भारत की मिसाइलों के प्रकार | types of missiles in india in hindi | भारत के पास कितने प्रकार की मिसाइल है? | भारत की पहली मिसाइल कौन थी?

भारत की मिसाइलों के प्रकार | types of missiles in india in hindi | भारत के पास कितने प्रकार की मिसाइल है? | भारत की पहली मिसाइल कौन थी?, What are the types of missiles?, प्रक्षेपास्त्रों के प्रकार, भारत के पास कितने प्रकार की मिसाइल है?


भारत की सुरक्षा प्रणाली भारतीय मिसाइलों के बिना अधूरी है। भारत की खासियत यह है कि यहां अलग-अलग तरह की मिसाइलें देश की सुरक्षा के लिए हमेशा तैनात रहती हैं। कुछ मिसाइलें जमीन में लड़ती हैं तो कुछ मिसाइलें हवा से वार करती हैं। इसके साथ ही भारत में समुद्र से दागी जाने वाली भी मिसाइलें मौजूद है। इन मिसाइलों को चार भागों में वर्गीकृत किया जाता है, आइए जानते हैं इनके बारे में:-

  • सतह से सतह पर मार करने वाली मिसाइलें : बैलिस्टिक, एंटी-टैंक, एंटी-शिप, क्रूज आदि।
  • तह से हवा में मार करने वाली मिसाइलें : बैलिस्टिक, एंटी-टैंक, एंटी-शिप, क्रूज आदि।
  • हवा से सतह में मार करने वाली मिसाइलें : एंटी-बैलिस्टिक
  • हवा से हवा में मार करने वाली मिसाइलें : सबमरीन लॉन्च्ड बैलेस्टिक मिसाइल

यहाँ पढ़ें : भारत के 22 सबसे प्रतिष्ठित पुरस्कारों की सूची | national civilian awards of india in hindi

Classification Of Missiles – List Of Different Types Of Missiles With Their Details

types of missiles

यहाँ पढ़ें : भारत के मुख्य निर्वाचन आयुक्त नाम लिस्ट सूची | List of Chief Election Commissioner of India in Hindi

types of missiles in india in hindi | भारत के पास कितने प्रकार की मिसाइल है?

Indian Missile
भारतीय मिसाइल
Type of Missile
मिसाइल का प्रकार
Range of the missile
मिसाइल की रेंज
ब्रह्मोससुपरसोनिक क्रूज मिसाइल290 km 
प्रहारक्रूज़ मिसाइल150 km
पृथ्वी प्रथमSRBM (शॉर्ट रेंज बैलिस्टिक मिसाइल)150 km
पृथ्वी IISRBM (शॉर्ट रेंज बैलिस्टिक मिसाइल)250-350 km
पृथ्वी IIISRBM (शॉर्ट रेंज बैलिस्टिक मिसाइल)350 -600 km 
शौर्यMRBM (मध्यम दूरी की बैलिस्टिक मिसाइल)700-1900 km 
निर्भयक्रूज़ मिसाइल1000-1500 km
अग्नि IMRBM (मध्यम दूरी की बैलिस्टिक मिसाइल)700-1250 km
अग्नि IIIRBM (इंटरमीडिएट रेंज बैलिस्टिक मिसाइल)2000-3500 km
अग्नि IIIIRBM (इंटरमीडिएट रेंज बैलिस्टिक रेंज)3500-5000 km
अग्नि IVIRBM (इंटरमीडिएट रेंज बैलिस्टिक रेंज)4000-6000 km
अग्नि VICBM (इंटरकांटिनेंटल बैलिस्टिक मिसाइल)5000-8000 km 
धनुषसमुद्र से समुद्र की सतह350 km 
आकाशसतह से हवा – छोटी दूरी30 km 
त्रिशूलसतह से हवा – मध्यम श्रेणी9 km 
एस्ट्राहवा से हवा – दृश्य सीमा से परे80 km 
गुनगुनसतह से सतह, हवा से सतह तक4 km 
K4एसएलबीएम (सबमरीन लॉन्च बैलिस्टिक मिसाइल) – पानी के नीचे सतह पर3500 km 
Sagarika (K15)एसएलबीएम (सबमरीन लॉन्च बैलिस्टिक मिसाइल) – पानी के नीचे सतह पर700 km
Barack 1 SRSAM (शॉर्ट-रेंज सरफेस टू एयर मिसाइल) – शिप डिफेंस – शिप टू एयर और शिप टू द सरफेस।12 km 
Barack 8 LRSAM (लंबी दूरी की सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइल) जहाज की रक्षा – जहाज से हवा और जहाज से सतह तक।90 km 
types of missiles in india in hindi

