in ,

CuteCute OMGOMG

पैरों की उंगलियों मे फंगल इंफेक्शन के घरेलू उपाय, लक्षण, कारण

fungal infection – पैरो की उंगलियों मे होने वाला फंगल एक कवक संक्रमण होता है यह आमतौर पर उन लोगों मेहोता है जिन के पैर अधिकतर तंग जूतों के भीतर रहते हैं इससे पैरों मे अधिक पसीना आता है जिसके कारण पैरों पर दाने या फफोले हो जाते हैं जिन्हे पैरों का फंगस भी कहा जाता है। इस संक्रमण के कारण पैरों पर खुजली, दर्द और जलन भी हो सकती है। यह गंदे फर्श तौलीय या कपड़ों के माध्यम से फैल सकता है।

फंगल इंफेक्शन के प्रकार – fungal infection

फंगल इंफेक्शन के कई प्रकार हो सकते हैं जैसे – एथलीट फुट, दाद, कैंडिडि आसिस, जॉक खुजली, नाखून में फंगस, स्कैल्प दाद, टीनेया वेर्सिकलर आदि। लेकिन आज हम आपको पैरों की उंगलियों मे होने वाले फंगस के बारे मे बता रहे हैं इनके कारण, लक्षण और सबसे महत्वपूर्ण बात फंगल इंफेक्शन से निजात पाने के घरेलू उपाय भी हम आपको इस लेख मे बताएंगे।

फंगल इंफेक्शन के लक्षण

fungal infection
fungal infection
  1. जहां परेशानी है (संक्रमित क्षेत्र) उस स्थान पर खुजली या जलन होती है।
  2. इसके कारण पेशाब या संभोग के दौरान जलन या दर्द भी हो सकता है।
  3. पैर लाल हो जाते हैं और छाले पड़ जाते हैं।
  4. पैरों की उंगलियों मे सफेद धब्बे पड़ जाते हैं और खुजली और चुभन हो सकती है।
  5. त्वचा रूखी हो सकती है।
  6. कभी-कभी योनि के आसपास खुजली और सूजन भी हो सकती है।
  7. त्वचा पर दरारें भी पड़ जाती हैं।

फंगल इंफेक्शन के अन्य कारण

पैरों की उंगलियों मे फंगल इंफेक्शन होने के कई कारण हो सकते हैं। वैसे तो यह किसी भी मौसम में हो सकता हैं लेकिन बरसात के मौसम में फंगल इन्फेक्शन होने की संभावना अधिक बढ़ जाती हैं। क्योंकि बरसात के मौसम में हवा में नमी अधिक रहती है और पानी भी गिरता है जिसके कारण हमारे शरीर पर भी नमी आ जाती है। हमारी त्वचा पर यह नमी कवक को जन्म देती हैं। जो कि फंगल इन्फेक्शन का कारण बन जाता हैं।

इसके अलावा फंगल संक्रमण पर्यावरण मे मौजूद कवक तथा अन्य स्रोत जैसे धूल – मिट्टी, हवा प्रदूषण आदि के कारण भी होते हैं। इसलिए किसी भी व्यक्ति को इस प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। पर आपको परेशान होने की आवश्यकता नही है क्योंकि हम आपको इससे निजात पाने के घरेलू उपाय बता रहे हैं।

यहाँ पढ़ें : मैनीक्योर पेडीक्योर करने की विधी तथा फायदे

फंगल इंफेक्शन से छुटकारा पाने के घरेलू उपाय

  1. हल्दी से करें उपचार
fungal infection
fungal infection

हल्दी मे एंटी सेप्टिक गुण होते हैं और यह हमारे लिए बहुत ही उपयोगी होती है संक्रमण पर इसका इस्तेमाल करने के लिए कच्ची हल्दी को पीस कर संक्रमण वाले स्थान पर लगाएं और लगभग आधे घंटे तक लगा रहने दें। यह फंगल के साथ-साथ दाग को भी खत्म करती है।

2. लहसून से करें उपचार

fungal infection
fungal infection

लहसून के अंदर एंटी फंगल गुण होते हैं इसका उपयोग करने से आपको फंगल से छुटकारा पाने मे मदद मिलती है। इसका इस्तेमाल करने के लिए सबसे पहले लहसून की कुछ कलियां लीजिए इसे संक्रमण वाली जहग पर लगाएं इसे लगाने से एक मिनट तक आपको जलन हो सकती है लेकिन इसके लगातार प्रयोग से फंगल इंफेक्शन खत्म हो जाता है।

3. कपूर से करें उपचार

fungal infection
fungal infection

क्या आप जानते हैं कि फंगस से निजात पाने के लिए आप कपूर का इस्तेमाल भी कर सकते हैं। इसका प्रयोग करने के लिए मिट्टी के तेल में 5 ग्राम कपूर और 1 ग्राम नेफ़थलीन मिलाएं। इसे मरहम की तरह लगाएं और कुछ समय के लिए संक्रमित क्षेत्र पर छोड़ दें। जब तक इंफेक्शन ठीक नही हो जातातब तक इस उपाय को दिन में दो बार करें।

4. जैतून के पत्तों से करें उपचार

fungal infection
fungal infection

फंगल इंफेक्शन को ठीक करने मे जैतून के पत्ते बहुत ही लाभदायक होते हैं इसका प्रयोग करने के लिए जैतून के कुछ पत्ते लें फिर उन्हे अच्छे से पीस कर एक पेस्ट तैयार कर लें फिर इसे संक्रमण वाली त्वचा पर लगाएं और लगभग आधे घंटे तक लगा कर छोड़ दें। उसके बाद इसे धो लें जब तक फंगल ठीक न हो जाए इसका प्रयोग करते रहें।

