in ,

पेट की चर्बी कम करने के लिए योग- Yoga to reduce belly fat in Hindi

स्वादिष्ट भोजन खाना सबको पसंद होता है लेकिन अधिक खाने और वसा युक्त भोजन के कारण हमारा पेट निकल आता है। लेकिन खुशी की बात यह है कि आप योग की मदद से पेट को कम कर सकते हैं। हर इंसान जो अपने बड़े पेट और भारी वजन से परेशान है और जो पेट की चर्बी कम करना चाहता है। वह योग कर सकता है। वैसे तो पेट को कम करने के कई तरीके हैं लेकिन इनमे सबसे उत्तम तरीका है योग।

कुछ योगासन से आप अपने पेट की चर्बी को कम कर सकते हैं। पेट पर अधिक चर्बी होने से अधिक परेशानियां बढ़ जाती है। इसलिए संतुलित आहार और कुछ योग करके आप पेट की चर्बी को बहुत ही कम समय मे कम कर सकते हैं। ये योगासन न केवल आपके पेट की चर्बी को कम करते हैं बल्कि आपके शरीर और मस्तिष्क को भी स्वस्थ रखते हैं।

पेट कम करने के लिए योग- Yoga to reduce belly fat

हम आपको पेट की चर्बी कम करने के लिए कुछ योगासन बता रहे हैं जिन्हे नियमित रुप से करने से आप अपने बड़े पेट से निजात पा सकते हैं। ये आसन इस प्रकार हैं।

· धनुरासन (Dhanurasana)

· समस्थिति आसन (Samasthiti asana)

· पादहस्तासन (Padahastasana)

· नावासन (Navasana)

· समकोणासन (Samakonasana)

· उत्तानपादासन (Uttanapadasana)

यहाँ पढ़ें : फिट रहने के लिए योगा

1. पेट कम करने के लिए धनुरासन- Dhanurasana to reduce belly fat

 धनुरासन एक संस्कृत का शब्द है। इसमे “धनुर” शब्द का अर्थ है “धनुष” इस आसन को करने से आपकी रीढ़ की हड्डी मे बहुत लचीलापन आता है। यह पेट और वजन को कम करने के लिए एक अच्छा आसन है।

पेट कम करने के लिए धनुरासन- Dhanurasana to reduce belly fat

धनुरासन करने का सही तरीका- Dhanurasana

1. सबसे पहले जमीन पर एक योगा मैट को बिछा लें।

2. अब इस मैट पर पेट के बल लेट जाएं।

3. अब अपने दोनो पैरों को घुटनो की तरफ से मोड़ें।

4. फिर अपने दोनो हाथों को आगे की तरफ से पीछे की ओर ले जाएं।

5. अब अपने हाथों से पैरों को पकड़ने की कोशिश करें।

6. इसी अवस्था मे 20 से 30 सेकेंड तक रुकें।

7. कुछ देर के बाद अपने हाथों को खोलकर अपनी स्थिति मे पुन: वापिस आ जाएं।

2. पेट कम करने के लिए समस्थिति आसन- Samasthiti asana to reduce belly fat

समस्थिति आसन करने से शरीर मे ब्लड सर्कुलेशन मे सुधार होता है। यह आपके शरीर के साथ आपके मस्तिष्क को भी शांत करता है और आपके पेट की चर्बी कम करने मे भी मदद करता है।

Yoga to reduce belly fat

समस्थिति आसन करने का सही तरीका- Samasthitiasana

1. इसको करने के लिए अपने पैरों को बिल्कुल सीधा रखें। और दोनो पंजो को एक साथ रखें।

2. दोनो एड़ियों को थोड़ा दूरी पर रखें।

3. अब दोनो हाथों को सीधा उपर की तरफ उठाएं। और जितना हो सके हाथों को खींचते हुए सर के उपर ले जाएं।

4. अब एड़ियों को उठाते हुए पंजो पर खड़े होने की कोशिश करें।

5. अब दोनो हाथों की उंगलियों को आपस मे मिलाएं।

6. सामान्य तरीके से सांस लेते हुए इसी अवस्था मे 20 से 30 सेकेंड तक रहने की कोशिश करें।

7. अब धीरे- धीरे सामान्य अवस्था मे आ जाएं।

3. पेट कम करने के लिए पादहस्तासन- Padahastasana to reduce belly fat

पेट कम करने के लिए पादहस्तासन- Padahastasana to reduce belly fat

अगर आप भी अपने पेट की चर्बी कम करना चाहते हैं तो आपके लिए यह आसन बहुत ही उपयोगी है। इसको करने से आपके पेट पर दबाब पड़ता है। जो आपके पेट की चर्बी को कम करने मे मदद करता है।

यहाँ पढ़ें : सिरदर्द के लिए योग: आयुर्वेद के दृष्टिकोण से

पादहस्तासन करने का सही तरीका- Padahastasana

1. इसको करने के लिए सबसे पहले जमीन पर मैट बिछा कर उस पर सीधे खड़े हो जाएं।

2. अपने दोनों पैरों को साथ- साथ ही रखना है।

3. अब अपने दोनों हाथों को उपर की तरफ सीधा कर लें।

4. इसके बाद धीरे- धीरे कमर से नीचे की तरफ झुकते जाएं।

5. अब दोनों हाथों से पैरों के पंजे पकड़ने की कोशिश करें।

6. इस अवस्था मे 60 से 90 सेकेंड तक रहने की कोशिश करें। अगर दिक्कत हो तो कम समय के लिए भी रह सकते हैं।

