tadasana ke fayde | ताड़ासना के फायदे | tadasana benefits | ताड़ासना करने की सही विधि और सावधानियां

ताड़ासन, जिसे माउंटेन पोज़ भी कहते हैं। माउंटेन पोज़ आपको अपने अंदर एक पहाड़ की ताकत और स्थिरता खोजने में मदद करता है और आपको उन गुणों को मूर्त रूप देने में मदद करता है।

ताड़ासन को सामस्थी (Samasthiti) के रूप मे भी संदर्भित किया जाता है अष्टांग योग वंश में इस मुद्रा का यह सामान्य नाम है । जबकि ताड़ासन आपके पैरों के साथ, या एक साथ किया जा सकता है, सामस्थी पारंपरिक रूप से पैरों के साथ एक साथ की जाती है।

यहाँ पढ़ें : What is Tadasana – ताड़ासन क्या है
यहाँ पढ़ें : अष्टांग योग या राजयोग क्या है

ताड़ासन करने के फायदे और करने का तरीका || पूज्य योग ऋषि स्वामी रामदेव जी || YOGA || MUST WATCH

यहाँ पढ़ें : सुखासन करने के फायदें, विधि, लाभ और सावधानियाँ
यहाँ पढ़ें : सुखासन करने केे तरीके, लाभ, सावधानियाँ

tadasana ke fayde | ताड़ासना के फायदे | ताड़ासन करने से सबसे ज्यादा क्या फायदा होता है? | What is the benefit of mountain pose?

ताड़ासन के मुख्य शारीरिक लाभों में शामिल हैं

  1. पीठ की दर्द से राहत 

भागदौड़ भरी ज़िंदगी मे पीठ दर्द होना एक आम बात है, लेकिन इससे बाहर निकला ज़रुरी है इसलिए अगर आपको पीठ के दर्द की शिकायत रहती है तो यह आसन आपके लिए बहुत लाभकारी है। इसका सही तरह से अभ्यास करने से पीठ के दर्द की समस्या को कम करने में मदद मिल सकती है।

  1. घुटनों के दर्द से राहत मिलती है
tadasana ke fayde
tadasana ke fayde

इस आसन के नियमित अभ्यास करने से आपको घुटने के दर्द से राहत मिलती हैं लेकिन ध्यान रहे इसके लिए आपको अपने तलवो को जमीन पर रख कर अभ्यास करना है और पैर की अंगुलियों पर खड़े नहीं होना है।

  1. लंबाई बढ़ाने में मदद करता है

जीन लोगों की लंबाई कम बढ़ती है उनके लिए यह आसन बहुत फ़ायदेमंद है, अगर आप जल्दी ही इस आसन का अभ्यास शुरू कर देते हैं तो यह आपको लंबाई बढ़ाने में मदद कर सकता है। अगर आपके लिए अब बहुत देर हो चुकी है, तो आप अपने बच्चों को ताड़ासन का अभ्यास शुरू करने के लिए कह सकते हैं।

यहाँ पढ़ें : सुखासन क्या हैं
यहाँ पढ़ें : बालासन योग क्या है? तरीका और इसके फायदे

  1. संतुलन बनाने में मदद करता है

ताड़ासन शरीर के संतुलन को बनाए रखने में मदद करता है क्योंकि इसमें आपको अपने पैरों की उंगलियों पर खड़े होकर शरीर को बैलेंस करना होता है। इसके अभ्यास से लचीलापन भी बढ़ता है।

  1. कब्ज में लाभकारी होता है

ताड़ासन कब्ज दूर के लिए बहुत उपयोगी आसन है इसलिए जिन लोगों को कब्ज की शिकायत रहती है। उन्हें ताड़ासन जरूर करना चाहिए। इससे पाचन तंत्र मजबूत होता है और कब्ज की समस्या दूर होती है। इसके अतिरिक्त ताड़ासन सियाटिका की समस्या को भी दूर करने में सहायक है। 

  1. पोस्चर में सुधार होता है
tadasana ke fayde

ताड़ासन का अभ्यास आपकी रीढ़ के पोस्चर को सुधारता है। यदि आप अधिक देर तक बैठे रहते या लेटे रहते हैं तो इससे पोस्चर खराब हो सकता है। इसलिए यह आसन आपको हर रोज करना चाहिए जब आप इस आसन का अभ्यास नियमित रूप से करेगे, तो आप ध्यान देंगे कि पहले से स्थिर रूप से खड़े होने लगे हैं और आपकी मुद्रा में सुधार हुआ है।

