in ,

The Biography Of Maneka Gandhi – मेनका गाँधी की जीवनी

मेनका गाँधी (The Biography Of Maneka Gandhi) या मेनका संजय गाँधी, एक भारतीय राजनैतिक, एनिमल राइट्स एक्टिविस्ट, पर्यावरण कार्यकर्ता हैं। वे भारतीय जनता पार्टी की लोक सभा सदस्य भी हैं। वे संजय गाँधी की पत्नी भी हैं। उन्होंने कई मुद्दों पर किताबें लिखीं हैं। कुछ मुद्दे है जैसे की : एटीमोलोजी, लॉ और एनिमल वेलफेयर। 

पिता/ Fatherतरलोचन सिंह आनंद
ससुर/ Father in lawफ़िरोज़ गाँधी
सास/ Mother in lawइंदिरा गाँधी
पति/ Husbandसंजय गाँधी
बेटा/ Sonवरुण गाँधी

Early life and her Career –  शुरुवाती ज़िन्दगी और उनका करियर

मेनका गाँधी

मेनका गाँधी और इंदिरा गाँधी के बीच दरारें, ठीक संजय गाँधी की मृत्यु के तुरंत बाद आना शुरू हो गयी थी। कुछ समय बाद उन्हें सफदरजंग के उस प्रधान मंत्री आवास से निकाल दिया गया। उसके बाद उन्होंने अकबर आनंद के साथ मिल कर ” राष्ट्रीय संजय मंच “ की स्थापना की। पार्टी का पहला उद्देश्य युवा सशक्तिकरण और रोज़गार था। इस पार्टी ने आंध्रा प्रदेश में 5 में से 4 सीटें जीतीं।

मेनका गाँधी ने साल 1984 का आम चुनाव, अमेठी की सीट से लड़ा लेकिन वो चुनाव हार गयीं। साल 1988 में, उन्होंने वी. पी. सिंह की जनता दाल पार्टी ज्वाइन की और वो इस अपार्टय की जनरल सेक्रेटरी बन गयीं। साल 1989 में, मेनका गाँधी ने अपना पहला चुनाव जीता और वो पर्यावरण मंत्री बनीं।  

यहाँ पढ़ें : संजय गाँधी की जीवनी

Maneka Gandhi and her activism – मेनका गाँधी और उनकी सक्रियता

मेनका गाँधी

 मेनका गाँधी, पर्यावरण एक्टिविस्ट हैं और जानवरों के हितों में काम करने वाली महिला हैं। उन्होंने कई पुरस्कार भी जीते हैं और उन्हें साल 1995 में  पशुओं पर नियंत्रण और पर्यवेक्षण के उद्देश्य के लिए बनीं समिति (CPCSEA) की चेयर वुमन बनीं। मेनका गाँधी ने एक पी. आई. एल. फाइल की जिस से आवारा कुत्तों को मारने के बजाये उनकी नसबंदी करने का, मूविंग ज़ू और एयर गन की बिक्री पर रोक लगा दी गयी।

मेनका गाँधी ने साल 1992 में ” पीपल फॉर एनिमल्स “ की स्थापना की और ये भारत की सबसे बड़ी जानवरों के अधिकारों के लिए बनी आर्गेनाईजेशन है।

यहाँ पढ़ें : वरुण गाँधी की जीवनी

Personal life of Maneka Gandhi and her Education – मेनका गाँधी की निजी ज़िन्दगी और उनकी शिक्षा

मेनका आनंद का जन्म 1956 में दिल्ली में एक सिख परिवार में हुआ था। उनके पिता भारतीय सेना के अधिकारी लेफ्टिनेंट कर्नल तरलोचन सिंह आनंद थे और उनकी माँ अम्तेश्वर आनंद थीं। वह लॉरेंस स्कूल और बाद में लेडी श्री राम कॉलेज फॉर विमेन चली गईं। बाद में उन्होंने जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में जर्मन का अध्ययन किया।

मेनका पहली बार संजय गांधी से 1973 में अपने चाचा मेजर-जनरल कपूर द्वारा दी गई कॉकटेल पार्टी में उनसे मिलीं। मेनका ने संजय गांधी ,प्रधान मंत्री इंदिरा गांधी के बेटे , से एक साल बाद 23 सितंबर 1974 को शादी की ।

1975-77 के आपातकाल ने संजय के राजनीति में उदय को देखा और मेनका को उनके दौरों में लगभग हर बार उनके साथ देखा गया क्योंकि उन्होंने अभियानों में उनकी मदद की। यह अक्सर कहा जाता है कि आपातकाल के दौरान, संजय का अपनी माँ (इंदिरा) पर पूरा नियंत्रण था और यह कि सरकार PMO (प्रधान मंत्री कार्यालय) के बजाय PMH (प्रधान मंत्री सदन) द्वारा संचालित थी।

1980 में मेनका गांधी ने एक बेटे, फिरोज को जन्म दिया, जिसका नाम उनके दादा के नाम पर रखा गया। उसकी सास इंदिरा गाँधी ने वरुण नाम उनके नाम के साथ जोड़ा।  मेनका गांधी सिर्फ तेईस साल की  थीं , और उनका बेटा सिर्फ 100 दिन का था, जब उनके पति की विमान दुर्घटना में मृत्यु हो गई थी।

यहाँ पढ़ें : इन्दिरा गाँधी की जीवनी

Some Awards Won By Maneka Gandhi – मेनका गाँधी द्वारा जीते गए कुछ पुरस्कार

1.Shining World Compassion Award along with a cheque for 20,000 dollars from Supreme Master Ching Hai International Association.
2.Lord Erskine Award from the RSPCA, 1992
3.Environmentalist and Vegetarian of the year 1994
4.Prani Mitra Award, 1996
5.Maharana Mewar Foundation Award, 1996 for Environmental work
6.Marchig Animal Welfare and selling Prize, Switzerland, 1997
7.Venu Menon Animal Allies Foundation Lifetime Achievement Award, 1999
8.Bhagwan Mahaveer Foundation Award for Excellence in the sphere of Truth, Non-violence and Vegetarianism, 1999
9.Dewaliben Charitable Trust Award, 1999
10.International Women’s Association Woman of the Year Award, Chennai, 2001
11.Dinanath Mangeshkar Aadishakti Puraskar in the field of Environment and animal welfare, 2001
12.Rukmini Devi Arundale Animal Welfare Award
13.A.S.G. Jayakar award, 2008
14.Human Achiever Award in field of Women Empowerment and Children Welfare by Mrs Caroline W/O Ambassador Of Namibia and Ms Sanorita Issac, founder & Chairperson, Human Achiever Foundation, India.

References

Written by Utkarsh Chaturvedi

नमस्कार, मेरा नाम उत्कर्ष चतुर्वेदी है। मैं एक कहानीकार और हिंदी कंटेंट राइटर हूँ। मैं स्वतंत्र फिल्म निर्माता के रूप में भी काम कर रहा हूँ। मेरी शुरुवाती शिक्षा उत्तर प्रदेश के आगरा में हुई है और उसके बाद मैं दिल्ली आ गया। यहां से मैं अपनी पत्रकारिता की पढ़ाई कर रहा हूँ और साथ ही में कंटेंट राइटर के तौर पर काम भी कर रहा हूँ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

The Biography of Feroze Gandhi

The Biography of Feroze Gandhi – फ़िरोज़ गाँधी की जीवनी