भारत के 22 सबसे प्रतिष्ठित पुरस्कारों की सूची | national civilian awards of india in hindi | भारत सरकार के शीर्ष पुरस्कार | भारत का सर्वोत्तम सम्मान कौन सा है?

Table Of Contents
show

भारत के 22 सबसे प्रतिष्ठित पुरस्कारों की सूची | national civilian awards of india in hindi | भारत सरकार के शीर्ष पुरस्कार | भारत का सर्वोत्तम सम्मान कौन सा है? | List of Awards Given by Indian Government in Hindi, भारत के सर्वोच्च पुरस्कार कौन कौन से हैं?, भारत रत्न में क्या क्या दिया जाता है?, Padma Awards, Important Awards in India,


भारत विविधताओं से भरा हुआ देश है यहां विविध संस्कृति, धर्म, रीति रिवाज के लोग पाए जाते हैं। इनमें से कई लोग विविध क्षेत्रों में जैसे मानव अधिकार, नागरिक व्यवस्था, शांति व्यवस्था आदि में अलग-अलग तरीके से देश को समय-समय पर गौरवान्वित करते हैं। यही वजह है कि भारत को वीरों की भूमि के नाम से भी जाना जाता है। इन वीरों को सम्मान देने के लिए भारत में कई तरह के प्रतिष्ठित पुरस्कार प्रदान किए जाते हैं। तो आइए जानते हैं भारत के सबसे महत्वपूर्ण और प्रतिष्ठित पुरस्कारों के बारे में:-

यहाँ पढ़ें : Prime Minister of India list with photo

TOP Awards & Honors in India | Hindi | Important Awards in India

national civilian awards of india

यहाँ पढ़ें : president of India list with photo

भारत के 22 सबसे प्रतिष्ठित पुरस्कारों की सूची | national civilian awards of india in hindi | Important Awards in India | भारत के सर्वोच्च पुरस्कार कौन कौन से हैं? |

national civilian awards of india
national civilian awards of india

भारत रत्न | भारत रत्न में क्या क्या दिया जाता है? | भारत का सर्वोत्तम सम्मान कौन सा है?

भारत रत्न को भारत के सबसे सम्मानित नागरिक पुरस्कारों में गिना जाता है। यह पुरस्कार उन लोगों को दिया जाता है जो किसी भी क्षेत्र में बेहतरीन कार्य करते हैं। यह पुरस्कार दिखने में एक प्लेटिनम पट्टिका जैसा है। जिसके ऊपर ‘सत्यमेव जयते’ लिखा हुआ है। इसके अलावा इसमें एक सनद दिया जाता है। सनद में राष्ट्रपति की मुहर लगी होती है तथा इसे राष्ट्रपति द्वारा ही प्रदान किया जाता है।

यहाँ पढ़ें : RBI Governors of India list with photo

पद्म पुरस्कार | Padma Awards | भारत का दूसरा पुरस्कार कौन सा है?

पद्म पुरस्कारों (Padma Awards) के बारे में तो आप अक्सर सुनते ही होंगे। दरअसल, पद्म पुरस्कार भारत रत्न के बाद सबसे सम्मानित नागरिक पुरस्कारों में से एक माना जाता है। यह पुरस्कार भी विभिन्न विधाओं में बहुत अच्छा कार्य करने वाले नागरिकों को प्रदान किया जाता है। साल 1954 में इस पुरस्कार को स्थापित किया गया था। इन पुरस्कारों की घोषणा हर साल गणतंत्र दिवस के मौके पर की जाती। इस पुरस्कार में सोने-चांदी तथा कांस्य पदक प्रदान किए जाते हैं और इसके साथ ही राष्ट्रपति की मुहर वाली सनद दी जाती है, जिसे राष्ट्रपति स्वयं अपने हाथों से देते हैं। पद्म पुरस्कार तीन श्रेणियों में बटा होता है आइए जानते हैं उनके बारे में:-