  1. मानसिक जागरूकता बढ़ती है

यह सिद्ध हो चुका है कि योग से ध्यान भी बड़ता है। यह आसन आपको अपनी चेतना से जुड़ने में मदद करता है और मानसिक जागरूकता बढ़ाता है। यह एकाग्रता में सुधार करने के लिए प्रभावी है।साथ ही आप इसके अभ्यास से अधिक सतर्क, शांत और रचनाशील महसूस करेंगे। 

यहाँ पढ़ें : फिट रहने के लिए योगा
यहाँ पढ़ें : योग की शुरुआत के लिए सरल आसन

  1. ताड़ासन वजन कम करने के लिए

ताड़ासन  को सही तरह से अभ्यास किया जाए तो बहुत हद तक पेट की चर्बी को कम करने में मदद मिल सकती है। पेट की चर्बी ही नहीं यह पुरे शरीर के अतरिक्त वसा को कम करने में बहुत बड़ी भूमिका निभा सकता है। इस आसन को सही तरीके से करने से पुरे बॉडी में खिंचाव आता है और आपके शरीर को एक सुडौल दिशा में ले जाता है।

ताड़ासन के अन्य फायदे | ताड़ासन के क्या क्या लाभ है? | What is the procedure and benefits of tadasana?

  • पैरों को मजबूत करता है ।
  • कंधे के जोड़ों में स्थिरता बनाने में मदद करता है ।
  • पेट और कूल्हों को टोन करता है ।
  • पीछे की श्रृंखला (पीठ की मांसपेशियों, बट, हैमस्ट्रिंग) को मजबूत करता है।
  • संतुलन में सुधार करने में मदद करता है ।
  • सही मुद्रा में मदद करता है ।
  • कटिस्नायुशूल असुविधा को दूर करने में मदद कर सकता है ।
  • ये आसन शरीर में महसूस होने वाले भारीपन को दूर करता है। साथ ही ये शरीर को फिट रखने में भी फायदेमंद है।
  • ये ऑर्गन्स के साथ दूसरे बॉडी पार्ट्स की भी मसाज कर उन्हें बेहतर तरीके से काम करने में मदद करता है

यहाँ पढ़ें : थायराइड के लिए योगासन
यहाँ पढ़ें : शुगर के लिए योगासन, योग से करें इसका निवारण

How to do Tadasana / Mountain Pose (tadasana steps) ताड़ासन की विधि बताइए | ताड़ासन की विधि लिखिए?

tadasana ke fayde
tadasana ke fayde
  • सीधे खड़े हो जाए और पैरों के बीच कुछ दूरी रखें। अपने पैरों के कूल्हे की दूरी के साथ खड़े रहें। 
  • अपने पैरों को एक दूसरे के समानांतर बनाएं यह आपके पैर की उंगलियों के साथ सीधे आगे की ओर इशारा करता है
  • अब गहरी सांस लेते हुए अपनी दोनों बाजुओं को सिर के ऊपर उठाएं और अपनी उंगलियों को आपस में बांध लें।
  • अपनी एड़ी उठाते हुए अपने पैर की उंगलियों पर खड़े हो जाएं।
  • अपने पैर की उंगलियों को फैलाएं और अपने पैरों के चारों कोनों के माध्यम से समान रूप से नीचे धकेलें ।
  • अपने पैरों को सीधा करें और लंबा खड़े हो जाओ ।
  • अपने घुटनों के ऊपर की मांसपेशियों के माध्यम से खींचो ताकि आपके क्वाड संलग्न हों ।
  • ताड़ासन आपकी हथेलियों के साथ आगे की ओर, या आपकी तरफ से किया जा सकता है। आप अपनी उंगलियों को भी फैला सकते हैं या अपनी उंगलियों को एक साथ रख सकते हैं।
  • अपनी छाती को खोलने के लिए अपने कंधों को थोड़ा पीछे ले जाएं । अपने कंधों को अपनी पीठ के नीचे खींचें।
  • अपनी रीढ़ के माध्यम से लंबा खिंचाव, अपनी गर्दन को लंबा करें, लेकिन अपने टकटकी को आगे रखें और अपनी ठोड़ी जमीन के समानांतर रखें ।
  • यह ताड़ासन, या पर्वत मुद्रा है। कल्पना कीजिए कि आपके पास एक पहाड़ की ताकत और स्थिरता है।
  • 10 सेकेंड के लिए इस स्थिति में रहें और सांस लेते रहें।
  • अब सांस छोड़ते हुए अपनी शुरुआती अवस्था में आ जाएं।
  • इस आसन को 10 बार दोहराएं।

यहाँ पढ़ें : अच्छी और बेहतर नींद के लिए योग
यहाँ पढ़ें : योग क्या है? योग के लाभ, नियम और प्रकार

Precautions & Contraindications – सावधानियां (ताड़ासन के नुकसान)

याद रखें कि योग सभी के लिए है, जबकि सभी पोज़ सभी लोगों के लिए नहीं हैं!

