इस कारण से पड़ा था बजरंग बली का नाम हनुमान | kaise pada hanuman ka naam hanuman in hindi

कैसे पड़ा भगवान हनुमान का नाम हनुमान, हनुमान जी कलयुग में कहां है, हनुमान जी का नाम बजरंगबली कैसे पड़ा, हनुमान जी के कितने अवतार है, हनुमान जी और बजरंगबली में क्या अंतर है, हनुमान जी का जन्म स्थान कहां है, हनुमान जी का मंत्र


इस कारण से पड़ा था बजरंग बली का नाम हनुमान | kaise pada hanuman ka naam hanuman in hindi

हनुमान की माता अंजना ने उनसे कहा कि वे पके हुए फल खाया करें। 1 दिन हनुमान ने उजले पीले सूरज को देखा। वह समझे कि यह भी कोई फल है। वे छलांग लगाकर सूरज के पास पहुंचे और उसे अपने मुंह में रख लिया।

kaise pada hanuman ka naam hanuman
kaise pada hanuman ka naam hanuman

जब इंद्र ने हनुमान को सूरज को मुंह में दबाते हुए देखा तो वे घबरा गए। सूरज के बिना तो दुनिया का काम चल ही नहीं सकता था। उन्होंने जल्द ही अपना वज्र लहराया और उड़ते हुए हनुमान की ठोड़ी पर प्रहार कर दिया। हनुमान अचेत होकर गिर पड़े।

उनके पिता वायु देव को इंद्र पर बहुत क्रोध आया। उन्होंने पूरे विश्व को त्याग दिया। हवा ना रहने से दुनिया के सारे जीव परेशान हो गए और मरने लगे।

वायु देव को शांत करने के लिए इंद्र ने अपना वज्र उठा लिया। हनुमान फिर से होश में आ गए। तभी से उनका नाम हनुमान पड़ा था क्योंकि हनु संस्कृत में ठोड़ी को कहते हैं।

यहाँ पढ़ें : वक्रतुंड रूप की कहानी
महर्षि दधीचि की कहानी
महर्षि वाल्मीकि की जीवन कथा
राजा भर्तृहरि की सम्पूर्ण कहानी
गंगा अवतरण कथा

श्री हनुमान की कथाएं | कैसे पड़ा नाम हनुमान ? | Manisha Jakhmola

kaise pada hanuman ka naam hanuman

reference
kaise pada hanuman ka naam hanuman

Leave a Comment