  • पद्मा विभूषण : पद्मा विभूषण को भारत का दूसरा सबसे बड़ा नागरिक पुरस्कार कहा जाता है। यह पुरस्कार उन लोगों को प्रदान किया जाता है जो ‘असाधारण तथा विशिष्ट सेवा’ प्रदान करते हैं।
  • पद्म भूषण : पद्म भूषण को भारत के तीसरे सबसे बड़े नागरिक पुरस्कारों में गिना जाता है। इस पुरस्कार को उन लोगों को दिया जाता है जो कि ‘एक उच्च क्रम के विशिष्ट सेवा प्रदान करते हैं बिना जाति, स्थिति, लिंग का भेद किए बगैर।
  • पद्म श्री : पद्मश्री पुरस्कार प्रतिष्ठित सेवा के लिए दिया जाता है। यह पुरस्कार उन नागरिकों को दिया जाता है जो कि उद्योग, खेल, शिक्षा, साहित्य, विज्ञान, कला, चिकित्सा, समाज सेवा, सामाजिक अध्ययन के क्षेत्र में अपना महत्वपूर्ण योगदान देते हैं। यह भारत के चौथे सबसे बड़े नागरिक पुरस्कारों की श्रेणी में आता है।

साहित्य अकादमी पुरस्कार

साहित्य अकादमी पुरस्कार को भी 1954 में स्थापित किया गया था। इस पुरस्कार के अंतर्गत भारत की प्रमुख भाषाओं में साहित्य में योगदान देने वाले व्यक्तियों को यह प्रदान किया जाता है। इस पुरस्कार में लोगों को ₹100000 का चेक तथा साहित्य अकादमी पट्टिका दी जाती है। जानकारी के लिए आपको बता दें, इस पट्टिका को सत्यजीत रे द्वारा डिजाइन किया गया था।

ज्ञानपीठ पुरस्कार

यह साहित्य के क्षेत्र में दिया जाने वाला सर्वोच्च पुरस्कार है। इस पुरस्कार को भारतीय ज्ञानपीठ न्यास द्वारा दिया जाता है। इस पुरस्कार को सिर्फ उन लोगों को दिया जाता है जो संविधान की आठवीं अनुसूची में उल्लेखित भाषाओं में से किसी एक में लेखन कार्य करते हो तथा इस पुरस्कार के लायक हो।  इस पुरस्कार के अंतर्गत राशि व वाग्देवी की कांस्य प्रतिमा तथा एक प्रशस्ति पत्र दी जाती है।

यहाँ पढ़ें : Vice Presidents of India list with photo

परमवीर चक्र (शौर्य पुरस्कार) | सर्वश्रेष्ठ वीरता पुरस्कार कौन सा है?

परमवीर चक्र को युद्ध के मैदान में अच्छा प्रदर्शन करने के लिए प्रदान किया जाता है। इस पुरस्कार को भारत के राष्ट्रपति सशस्त्र कैडेटों को प्रदान करते हैं। वैसे तो सबसे पहले परमवीर चक्र से 1947 में सम्मानित किया गया था। हालांकि इसकी शुरुआत 1950 में हुई।

इस पुरस्कार को 26 जनवरी 1950 में स्थापित किया गया था। इस पुरस्कार में कांस्य पदक दिया जाता है जिस के बीचो-बीच राज्य का प्रतीक तथा उसके चारों तरफ चार इंद्र वज्र बना हुआ होता है। इसके अलावा इसमें विभिन्न राज्यों की तयशुदा धनराशि और राष्ट्रपति की मोहर लगी हुई सनद प्रदान की जाती है। परमवीर चक्र का सीधा अनुवाद होता है ‘परम बहादुर का पहिया’। परमवीर चक्र की अहमियत संयुक्त राज्य अमेरिका के मेडल ऑफ ऑनर तथा यूनाइटेड किंगडम के विक्टोरिया क्रॉस से किसी भी मायने में कम नहीं है।

इतिहास में अपनी नजर डालें तो आपको इस पुरस्कार के महत्व का अंदाजा अपने आप ही लग जाएगा। दरअसल यह पुरस्कार स्वतंत्र भारत के 70 सालों में सिर्फ 21 बार ही दिया गया है। परमवीर चक्र से सबसे पहले मेजर सोमनाथ शर्मा को सम्मानित किया गया था।

इस पुरस्कार के अलावा वीरता पुरस्कारों में अशोक चक्र महावीर चक्र, वीर चक्र, शौर्य चक्र, कीर्ति चक्र आदि गिने जाते हैं। आइए जानते हैं उनके बारे में:-

अशोक चक्र

इस पुरस्कार को भारत में शांति के समय सैन्य सेवा में धैर्य व साहस दिखाने के लिए दिया जाता है। इस पुरस्कार को 1952 में स्थापित किया गया था। इसके अंतर्गत एक कांस्य पदक दिया जाता है जिसके मध्य में अशोक चक्र बना होता है। इसके अलावा इसमें विभिन्न राज्यों की तयशुदा धनराशि तथा राष्ट्रपति की मुहर लगी हुई सनद प्रदान की जाती है।