यहाँ पढ़ें : भारत के उपराष्ट्रपति की सूची | List of Vice President of India in Hindi

भारत की मिसाइलों के प्रकार | types of missiles in india in hindi | भारत की पहली मिसाइल कौन थी?

types of missiles
types of missiles

सतह से सतह पर मार करने वाली मिसाइलों के नाम

प्रहारइसमिसाइल का निर्माण रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) द्वारा किया गया। डीआरडीओ ने सिर्फ 2 साल के अंदर इस मिसाइल को विकसित किया था। इस मिसाइल का लॉन्च प्लेटफार्म ‘ट्रांसपोर्टर इरेक्टर लॉन्चर है। इस मिसाइल का परीक्षण साल 2011 में किया गया। इसकी रेंज 150 किलोमीटर है तथा यह मिसाइल काफी जल्दी प्रतिक्रिया करती है।

शौर्य:-इस मिसाइल को भी DRDO द्वारा बनाया गया है तथा इसकी रेंज 700-1900 किलोमीटर है। इसका लॉन्च प्लेटफार्म भी ट्रांसपोर्टर इरेक्टर लॉन्चर व अंडरग्राउंड साइलो है।

धनुष:- इस मिसाइल को इसीलिए विकसित किया गया जिससे भारतीय नौसेना इसका इस्तेमाल कर सके। धनुष को साल 1994 में भारतीय सेना में सम्मिलित किया गया। इस मिसाइल की रेंज 350 किलोमीटर है। साथ ही, यह 500 किलोग्राम तक के हथियार को भी आसानी से उठा सकता है। इस मिसाइल को भी डीआरडीओ के द्वारा ही विकसित किया गया है। इसके साथ ही इस मिसाइल को भारतीय डायनामिक्स लिमिटेड द्वारा निर्मित किया गया है।

अग्नि श्रृंखला:-इसका निर्माण रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) तथा भारतीय डायनामिक्स लिमिटेड (BDL)  द्वारा किया गया। अग्नि मिसाइल की कई श्रृंखलाएं हैं जिनमें अग्नि I, अग्नि II, अग्नि III, अग्नि IV, अग्नि V सम्मिलित है। ट्रांसफर इरेक्टर लांचर अग्नि मिसाइल का लॉन्च प्लेटफार्म है।

पृथ्वी :- यह भारत की पहली स्वदेशी बैलिस्टिक मिसाइल है जिसे एकीकृत निर्देशित मिसाइल विकास कार्यक्रम (IGMDP) द्वारा बनाया गया है। इस मिसाइल का प्रयोग भारतीय सेना में किया जा चुका है। इसके साथ ही समय-समय पर पृथ्वी मिसाइल का परीक्षण किया जाता है जिससे इसकी प्रायोगिक क्षमता की जांच की जा सके। इस मिसाइल की खासियत यह है कि इसके जरिए 500 किलो बम को भी गिराया जा सकता है। यह मिसाइल द्रवित इंजन के जरिए संचालित होता है।

पृथ्वी I :- इस मिसाइल को DRDO तथा भारतीय डायनामिक्स लिमिटेड (BDL) द्वारा बनाया गया है। इसका लॉन्चिंग प्लेटफार्म ट्रांसपोर्टर इरेक्टर लांचर है तथा इसकी रेंज 150 किलोमीटर तक है।

पृथ्वी II :- इस मिसाइल को भी DRDO तथा भारतीय डायनामिक्स लिमिटेड (BDL) द्वारा बनाया गया है। वहीं इसकी रेंज 250 से 350 किलोमीटर है। यह मिसाइल सतह से सतह पर मार कर सकती है तथा आसानी से किसी एंटी बैलेस्टिक मिसाइल को झांसा देकर निशाना साध सकती है।

पृथ्वी III :- इस मिसाइल का लॉन्चिंग प्लेटफार्म ट्रांसपोर्ट इरेक्टर लॉन्चर या अंडरग्राउंड साइलो है तथा इसकी रेंज 350 से 600 किलोमीटर है।

types of missiles
types of missiles

यहाँ पढ़ें : भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नरों की सूची | List of Governors of Reserve Bank of India

सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइलें

  • आकाश:- इस मिसाइल को भारत डायनामिक्स, भारत इलेक्ट्रॉनिक्स के सहयोग से तैयार किया गया है। अकाश मिसाइल का इस्तेमाल भारतीय वायु सेना द्वारा साल 2030 तथा इसके बाद भी किया जाएगा।
  • आकाश MK1S :- इस मिसाइल की रेंज 25 किलोमीटर है तथा इसकी ऊंचाई 18000 मीटर है।
  • बराक सीरीज :- बराक सीरीज में बराक 1 और बराक 8 सम्मिलित है।

हवा से सतह में मार करने वाली मिसाइलें

  • DRDO एंटी रेडिएशन मिसाइल: इस मिसाइल को विकसित किया है, रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन ने। यह भारत की प्रथम एंटी रेडिएशन मिसाइल मानी जाती है। इस मिसाइल की खासियत यह है कि यह दुश्मन के रडार रिट्रांसमिट चिंगलों को आसानी से खराब करने की क्षमता रखती है।

हवा से हवा में मार करने वाली मिसाइलें

  • अस्त्र :- यह मिसाइल एक रक्षा हथियार के रूप में उपयोग में लाया जाता है। इसकी खासियत यह है कि इसका वारहेड 15 किलो का है।
  • K-100 :- यह मिसाइल मध्यम दूरी में कार्य करता है तथा इसकी रेंज 300 से 400 किलोमीटर है। इस मिसाइल को रूस तथा भारत ने मिलकर विकसित किया है।
  • MICA :- इस मिसाइल को भारतीय वायुसेना ने निर्मित किया है।
types of missiles
types of missiles

यहाँ पढ़ें : भारत के राष्ट्रपति के नाम लिस्ट सूची | List of all president of India in hindi

क्रूज़ मिसाइलें

  • ब्रह्मोस ब्रह्मोस को ब्रह्मोस एयरोस्पेस लिमिटेड द्वारा बनाया गया था। हालांकि इसे रूस के सहयोग से ही विकसित किया गया है। दरअसल, साल 1998 में भारत में रूस के साथ ज्वाइंट वेंचर किया था। इस मिसाइल की खासियत यह है कि यह ध्वनि की गति से भी तेज दौड़ सकती है। यह ध्वनि की गति से 2.8 गुना तेज उड़ सकती हैं। इसे दुनिया की सबसे तीव्र क्रूज मिसाइल के नाम से जाना जाता है। इसकी सीमा 290 किलोमीटर की मानी जाती है। इस मिसाइल का वजन 3 टन होता है। इसके साथ ही इसे पनडुब्बी, हवाई, जहाज कहीं से भी दागा जा सकता है। ब्रह्मोस मिसाइल का 2012 में अभ्यास प्रशिक्षण किया गया जिसके बाद से आप यह सेना की दो रेजिमेंट में पूरी तरह से ऑपरेशनल हो चुकी है।
  • ब्रह्मोस II – यह हाइपरसोनिक क्रूज मिसाइल है जिसे भारत में ही डिजाइन किया गया है। इसकी रेंज 300 किलोमीटर है।
  • निर्भय: इस मिसाइल का निर्माण DRDO द्वारा किया गया तथा इसके लांच प्लेटफार्म का नाम वर्टिकल लॉन्च सिस्टम है।
  • एक्सोसेट : इस मिसाइल को फ्रांस में विकसित किया गया तथा इसके रेंज 40 से 180 किलोमीटर है।

रक्षा मिसाइलें

  • पृथ्वी एयर डिफेंस (PAD) :- यह एक एंटी बैलेस्टिक मिसाइल है जिसे भारत में विकसित किया गया है। मिसाइल की ऊंचाई 80 किलोमीटर है।
  • पृथ्वी डिफेंस व्हीकल (PDV) :- यह भी एक एंटी बैलेस्टिक मिसाइल है और इसे भी भारत में ही विकसित किया गया है। इस मिसाइल की ऊंचाई 120 किलोमीटर है।
  • एडवांस एयर डिफेंस (AAD) :- ऊपर लिखित मिसाइलों की तरह यह भी एंटी बैलेस्टिक मिसाइल है। इसे भी भारत में ही विकसित किया गया है। इस मिसाइल की ऊंचाई 30 किलोमीटर है।

यहाँ पढ़ें : भारत के प्रधानमंत्री नाम लिस्ट सूची | List of all Prime Minister of India in hindi