  • यदि आपको सर चकराने की परेशानी तो यह मुद्रा चुनौतीपूर्ण हो सकती है । अपने पैरों के साथ ताड़ासन का अभ्यास करें जितना कि आपको संतुलन खोजने की आवश्यकता है।
  • यदि आप आसानी से अपने घुटनों को बढ़ा लेते हैं, तो अपने हैमस्ट्रिंग को जोड़ने के लिए अतिरिक्त देखभाल की जानी चाहिए ताकि आप अपने घुटनों की रक्षा कर सकें।
  • यदि आपको निम्न रक्तचाप है, तो यह मुद्रा आपको हल्का परेशान कर सकती है।
  • यदि आपको सिरदर्द या माइग्रेन है, तो ताड़ासन इसे बदतर बना सकता है ।
  • यदि आप गर्भवती हैं, तो इस आसन के लिए अपने चिकित्सक से परामर्श लें।

ताड़ासन क्या है

ताड़ासन योग एक बहुत ही सरल तथा फ़ायदेमंद आसन है। यह पूरी शरीर को लचीला बनाता है और आपको सख्त होने से रोकता है। ताड़ासन न केवल आपकी मांसपेशियों बल्कि सूक्ष्म मांसपेशियों को भी बहुत हद तक लचीलापन बनाता है। और इस तरह से शरीर को हल्का तथा विश्राम एवं जोड़ों को ढीला करने में बहुत  फ़ायदेमंद होता है। इसके साथ – साथ यह आपके शरीर को सुडौल एवं खूबसूरती प्रदान करता है। शरीर में जहाँ तहाँ जो अतरिक्त चर्बी जमी हुई है उसको पिघलता है और आपके पर्सनालिटी में नई निखार ले कर आता है। 

यहाँ पढ़ें : आँखों की रोशनी बढ़ाने के लिए योगा
यहाँ पढ़ें : बच्चों के विकास के लिए योगा

ताड़ासन कब करना चाहिए (ताड़ासन कब किया जाता है?)

ताड़ासन सुबह उठकर करना सबसे बेहतर रहता है। ये आपकी बॉडी को बहुत अच्छी तरह स्ट्रेच करता है। इसके साथ-साथ खाना खाने के तुरंत बाद करने के अलावा ये आसन दिन में किसी भी समय किया जा सकता है। 

तिर्यक ताड़ासन के लाभ

tadasana ke fayde
tadasana ke fayde
  •  तिर्यक ताड़ासन से बच्चों की शारीरिक वृद्धि या लंबाई बढ़ती है।
  •  तिर्यक ताड़ासन से एकाग्रता बढ़ता है।
  • तिर्यक ताड़ासन के निरंतर अभ्यास से शरीर संतुलित बनाता है
  •  तिर्यक ताड़ासन पाचन क्रिया में लाभ पहुंचाता है।
  •  इस आसन से कमर तथा पेट की चर्बी को कम किया जा सकता है।
  •  फेफड़ों और हृदय के लिए लाभकारी होता है।
  •  इसके नियमित अभ्यास से मोटापे को रोका जा सकता है।

वृक्षासन के फायदे क्या है?

  • लंबाई बढ़ाने में है सहायक
  • तनाव में भी है कारगर
  • पैरों को मजबूत बनाता है

ताड़ासन कितने मिनट तक करना चाहिए?

ताड़ासन का अभ्यास रोज़ाना लगभग 15 से 20 मिनट तक करना चाहिए। अगर आप इतना समय नही कर सकते तो शुरुआत में आप कम समय के लिए भी कर सकते हैं, ताड़ासन के हर पो़ को आप 2 से 3 मिनट तक कर सकते हैं।

ताड़ासन का दूसरा नाम क्या है?

ताड़ासन को अन्य नाम से भी जाना जाता है जैसे माउंटेन पोज़, पर्वतआसन, पाम ट्री योग, स्वर्गीय योग आदी।

Can tadasana increase height?

जी हाँ, ताड़ासन को बढ़ते बच्चों में ऊंचाई बढ़ाने के लिए सबसे अच्छे योग में से एक माना जाता है। ताड़ासन रीढ़ की सही स्ट्रेचिंग के लिए एक बहुत ही फायदेमंद योग है और मुद्रा को सही करने में भी मदद करता है । रीढ़ को सीधा करने की ये सभी प्रक्रियाएं ऊंचाई के लिए अच्छे परिणाम दिखाती हैं ।

reference
23 June 2021, tadasana ke fayde, wikipedia

Leave a Comment