने नाम कर ली थी। इस लीग में गंभीर ने छह से भी ज्यादा अर्धशतक जड़ते हुए 2000 से भी ज्यादा रन बनाए थे।

इसके बाद 2014 में गंभीर की कप्तानी में KKR ने एक बार फिर IPL की ट्राफी जीत ली। वहीं गंभीर 2016 और 2017 में टीम को प्ले ऑफ तक ले जाने में भी कामयाब रहे।

gautam gambhir last ipl team – दिल्ली डेयरडेविल्स में वापसी

हालांकि 2018 में दिल्ली डेयरडेविल्स ने एक बार फिर 2.8 करोड़ के साथ गंभीर को अपनी टीम के लिए चुन लिया। दरअसल यह गंभीर के क्रिकेट करियर का आखिरी दौर चल रहा था। ऐसे में गंभीर अपने करियर को वहीं से गुडबॉय कहने की ख्वाहिश रखते थे, जहां से उन्होंने अपने करियर की शुरूआतर की थी। gautam gambhir ipl match

हालांकि टीम के खराब प्रदर्शन के चलते गंभीर ने कप्तानी छोड़ने का फैसला करते हुए युवा खिलाड़ी श्रेयस अइय्यर को टीम का अगला कप्तान नियुक्त कर दिया।

gautam gambhir golden form – अतंर्राष्ट्रीय क्रिकट में गौतम गंभीर

2002 में जिमबाम्बे के खिलाफ दोहरा अर्धशतक मार कर गंभीर मैच की ओपनिंग के लिए भी प्रबल दावेदार बन गए। लिहाजा 2003 में बांगलादेश के साथ होने वाले वन डे मैच में उन्होंने 71 रन बनाकर मैन ऑफ द मैच का खिताब अपने नाम कर लिया। जिसके बाद 2004 में गंभीर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ धमाकेदार पारी खेल कर गवास्कर ट्राफी के भी विनर बन गए। वहीं 2005 में गंभीर श्रीलंका के खिलाफ 97 बॉल पर नाबाद 103 रन बटोरने भी कामयाब रहे।

जहां एक तरफ गंभीर ने 2005 से 2007 के बीच अनगिनत वन डे मैंचों में कई शानदार रिकॉर्ड बनाए, वहीं 2007 के विश्व कप में उनका नाम क्रिकेट के दिग्गज खिलाड़ियों मसलन सौरव गांगुली, विरेन्द्र सहवाग और सचिन तेदुलंकर के साथ फेहरिस्त में शामिल किया गया।

यहाँ पढ़ें : ज्योतिरादित्य सिंधिया जीवनी
यहाँ पढ़ें : निर्मला सीतारमण की जीवनी

gautam gambhir best score – गोल्डन फॉर्म में गौतम गंभीर

साल 2008 में कंधे में चोट लगने के चलते गौतम गंभीर को आगामी टेस्ट मैचों से बाहर रहना पड़ा, लेकिन इस छोटे से ब्रेक के बाद गंभीर ने एक बार फिर क्रिकेट के मैदान में धमाकेदार एंट्री करते हुए श्रीलंका के खिलाफ हो रहे मैच में 102 रनों का स्कोर बना कर सबको चौंका दिया।

इस मैच के ठीक तीन हफ्ते के बाद भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया से टक्कर लेने के लिए सिडनी रवाना हो गई और गंभीर ने एक बार फिर शतक का रिकॉर्ड कायम रखते हुए 119 बॉल पर 113 रनों की नाबाद पारी खेली। हालांकि गंभीर का शतक इस मैच में जान डालने में नाकामयाब रहा और भारतीय टीम को 18 रनों के साथ हार का सामना करना पड़ा।

इसी कड़ी में गंभीर ने देश के बाहर अपने करियर का पहला बड़ा टेस्ट मैच 2009 न्यूजीलैंड के खिलाफ खेला था, जिसमें उन्होंने 137 रनों की दमदार पारी खेली। वहीं इस सीरीज के पांच मैंचों में उन्होंने कुल 430 रनों का रिकॉर्ड कायम किया।