महावीर चक्र

परमवीर चक्र के बाद महावीर चक्र दूसरा सबसे प्रतिष्ठित वीरता पुरस्कार माना जाता है। परमवीर चक्र सिर्फ उन लोगों को दिया जाता है जो भूमि, वायु, समुद्र में दुश्मनों का बहादुरी से सामना करते हैं। इस पुरस्कार की स्थापना 1950 में की गई थी। जब 1971 में भारत और पाकिस्तान का युद्ध हुआ था। उस दौरान यह पुरस्कार 11 भारतीय वायु सेना के अधिकारियों को दिया गया था।

वीर चक्र

वीर चक्र उन लोगों को दिया जाता है जो कि युद्ध के मैदान में बहादुरी से दुश्मनों का सामना करते हैं तथा अच्छा प्रदर्शन करते हैं। यह पुरस्कार वीरता पुरस्कारों की श्रेणी में तीसरा सर्वोच्च पुरस्कार माना जाता है। इस पुरस्कार की शुरुआत 1950 में की गई थी।

कीर्ति चक्र

अशोक चक्र के बाद कीर्ति चक्र दूसरा सर्वोच्च सैन्य शांति पुरस्कार माना जाता है। इस पुरस्कार की शुरुआत 1952 में हुई थी तथा यह सिर्फ उन्हीं लोगों को दिया जाता है जो कि युद्ध के मैदान में अदम्य साहस के साथ प्रदर्शन करते हैं।

शौर्य पुरस्कार

शौर्य पुरस्कार अशोक चक्र तथा कीर्ति चक्र के बाद तीसरा सर्वोच्च शांति पुरस्कार है। इस पुरस्कार की स्थापना 1952 में हुई थी तथा यह उन लोगों को दिया जाता है जिन्होंने दुश्मनों के साथ सीधी कार्यवाही तो नहीं की लेकिन अपना महान साहस और आत्म बलिदान देने का कार्य किया है।

यहाँ पढ़ें : Election Commissioner of India list with photo

राजीव गांधी खेल रत्न

जैसा कि आप जानते हैं भारत में कई खिलाड़ी अलग-अलग खेलों में बहुत अच्छा प्रदर्शन करते हैं तथा इनके लिए अलग-अलग तरह के पुरस्कारों को प्रदान किया जाता है। इन्हीं खेल पुरस्कारों में सबसे प्रतिष्ठित पुरस्कार राजीव गांधी खेल रतन पुरस्कार का नाम आता है। इस पुरस्कार का नाम भारत के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी जी के नाम पर रखा गया है।

इस पुरस्कार को उन लोगों को दिया जाता है जो कि बीते 4 सालों के दौरान खेल में बेहतरीन प्रदर्शन करते हैं। इस पुरस्कार को साल 1991 में स्थापित किया गया। इसके अंतर्गत राष्ट्रपति की सदन लगी हुई मोहर ₹750000 तथा एक पदक दिया जाता है जिसमें हिंदी और अंग्रेजी में राजीव गांधी खेल रत्न में लिखा होता है व इस पुरस्कार में राज्य का प्रतीक भी उकेरा हुआ होता है

द्रोणाचार्य पुरस्कार

आप द्रोणाचार्य के बारे में तो जानते होंगे। दरअसल, द्रोणाचार्य हिंदू धार्मिक कथाओं के मुताबिक अर्जुन के गुरु थे जिन्होंने अर्जुन को बेहतरीन धनुर्धर बनाया था इसीलिए इस पुरस्कार को खेल में बेहतरीन कोचिंग प्रदान करने के लिए दिया जाता है। यह पुरस्कार मुख्यतः खेल प्रशिक्षकों को दिया जाता है। इस पुरस्कार की शुरुआत 1985 में हुई। इस पुरस्कार के अंतर्गत ₹700000 की राशि तथा गुरु द्रोणाचार्य की कांस्य प्रतिमा और एक औपचारिक पोशाक दी जाती है।