5. सेब के सिरके से करें उपचार

fungal infection
fungal infection

अगर आपके पैरों की उंगलियों मे फंगल इन्फेक्शन है तो इससे निजात पाने के लिए2 चम्मच सेब के सिरके को 1 कप गर्म पानी में मिलाकर पीएं। इसका सेवन आपके खून में मौजूद हानिकारक बैक्टीरिया को खत्म करने मे मदद करता है और इससे आपको फंगल इंफेक्शन से राहत मिल सकती है जब तक यह पूरी तरह ठीक न हो जाए तब तक इसका सेवन करें।

6. ऐलोवेरा जैल से करें उपचार

fungal infection
fungal infection

ऐलोवेरा जैल आपकी त्वचा से संबंधित बहुत सी परेशानियो के लिए लाभदायक होता है यह फंगल इंफेक्शन से भी निजात दिलाने मे आपकी मदद करता है। यह संक्रमण को दूर करता है। इसका इस्तेमाल करना बहुत ही आसान है और इसके प्रयोग से किसी प्रकार की जलन भी नही होती इसे लगाने के लिए ऐलोवेरा जेल लेकर उसे संक्रमित स्थान पर लगाएं और लगभग आधे घंटे तक लगा रहने दें। और फिर ठंडे पानी से धो लें इससे आपको काफी जल्दी राहत मिल जाती है इसलिए जब तक फंगल ठीक न हो जाए इसका प्रयोग करते रहें।

7. दही से करें उपचार

fungal infection
fungal infection

दही मे एसिड होता है जिसके कारण इसमे बैक्टिरिया को मारने के गुण होते हैं। इसका इस्तेमाल करने के लिए रुई की मदद से दही को संक्रमण वाली त्वचा पर लगाएं। कुछ देर तक लगा रहने के बाद इसे ठंडे पानी से धो लें इस बात का भी ध्यान रखें की संक्रमण वाली त्वचा को कभी हाथ से न छुएं इससे इंफेक्शन फैलने का खतरा रहता है

यहाँ पढ़ें : नाखूनों की देखभाल कैसे करें

8. पीपल के पत्ते से करें उपचार

fungal infection
fungal infection

फंगल इंफेक्शन से राहत पाने के लिए आप पीपल के पत्तों का उपयोग कर सकते हैं। इसका इस्तेमाल करने के लिए कुछ पीपल के पत्ते लें फिर उसे थोड़े पानी मे डाल कर उबाल लें। इसे ठंडा होने दें और त्वचा को धोने के लिए इस पानी का उपयोग करें। इससे घाव पर बहुत जल्दी आराम मिलता है।

9. टी ट्री ऑयल से करें उपचार

fungal infection
fungal infection

टी ट्री ऑयल मे एंटी सेप्टिक गुण होते हैं।इसके इन्ही गुणों के कारणथोड़े ही समय में संक्रमण की समस्या को दूर किया जा सकता है। इसका प्रयोग करने के लिए टी ट्री ऑयल, ऑलिव ऑयल और बादाम के तेल की समान मात्रा को एक कटोरी मे मिलाएं और इसे संक्रमण वाली जगह पर लगाएं। इसे तब तक रोजाना इस्तेमाल करें जब तक कि संक्रमण दूर न हो जाए। आप इसका इस्तेमाल दिन मे तीन से चार बार कर सकते हैं।

उंगलियों मे होने वाले फंगल इंफेक्शन से बचने के उपाय

हमने आपको उपर फंगल इंफेक्शन को ठीक करने के घरेलू उपाय बताए हैं जिनका उपयोग करके आप घर पर ही बहुत आसानी से इससे निजात पा सकते हैं लेकिन अगर आप कुछ सावधानियां बरते तो आप इसे होने से रोक सकते हैं इसलिए इस लेख मे हम आपको इनसे बचने के कुछ उपाय भी बता रहे हैं जिनके माध्यम से आप इंफेक्शन को होने से रोक सकते हैं।

  • कपड़े और जूते ठीक से और खुले तौर पर पहनें, सूती मोजे और कपड़े पहनना बेहतर है।
  • यदि पैरों में अत्यधिक पसीना आता है, तो जूते और मोजे पहनने से पहले पैर की उंगलियों के बीच टेल्कम पाउडर लगाएं।
  • पेडीक्योर बाथ टब में फंगस और संक्रमण का खतरा भी रहता है, इसलिए सावधानी बरतें।
  • गीले मोजे न पहनें, और पैरों को नमी से बचाएं।
  • पैर की उंगलियों के बीच भी सफाई रखें।
  • अस्पतालों या सार्वजनिक स्थानों पर सामान्य बाथरूम का उपयोग करने से बचें।
  • रोगी को परिवार में बैठने और लेटने के लिए अलग स्थान निर्धारित करें। उनके इस्तेमाल किए हुए कपड़ों को अलग से साफ करें।

Written by savita mittal

मेरा नाम सविता मित्तल है। मैं एक लेखक (content writer) हूँ। मेैं हिंदी और अंग्रेजी भाषा मे लिखने के साथ-साथ एक एसईओ (SEO) के पद पर भी काम करती हूँ। मैंने अभी तक कई विषयों पर आर्टिकल लिखे हैं जैसे- स्किन केयर, हेयर केयर, योगा । मुझे लिखना बहुत पसंद हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Manicure Pedicure

मैनीक्योर पेडीक्योर करने की विधी तथा फायदे – घर पर ही बनाएं Manicure Pedicure स्क्रब

keel muhase

चेहरे से पिंपल्स और कील मुहांसे हटाने के 7 घरेलू रामबाण उपाय, Pimple Kaise Hataye