क्रिकेट की पिच पर बतौर बल्लेबाज अनगिनत शतक और अर्धशतक जड़ने वाले गंभीर को 2009 में ICC टेस्ट प्लेयर ऑफ द वर्ल्ड चुनते हुए उन्हें नम्बर वन बल्लेबाज के खिताब से नवाजा गया।

gautam gambhir captaincy – कप्तान गौतम गंभीर

भारतीय टीम ने 2010 में न्यूजीलैंड के साथ खेले जा रहे वन डे मैच की कमान गौतम गंभीर को सौंपने का फैसलै किया, जिसके बाद गंभीर ने न सिर्फ बतौर कप्तान भारतीय क्रिकेट टीम का नेतृत्व किया बल्कि धुआंधार छक्के –चौके जड़ते हुए 126 रनों का बेहतरीन स्कोर भी हासिल किया। इस मैच में भारत ने 5-0 से न्यूजीलैंड पर जीत हासिल की और साथ ही गंभीर के शानदार प्रदर्शन के चलते उन्हें मैन ऑफ द सीरीज भी चुना गया।

gautam gambhir world cup 2011 – विश्व कप 2011 में गौतम गंभीर

gautam gambhir biography
gautam gambhir biography

साल 2011 में विश्व कप का आगाज हुआ। जहां भारतीय टीम की कप्तानी महेंद्र सिंह धोनी के हाथ में थी, वहीं गौतम गंभीर एक बार फिर टीम के ओपनिंग बल्लेबाज थे। इस पूरी सीरीज में कैप्टन कूल के नेतृत्व और टीम के शानदार प्रदर्शन के चलते भारत फाइनल का हिस्सा बना।

जाहिर है ऐसे में समूची दुनिया की नजर भारत पर ही टिकी थी और लोगों की उम्मीदों पर खरा उतरने का दारोमदार था भारतीय टीम पर। इसी कड़ी में गौतम गंभीर ने विरेन्द्र सहवाग के साथ मिलकर मैच की ओपनिंग की। हालांकि सहवाग पहले की ओवर में पवेलियन लौट गए लेकिन गंभीर अंत तक डटे रहे। पहले उन्होंने विराट कोहली gautam gambhir and virat kohli के साथ जमकर रन बटोरें और आखिरकार 109 रनों के शानदार परफार्मेंस करते हुए कैप्टन कूल gautam gambhir and ms dhoni के साथ मैच विनिंग पार्टनरशिप खेली।

यहाँ पढ़ें : biography in hindi of Great personalities
यहाँ पढ़ें : भारत के महान व्यक्तियों की जीवनी हिंदी में

gautam gambhir centuries – ब्रेक के बाद गौतम गंभीर

लगभग एक दशक तक क्रिकेट के मैदान में एक एतिहासिक रिकॉर्ड बनाने वाले गौतम गंभीर ने कुछ समय के लिए क्रिकेट से ब्रेक लेने का फैसला किया। हालांकि कुछ ही समय में क्रिकेट प्रेमियों का इंतजार खत्म हुआ और 8 अक्टूबर 2016 को गंभीर ने अतंर्राष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी करते हुए न्यूजीलैंड के खिलाफ एक बार फिर धमाकेदार पारी का आगाज किया।

gautam gambhir retirement – गौतम गंभीर ने लिया सन्यास

क्रिकेट की दुनिया में अपनी एक खास पहचान छोड़ने वाले गौतम गंभीर ने 3 दिसम्बर 2018 को सभी तरह के क्रिकेट से सन्यास लेने का एलान कर दिया। क्रिकेट को अलविदा कहने के बाद गंभीर ने सियासत की पिच पर एंट्री करते हुए एक नयी पारी का आगाज किया।

क्रिकेट के पन्नों पर अपनी अनोखी छाप छोड़ने के चलते 16 मार्च 2019 के दिन राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने गौतम गंभीर को पद्म श्री खिताब से नवाजा। gautam gambhir awards