अर्जुन पुरस्कार

अर्जुन पुरस्कार भी खेल के क्षेत्र में दिए जाने वाले पुरस्कारों में से एक है। इस पुरस्कार को राष्ट्रीय तथा क्षेत्रीय स्तर पर खेले जाने वाले खेलों में अच्छा प्रदर्शन करने वाले को दिया जाता है। हालांकि वर्तमान संशोधन के मुताबिक यह सिर्फ उन खिलाड़ियों को दिया जाता है जो कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पिछले 4 वर्षों में लगातार अच्छा प्रदर्शन करते हैं।

इस पुरस्कार की शुरुआत 1961 में हुई थी। इस पुरस्कार के अंतर्गत अर्जुन की एक प्रतिमा और ₹500000 की राशि प्रदान की जाती है।

यहाँ पढ़ें : भारत के बांध और उनके राज्य की सूची

इंदिरा गांधी शांति पुरस्कार

इंदिरा गांधी शांति पुरस्कार को सिर्फ भारत के ही नहीं बल्कि पूरे विश्व की बेहतरीन संस्थाओं तथा लोगों को दिया जाता है यह पुरस्कार उन लोगों को दिया जाता है जिन्होंने दुनिया में शांति तथा आर्थिक सुधारों में अपने महत्वपूर्ण योगदान दिए हैं। इस पुरस्कार की शुरुआत 1986 में हुई इसके अंतर्गत 2.5 मिलियन रुपए की राशि तथा एक प्रमाण पत्र प्रदान किया जाता है।

ध्यानचंद पुरस्कार

मेजर ध्यानचंद को हॉकी का जादूगर कहा जाता था इसीलिए इस पुरस्कार को हॉकी के सबसे दिग्गज खिलाड़ियों को दिया जाता है। यह पुरस्कार भारत सरकार द्वारा दिए जाने वाले लाइफ टाइम अचीवमेंट पुरस्कारों में सबसे प्रतिष्ठित पुरस्कार माना जाता है। इस पुरस्कार को 2002 में शुरू किया गया था। इसके अंतर्गत ₹50000 की राशि तथा मेजर ध्यानचंद की कांस्य से बनी हुई मूर्ति और मेडल प्रदान किया जाता है। इसके साथ ही इसमें एक प्रशस्ति पत्र भी दिया जाता है।

वायु/जल/थल पदक

युद्ध के दौरान जल सेना, थल सेना, वायु सेना द्वारा साहस और बेहतरीन प्रदर्शन के लिए पुरस्कार को प्रदान किया जाता है। इसके अंतर्गत एक मेडल दिया जाता है जिसमें दो एंकर और एक हिमालय का चील बना होता है।

राष्ट्रीय बहादुरी पुरस्कार

भारत में यह पुरस्कार 6 से 18 साल की उम्र के बीच के बच्चों को दिया जाता है। यह उन बच्चों को दिया जाता है जिन्होंने विषम परिस्थितियों में अपना साहस दिखाया हो। इस पुरस्कार को 5 भागों में बांटा जाता है जिसमें भारत पुरस्कार सबसे प्रतिष्ठित माना जाता है। इसके अंतर्गत 1 पदक तथा राष्ट्रपति की मुहर लगी हुई सनद प्रदान की जाती है। इसके अलावा उन छात्रों को इंदिरा गांधी स्कॉलरशिप के अंतर्गत आगे की पढ़ाई के लिए वित्तीय मदद प्रदान की जाती है।

यहाँ पढ़ें : भारत में वन्यजीव अभ्यारण्य की सूची राज्यवार

गांधी शांति पुरस्कार

महात्मा गांधी शांति के परिचायक थे इसीलिए गांधी शांति पुरस्कार उन लोगों और संस्थाओं को दिया जाता है, जो सामाजिक, आर्थिक तथा राजनीतिक क्षेत्रों में गांधीवादी तरीके से कार्य करते हैं। इस पुरस्कार की शुरुआत 1995 में गांधीजी के 125वीं जयंती में की गई। भारत सरकार द्वारा यह पुरस्कार प्रदान किया जाता है जिसके अंतर्गत 1,00,00,000 रुपए की धनराशि और एक पट्टिका प्रदान की जाती है जिसमें गांधीजी अंकित होते हैं।

इसरो को साल 2014 में गांधी शांति पुरस्कार से सम्मानित किया गया। इसके अलावा रामकृष्ण मिशन तथा भारतीय विद्या मंदिर को इस पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। गांधी शांति पुरस्कार अत्यधिक हिंसा के बीच समाज के लोगों के मन में अहिंसा तथा मूक लड़ाई के प्रतीक के रूप में खड़ा है।