टैंक रोधी मिसाइलें

  • नाग :- इस मिसाइल को फाइबर से बनाया गया है जिस वजह से इसका वजन काफी कम होता है। यह एक तरह की टैंक रोधी मिसाइल है। इस मिसाइल की सबसे खास बात यह है कि इसका धुआं अदृश्य होता है जिससे यह पता नहीं चलता कि यह मिसाइल कहां से आ रही है तथा कहां से निशाना साधा जा रहा है।
  • HELINA :- यह एक एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल है जिसे भारत में उत्पन्न किया गया है। यह मिसाइल 7 से 8 किलोमीटर मारक क्षमता रखती है।
  • अमोघा:- यह भी एक तरह के एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल है जिसे भारत में ही बनाया गया है तथा इसकी रेंज 2.8 किलोमीटर है।

सबमरीन लॉन्च्ड बैलेस्टिक मिसाइलें

  • अश्विन : अश्विनी बैलेस्टिक मिसाइल है जिसकी परिचालन 150 से 200 किलोमीटर तक है। वहीं इसकी स्पीड मच 4.5 है।
  • सागरिका मिसाइ: यह मिसाइल परमाणु हथियार को ले जाने में सक्षम है तथा इसे समुद्र से दागा जा सकता है। सबसे पहले सागरिका को साल 2008 में विशाखापट्टनम के तटीय क्षेत्रों में लांच किया गया था। मिसाइल की मारक क्षमता 700 किलोमीटर है। सबसे खास बात यह है कि यह मिसाइल भारत के अलावा कुछ ही देशों के पास है।
  • K-4 : यह एक बैलेस्टिक मिसाइल है जो 3,500 से लेकर 5,000 किलोमीटर की परिचालन रेंज रखता है। इस मिसाइल का नाम डॉ एपीजे अबदुल कलाम आजाद के सम्मान में रखा गया था।
  • K-5 : इस बैलेस्टिक मिसाइल की परिचालन रेंज 6,000 किलोमीटर है।

भारत के मिसाइल से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण तथ्य

  • साल 1983 में एकीकृत निर्देशित मिसाइल विकास कार्यक्रम (IGMDP) की शुरुआत की गई थी।
  • इस कार्यक्रम को 5 तरह के मिसाइल को विकसित करने के एजेंडे के साथ शुरू किया गया था। इन पांच में मिसाइलों में आकाश, त्रिशूल, पृथ्वी, अग्नि-I, नाग सम्मिलित है। यह सभी मिसाइलें मध्यम दूरी की मिसाइलें हैं।
  • भारत में टेसी थॉमस नामक भारतीय वैज्ञानिक तथा DRDO की अग्नि-4 मिसाइल परियोजना कि निर्देशक को भारत की मिसाइल वूमेन के नाम से जाना जाता है।

FAQ – types of missiles in india in hindi


What are the types of missiles?

च प्रकार हैं, एयर-टू-एयर, एयर-टू-सरफेस, सरफेस-टू-एयर, एंटीशिप और एंटीटैंक,

भारत की पहली मिसाइल कौन थी?

भारत की पहली मिसाइल पृथ्वी को फरवरी 1988 में लॉन्च किया गया था। यह जमीन से जमीन पर मार करने वाली मिसाइल है। यह पहली मिसाइल थी जिसे भारत सरकार के आईजीएमडीपी के तहत विकसित किया गया।

मिसाइल कितनी प्रकार की होती है?

मिसाइलें मुख्यतः दो प्रकार की होती हैं बैलेस्टिक मिसाइल तथा क्रूज मिसाइल।

भारत के सर्वप्रथम बैटलफील्ड मिसाइल कौन सी है?

भारत के सर्वप्रथम बैटलफील्ड मिसाइल पृथ्वी मिसाइल के सफल परीक्षण ने भारतीय रक्षा प्रणाली के विकास क्रम में एक नया अध्याय जोड़ दिया था

भारत की सबसे शक्तिशाली मिसाइल कौन सी है?

भारत की सबसे शक्तिशाली मिसाइल अग्नि-4 है जो भारत की लंबी दूरी वाली मिसाइलों में शामिल है. इसकी रेंज 3500 किमी से ज्यादा है. सबसे ज्यादा दूरी वाली मिसाइलों में टॉप अग्नि-5 है।

मिसाइल कौन बनाता है?

भारत में डीआरडीओ ही मिसाइलें बनाता है. बाकी जिस भी उपकरण या सामान की जरूरत होती है उसे विदेशों से मंगवा लिया जाता है.

निष्कर्ष: किसी भी देश की रक्षा के लिए मिसाइलें महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। यही वजह है कि आज विभिन्न देश आपस में सहयोग से नए-नए मिसाइलों का निर्माण कर रहे हैं जिससे उनके देश में सुरक्षा सुनिश्चित की जा सके।

reference-
types of missiles, Wikipedia

Leave a Comment