सोमवती अमावस्या | Somvati Amavasya | सोमवती अमावस्या का महत्व

सोमवती अमावस्या, Somvati Amavasya, सोमवती अमावस्या 2024, सोमवती अमावस्या के टोटके, सोमवती अमावस्या की कथा, सोमवती अमावस्या 2024 लिस्ट, सोमवती अमावस्या कब है, सोमवती अमावस्या का महत्व, सोमवती अमावस्या पूजा विधि, सोमवती अमावस्या फोटो

Somvati Amavasya 2024: इस दिन मनाई जाएगी सोमवती अमावस्या जरूर करें ये 2 काम, वरना

Somvati Amavasya

यहाँ पढ़ें: ज्येष्ठ अमावस्या

सोमवती अमावस्या | Somvati Amavasya | सोमवती अमावस्या का महत्व

सोमवार के दिन आने वाली अमावस्या को सोमवती अमावस्या कहते हैं। गणित के प्रायिकता सिद्धांत के अनुसार अमावस्या वर्ष में एक अथवा दो बार ही सोमवार के दिन हो सकती है। परन्तु समय चक्र के अनुसार अमावस्या का सोमवती होना बिल्कुल अनिश्चित है।

हरिद्वार कुंभ के दौरान सोमवती अमावस्या का दिन बहुत ही पवित्र माना गया है, इस दिन नागा साधुओं द्वारा शाही स्नान भी किया जाता है।

हिन्दू धर्म की मान्यताओं के अनुसार, सोमवती अमावस्या का एक विशेष महत्त्व है। सोमवती अमावस्या की पूजा से जुड़ी कुछ भिन्न-भिन्न मान्यताएँ हैं।
प्रथम मान्यता के अनुसार: सोमवती अमावस्या के दिन महिलाएँ तुलसी माता की 108 परिक्रमा लगाते हुए कोई भी वस्तु / फल दान करने का संकल्प लेतीं हैं।

Somvati Amavasya
Somvati Amavasya

दूसरी मान्यता के अनुसार: सोमवती अमावस्या के दिन महिलाएँ पीपल के व्रक्ष की भँवरी (108 परिक्रमा) करतीं हैं, तथा अखंड सौभाग्य की कमाननाएँ करती हैं। साथ ही साथ, श्री गौरी-गणेश एवं सोमवती व्रत कथा पाठ के साथ वस्तु अथवा फल दान करने का संकल्प लेतीं हैं। पीपल के पेड़ में सभी देवों का वास माना गया है अतः इस मत के अनुसार पीपल की पूजा की जाती है।

FAQ – Somvati Amavasya

सोमवती अमावस्या के दिन क्या करते हैं?

इस दिन किसी पवित्र नदी, तालाब या कुंड में स्नान करें और सूर्य देव को अर्घ्य दें। गायत्री मंत्र का पाठ करें। इसके बाद भगवान शिव की पूजा करें। पितरों का तर्पण करें और उनके मोक्ष की कामना करें।

सोमवती अमावस्या के दिन किसकी पूजा की जाती है?

सोमवती अमावस्या देवों के देव महादेव और मां पार्वती से संबंधित मानी जाती है. साथ ही, इस दिन पितरों का तर्पण किए जाने से उनका आशीर्वाद प्राप्त होता है सोमवती अमावस्या के दिन भगवान शिव के साथ मां पार्वती की विधि-विधान से पूजा अर्चना करने से सुख-शांति और समृद्धि मिलती है

सोमवती अमावस्या के दिन क्या खाना चाहिए?

शास्त्रों के अनुसार, सोमवती अमावस्या के दिन इंसान को तामसिक भोजन का सेवन करने से बचना चाहिए। इस तिथि पर मांस-मदिरा और लहसुन और प्याज नहीं खाना चाहिए।

Reference
Somvati Amavasya

मेरा नाम सविता मित्तल है। मैं एक लेखक (content writer) हूँ। मेैं हिंदी और अंग्रेजी भाषा मे लिखने के साथ-साथ एक एसईओ (SEO) के पद पर भी काम करती हूँ। मैंने अभी तक कई विषयों पर आर्टिकल लिखे हैं जैसे- स्किन केयर, हेयर केयर, योगा । मुझे लिखना बहुत पसंद हैं।

Leave a Comment