जवाहरलाल नेहरू पुरस्कार

भारत सरकार द्वारा यह पुरस्कार अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पंडित जवाहरलाल नेहरू के सम्मान में प्रदान किया जाता है। इस पुरस्कार से साल 1995 में सबसे पहले सम्मानित किया गया था। इसके पहले विजेता म्यांमार के यू शांट थे। उनके बाद यह पुरस्कार संयुक्त राज्य अमेरिका के मार्टिन लूथर किंग जूनियर को दिया गया था। इस पुरस्कार को मुख्यतः सद्भावना, दोस्ती, एकजुटता तथा अंतरराष्ट्रीय समझ विकसित करने के लिए दिया जाता है।

भाषा सम्मान

यह पुरस्कार उन लोगों को दिया जाता है जो कि 24 भाषाओं के अलावा क्लासिकल व मध्यकालीन साहित्य में बेहतर प्रदर्शन करते हैं। इस पुरस्कार की शुरुआत 1996 में की गई थी। इसके अंतर्गत एक स्मरण पट्टिका तथा ₹100000 का चेक दिया जाता है।

युवा पुरस्कार

युवा पुरस्कार साहित्य के क्षेत्र में उभरते साहित्यकारों को दिया जाता है। यह पुरस्कार सिर्फ 35 वर्ष से कम आयु के साहित्यकारों को प्रदान किया जाता है। इसके अंतर्गत ₹50000 का चेक तथा तांबे की एक पट्टिका प्रदान की जाती है।

डॉ. बी सी रॉय पुरस्कार

यह पुरस्कार चिकित्सा के क्षेत्र में दिया जाने वाला सबसे प्रतिष्ठित पुरस्कार है। इस पुरस्कार को भारत के राष्ट्रपति प्रदान करते हैं इस पुरस्कार की स्थापना भारतीय चिकित्सा परिषद द्वारा की गई थी।

FAQ – national civilian awards of india in hindi


साहित्य के क्षेत्र में सबसे बड़ा पुरस्कार कौन सा है?

साहित्य के क्षेत्र में सबसे बड़ा पुरस्कार साहित्य अकादमी पुरस्कार है

भारत का शिक्षा का सबसे बड़ा पुरस्कार कौन सा है?

माधव चौहान को शिक्षा के क्षेत्र का नोबेल पुरस्कार माना जाता है

साहित्य के क्षेत्र में भारत का सर्वोच्च सम्मान कौन सा है?

भारत में साहित्य के लिए दिया जाने वाला सर्वोच्च साहित्यिक सम्मान ज्ञानपीठ पुरस्कार है।

भारत में कितने तरह के पुरस्कार दिए जाते हैं?

भारत रत्न, परम वीर चक्र, पद्म सम्‍मान, शौर्य चक्र, अशोक चक्र इनमें से प्रमुख हैं।

भारत रत्न प्राप्त करने वाली पहली महिला कौन है?

भारत रत्न से सम्मानित भारत की पहली महिला इंदिरा गांधी थीं

Highest award in India

पद्म पुरस्कार भारत के सर्वोच्च नागरिक सम्मानों में से एक है ।

भारत का दूसरा पुरस्कार कौन सा है?

भारत का दूसरा पुरस्कार पद्म विभूषण है

सर्वश्रेष्ठ वीरता पुरस्कार कौन सा है?

सर्वश्रेष्ठ वीरता पुरस्कार अशोक चक्र, कीर्ति चक्र और शौर्य चक्र है।

निष्कर्ष : इन पुरस्कारों के अलावा भी भारत में विभिन्न क्षेत्रों में कई अन्य महत्वपूर्ण पुरस्कार भी प्रदान किए जाते हैं। इन्हीं पुरस्कारों में से एक है मध्य प्रदेश सरकार द्वारा दिया जाने वाला कालिदास सम्मान। यह सम्मान उन व्यक्तियों को दिया जाता है जो कि शास्त्रीय नृत्य, शास्त्रीय संगीत, दृश्य कला, रंगमंच जैसे क्षेत्रों से संबंधित होते हैं। इसके अलावा नेहरू साहित्य पुरस्कार आरडी बिरला राष्ट्रीय पुरस्कार राष्ट्रीय बाल पुरस्कार जैसे कई महत्वपूर्ण पुरस्कार लोगों को दिए जाते हैं।

Leave a Comment