यहाँ पढ़ें : उद्धव बाल ठाकरे की जीवनी
यहाँ पढ़ें : कबीर दास जीवनी

gautam gambhir cricket career – गौतम गंभीर का क्रिकेट करियर

CompetitionTestODIT20
Matches5814737
Runs scored4,1545,238932
Batting Average41.9539.6827.41
100s/50s22-SepNov-340/7
Top score20615075
Balls bowled126
Wickets00
Catches / stumpings38 /-36 /-11/-
gautam gambhir cricket career

gautam gambhir political career – राजनीति में गौतम गंभीर की एंट्री

2019 में लोकसभा चुनावों के आगाज के साथ ही गौतम गंभीर ने 22 मार्च 2019 को केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली और रवि शंकर प्रसाद की उपस्थिति में भारतीय जनता पार्टी gautam gambhir bjp का हाथ थामा। आगामी आम चुनावों में गंभीर ने पर्वी दिल्ली को अपना संसदीय क्षेत्र चुना। gautam gambhir constituency

आखिरकार चुनावों के नतीजों के साथ ही क्रिकेट के इस बाजीगर ने सियासी पिच पर भी बाजी मारते हुए 695,109 मतों के साथ जीत का परचम लहराया। gautam gambhir elections

gautam gambhir foundation – गौतम गंभीर फाउंडेशन

2017 में गौतम गंभीर ने एक सामूहिक रसोई की नींव रखी, जिसका उद्देशय भूखों को खाना मुहैया कराना था। दिल्ली के पटेल नगर में शुरू किए गया यह फाउंडेशन शहर में किसी के भूखा पेट न सोने की निगरानी रखता है।  gautam gambhir free food

खाने के साथ-साथ गंभीर का फाउंडेशन बच्चों की शैक्षिक जरूरतों का पूरा ध्यान रखता है। इसके अलावा बच्चों में सम्पूर्ण पोषण, स्वास्थय, सफाई तथा दिल्ली में पौधारोपण जैसी कई मुहीम एक फाउंडेशन का हिस्सा है।

gautam gambhir family – गौतम गंभीर का निजी जीवन

 गौतम गंभीर ने अक्टूबर 2011 में नताशा जैन के साथ सात फेरे लिए। नताशा gautam gambhir wife दिल्ली के एक रईस व्यापारी वर्ग से ताल्लुक रखती हैं। गौतम गंभीर और नताशा की दो बेटियां – आजीन गंभीर और अनाजिया गंभीर हैं। gautam gambhir daughters

यहाँ पढ़ें: महान व्यक्तियों की जीवनी

Harivansh rai bachchan Biography in HindiRajnath Singh biography in hindi
munshi premchand Biography in Hindinirmala sitharaman biography in hindi
mahadevi verma Biography in Hindijyotiraditya scindia biography in hindi
mother teresa Biography in HindiUddhav Thackeray Biography in Hindi
kabirdas biography in hindiArvind Kejriwal Biography in Hindi
Amitabh Bachchan Biography in Hindiamit shah biography in hindi
Indira Gandhi biography in hindiVarun Gandhi biography in hindi
Feroze Gandhi biography in hindiSonia Gandhi biography in hindi
Mukesh Ambani Biography in HindiSanjay Gandhi biography in hindi
Kanhayia kumar Biography in HindiRajiv Gandhi biography in hindi
dushyant chautala Biography in HindiRahul Gandhi biography in hindi
Divya spandana Biography in HindiPriyanka Gandhi biography in hindi
Nupur Sharma Biography in HindiMotilal Nehru biography in hindi
Ashok dinda Biography in HindiManeka Gandhi biography in hindi
tejasvi surya Biography in HindiJawaharlal Nehru biography in hindi
Poonam Mahajan Biography in HindiManoj Tiwari Biography in Hindi
Nusrat Jahan Biography in HindiHardik Patel Biography in Hindi
Mimi Chakraborty Biography in HindiGautam Gambhir Biography in Hindi

Reference-
14 April 2021, Gautam Gambhir Biography, wikipedia

I am enthusiastic and determinant. I had Completed my schooling from Lucknow itself and done graduation or diploma in mass communication from AAFT university at Noida. A Journalist by profession and passionate about writing. Hindi content Writer and Blogger like to write on Politics, Travel, Entertainment, Historical events and cultural niche. Also have interest in Soft story writing.

Leave a Comment