कैसे हुआ सरस्वती का जन्म | saraswati ka janam kaise hua | माता सरस्वती के जन्म की कहानी | Mata Saraswati Ki Kahani In Hindi

सरस्वती की उत्पत्ति कैसे हुई, सरस्वती जी के गले में किस की माला है, सरस्वती पुराण इन हिंदी, सरस्वती वंदना का महत्व, ब्रह्मा और सरस्वती का क्या संबंध था, सरस्वती माता की कहानी, ब्रह्मा जी ने अपनी पुत्री से विवाह क्यों किया, ब्रह्मा जी की पत्नी और बेटी कौन थी


कैसे हुआ सरस्वती का जन्म | saraswati ka janam kaise hua | माता सरस्वती के जन्म की कहानी | Mata Saraswati Ki Kahani In Hindi

जब सृष्टि का निर्माण हुआ तो हर और अव्यवस्था थी। ब्रह्मा को यह समझ में नहीं आ रहा था कि सृष्टि में व्यवस्था कैसे बनाई जाए। समस्या पर विचार करते समय उन्हें एक आवाज सुनाई पड़ी कि ज्ञान ही सृष्टी में व्यवस्था बनाने में सहायता कर सकता है।

Mata Saraswati Ki Kahani In Hindi
Mata Saraswati Ki Kahani In Hindi

तभी ब्रह्मा के मुख से सरस्वती की चमत्कारी आकृति प्रकट हुई जो ज्ञान और बुद्धि की देवी थी, श्वेत वस्त्र धारण किए वह हंस पर सवार थी। उसके एक हाथ में पुस्तक और दूसरे में वीणा थी।

विचार, समझ और संवाद के जरिए उन्होंने ब्रह्मा को यह समझाने में सहायता की की किस तरह से सृष्टि में व्यवस्था कायम की जाए।

जब उसने वीणा बजाई तो हल्ला गुल्ला शांत होने लगा सूर्य, चंद्रमा और तारों का जन्म हुआ। समुंद्र भर गए और ऋतु परिवर्तन होने लगा। ब्रह्मा ने प्रसन्न होकर सरस्वती का नाम वाग्देवी रख दिया जिसका अर्थ शब्द और ध्वनि की देवी होता है। इस प्रकार ब्रह्मा, सरस्वती के ज्ञान की बदौलत सृष्टि के रचयिता बन गए।

यहाँ पढ़ें : इस कारण से पड़ा था बजरंग बली का नाम हनुमान
वक्रतुंड रूप की कहानी
महर्षि दधीचि की कहानी
महर्षि वाल्मीकि की जीवन कथा
राजा भर्तृहरि की सम्पूर्ण कहानी

माँ सरस्वती जी का जन्म कैसे हुआ – एक रहस्य – Mata saraswati Pujan

Mata Saraswati Ki Kahani In Hindi

reference
Mata Saraswati Ki Kahani In Hindi

Leave a Comment