आज मत बिगाडो – भगवान बुद्ध की प्रेरणादायक कहानी | जातक कथाएँ | lokpriya Jatak Kathayen | aaj mat bigado mahatma Buddha story in hindi

भगवान बुद्ध की प्रेरणादायक कहानी, भगवान बुद्ध की जीवन कथा, गौतम बुद्ध की प्रेरक कहानी, गौतम बुद्ध की कहानियाँ pdfआज मत बिगाडो – भगवान बुद्ध की प्रेरणादायक कहानी, जातक कथाएँ, lokpriya Jatak Kathayen, aaj mat bigado mahatma Buddha story in hindi


यहाँ पढ़ें : lokpriya Jatak Kathayen in Hindi

आज मत बिगाडो – भगवान बुद्ध की प्रेरणादायक कहानी | जातक कथाएँ | lokpriya Jatak Kathayen | aaj mat bigado mahatma Buddha story in hindi

भगवान बुद्ध एक गांव में उपदेश दे रहे थे। सभा में सभी शांति से बुद्ध की वाणी सुन रहे थे, लेकिन वहां स्वभाव से ही अति क्रोधी एक ऐसा व्यक्ति भी था, जिसे बुद्ध की बातें बेतुकी लग रही थी।

वह कुछ देर तक तो सुनता रहा फिर अचानक ही बोल उठा, ‘तुम पाखंडी हो। बड़ी-बड़ी बातें करना यही तुम्हारा काम है। तुम लोगों को भ्रमित कर रहे हो। तुम्हारी बातें आज के समय में कोई मायने नहीं रखती।’

aaj mat bigado mahatma Buddha story
aaj mat bigado mahatma Buddha story

ऐसे कई कटु वचनों को सुनकर भी बुद्ध शांत रहे। उन्हें शांत देखकर उस व्यक्ति का क्रोध और भी उफन उठा। उन्हें और भी तेजी से भला बुरा कहते हुए वह चला गया।

वह अगले दिन जब उस व्यक्ति का क्रोध शांत हुआ,  तो वह पछतावे की आग में जलने लगा और बुद्ध को ढूंढता हुआ, उसी स्थान पर पहुंचा, लेकिन बुद्ध तो अपने शिष्यों के साथ दूसरे गांव की ओर निकल चुके थे।

उस व्यक्ति ने बुद्ध के बारे में लोगों से पूछा और जहां वे प्रवचन दे रहे थे, वहां पहुंच गया। उन्हें देखते ही वह उनके चरणों में गिर पड़ा और उनसे क्षमा मांगने लगा।

यहाँ पढ़ें : Munshi Premchand all stories in Hindi
vishnu sharma ki 101 panchtantra kahaniyan in hindi
vikram betaal stories in hindi
akbar birbal stories with moral in hindi

बुद्ध ने पूछा, ‘कौन हो भाई, तुम्हें क्या हुआ है, क्यों शमा मांग रहे हो? 

उस व्यक्ति ने कहा, ‘मैं वही हूं, जितने कल आपसे बहुत बुरा व्यवहार किया हां। मैं शर्मिंदा हूं।’

भगवान बुद्ध ने उससे कहा, ‘बीता हुआ कल तो मैं वहीं छोड़ कर आ गया। हर कोई उस जगह को छोड़कर चला जाता है। तुम अभी वहीं रुके हुए हो।

तुम्हें अपनी गलती का आभास हो गया, तुमने पश्चाताप कर लिया और तुम निर्मल हो गए। अब तुम आज में प्रवेश करो। बुरी बातें तथा बुरी घटनाएं याद करते रहने से वर्तमान और भविष्य दोनों बिगड़ जाते हैं। बीते हुए कल के कारण आज को मत बिगाड़ो।’

Buddha Stories I बीते हुए कल के कारण आज को मत बिगाड़ो I Do not spoil today because of the past

aaj mat bigado mahatma Buddha story

संबंधित : महात्मा बुद्धा की कहानी

सही राह
सहिष्णुता का व्रत
मुश्किलों का हल
सियार बना न्यायाधीश
न्याय

Leave a Comment