7. अब धीरे- धीरे अपनी स्थिति मे पुन: वापस आएं।

नोट- अगर आपकी रीढ़ की हड्डी मे दर्द हो तो आप इस आसन को न करें।

4. पेट कम करने के लिए नावासन – Navasana (boat pose) to reduce belly fat

यह आसन एक बहुत ही कारगर आसन है पेट की चर्बी कम करने का। इस आसन को करने वाले की स्थिति एक नाव के समान दिखाई देती है। यह आसन पेट की चर्बी कम करने के साथ अन्य बीमारियों को कम करने के लिए भी जाना जाता है।

पेट कम करने के लिए नावासन - Navasana (boat pose) to reduce belly fat

नावासन करने का सही तरीका – Navasana

1. सबसे पहले एक योगा मैट बिछा लें।

2. अब इस पर अपने दोनों पैरों को बिल्कुल सीधा कर के बैठ जाएं।

3. रीढ़ की हड्डी को भी बिल्कुल सीधा रखें और दोनो हाथों को भी सीधा कर लें।

4. अब अपने दोनों पैरों को सीधा उपर की तरफ उठाएं।

5. आप संतुलन बनाने के लिए थोड़ा सा पीछे की तरफ झुक सकते हैं।

6. अपने दोनों हाथों को आगे की तरफ सीधा रखें।

7. इससे आपके पैरों और शरीर के उपरी हिस्से के बीच 45 डिग्री का कोण बनेगा।

8. इसी अवस्था मे 10 से 20 सेकेंड तक रुकने की कोशिश करें।

9. अब अपने पैरों को नीचे करें और अपनी प्रारंभिक अवस्था मे आ जाएं।

5. पेट कम करने के लिए समकोणासन- Samakonasana to reduce belly fat

समकोणासन जिसे स्ट्रेट एंगल पोज़ भी कहा जाता है। इस आसन को करने से कमर के नीचे का हिस्सा मजबूत होता है। इससे आपका पेट भी अंदर होता है और कमर दर्द जैसी समस्याओं से भी छुटकारा मिलता है। इस आसन को करने से आपका शरीर लचीला बनता है और रीढ़ की हड्डी भी मजबूत रहती है।

Yoga to reduce belly fat

समकोणासन करने का सही तरीका – Samakonasana

1. सबसे पहले जमीन पर योगा मैट बिछा लें।

2. अब अपने दोनों पैरों को एक साथ जोड़ कर रखें।

3. अपने दोनों हाथों को भी बिल्कुल सीधा रखें।

4. अब अपने दोनों हाथों को सिर के उपर ले जाकर सीधा रखें। और थोड़ा सा पीछे की और झुकें।

5. अब फिर से हाथों को सर के उपर रखें। और गहरी सांस भरते हुए अपनी कमर को आगे की ओर 90 डिग्री पर झुकाएं।

6. इसके बाद सांस छोड़ते हुए सीधे खड़े हो जाएं।

यहाँ पढ़ें : थायराइड के लिए योगासन

6. पेट को कम करने के लिए उत्तानपादासन- Uttanpadasana to reduce belly fat

उत्तानपादासन सीधा लेटकर पीठ के सहारे से किया जाता है। उत्तानपादासन नाम संस्कृत का शब्द है। इस मे “उत्तान” शब्द का अर्थ है उपर उठा हुआ और “पाद” शब्द का अर्थ पैर होता है। इस आसन से बहुत से फायदे होते हैं और इससे पेट कम करने मे भी मदद मिलती है।

पेट को कम करने के लिए उत्तानपादासन- Uttanpadasana to reduce belly fat

उत्तानपादासन करने का सही तरीका – Uttanpadasana

1. उत्तानपादासन करने के लिए सबसे पहले ज़मीन पर योगा मैट बिछा लें।

2. अब इस मैट पर सीधा लेट जाएं।

3. दोनों पैरों को बिल्कुल सीधा रखें।

4. अब दोनो हथेलियों को नीचे की तरफ रखें।

5. अब धीरे- धीरे सांस लेते हुए पैरों को ऊपर की ओर उठाएं।

6. अब अपने पैरो को 45 डिग्री तक उठाएं।

7. इसी अवस्था मे अपने पैरों को 15 से 20 सेकेंड तक रोकने की कोशिश करें।

8. अब पैरों को धीरे- धीरे नीचे करते हुए अपनी प्रारंभिक स्थिति मे आ जाएं।

नोट- अगर आपको सिर दर्द, उक्त रक्त चाप, कमर दर्द, अल्सर आदि की समस्या हो तो खुद से इस आसन को न करें सबसे पहले चिकित्सक की सलाह लें। और उनके निर्देशो के अनुसार ही करें।

Reference

Written by savita mittal

मेरा नाम सविता मित्तल है। मैं एक लेखक (content writer) हूँ। मेैं हिंदी और अंग्रेजी भाषा मे लिखने के साथ-साथ एक एसईओ (SEO) के पद पर भी काम करती हूँ। मैंने अभी तक कई विषयों पर आर्टिकल लिखे हैं जैसे- स्किन केयर, हेयर केयर, योगा । मुझे लिखना बहुत पसंद हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Rules types & Benefits of Yoga - योग के नियम प्रकार और लाभ

What is Yoga? It’s benefits, rules and types – योग क्या है? योग के लाभ, नियम और प्रकार

Yoga for Thyroid in Hindi - थायराइड के लिए योगासन

Yoga for Thyroid in Hindi – थायराइड के लिए योगासन