in ,

Plagiarism kya hai – What is Plagiarism ?

Plagiarism जिसे हिंदी में साहित्यिक चोरी के नाम से जाना जाता है साहित्यिक चोरी का मतलब होता है किसी दूसरे के द्वारा लिखे हुए आर्टिकल्स फोटो या वीडियो को चोरी कर लेना जब आप किसी दूसरे के आर्टिकल फोटो या वीडियो को उस इंसान की Permission के बिना अपने वेबसाइट ब्लॉग या किसी अन्य स्थान पर उसका इस्तेमाल कर लेते हैं या किसी और को बेच देते हैं तो वह Plagiarism या साहित्यिक चोरी कहलाता है

आज हम इंटरनेट पर बहुत से  Blog Post, Videos देखते हैं जहां सभी पोस्ट एक दूसरे से बहुत अलग होते हैं लेकिन कभी-कभी ध्यान पूर्वक देखने पर आपको एक ही जैसे वाक्य दो अलग पोस्ट पर देखने को मिल जाते होंगे। जिनमें से एक पोस्ट पर लिखे गए वाक्य तो उस इंसान के खुद के विचार हो सकते हैं, लेकिन दुसरे पोस्ट पर लिखे गए वाक्य जाहिर है की चोरी के ही होंगे।

आज भी बहुत से लोग ऐसे हैं जिन्हें Plagiarism के बारे में कोई समझ नहीं है उन्हें यह तक नहीं पता होता कि Plagiarism होता क्या है?

यदि आप एक Blog Writer और Content writer है या आपका खुद का कोई Website है, तो आपके लिए यह जानना बहुत जरूरी है, की Plagiarism क्या होता है Plagiarism कैसे आता है और Plagiarism Checker क्या होता है या इससे हमें क्या नुकसान पहुंचता है ?

यहाँ पढ़ें : ऑनलाइन / इंटरनेट से पैसे कैसे कमाए

आइए  सबसे पहले हम जानते हैं कि Plagiarism क्या होता हैPlagiarism kya hota hai

जब भी हम कोई नई Article या Story अपने Website और Blog के लिए लिखते हैं या लिखवाते हैं तो हमें इस बात का ध्यान हमेशा रखना चाहिए, कि उस में लिखे गए एक-एक वाक्य आपके खुद के शब्दों में हो, ना की किसी दूसरे के Website से चोरी कर के लिखी गये हो।

 लेकिन बहुत से लोग आज भी  ऐसे हैं, जिन्हें Plagiarism  के बारे में कोई अच्छी जानकारी नहीं है और वह किसी भी दूसरे Website या Blog Post के वाक्यों और शब्दों को Copy करके अपने website या Blog Post पर Publish कर देते हैं।

यह Post लिखने का सबसे गलत तरीका है, इस तरह के Post लिखने का कोई फायदा नहीं होता। वे दूसरों की website या Blog Post से Content चोरी करके अपने website पर Publish कर देते है।

आपके Blog Post या website पर जितना अधिक Plagiarism वाले Content होंगे, Google और अन्य Search Engine इन websites और Post को अपने Rank में नहीं लाएंगे। विभिन्न प्रकार के Search Engine भी Copy की हुई Content को नजर अंदाज कर देते हैं।

Plagiarism checker kya hota hai

जब आप कोई Content लिख चुके होते हैं और आप यह पता करना चाहते हैं, कि आपकी लिखी गई Content किसी और Content से Copy की गयी है या नहीं, तो इस बात की पुष्टि करने के लिए इंटरनेट पर बहुत से ऐसे Online Tools मौजूद है। जिसका इस्तेमाल करके आप पता लगा सकते हैं, कि आपकी Content Unique या किसी और की कंटेंट से नकल की गयी  है।

इन Online Tools की मदद से आप अपने Content के Unique होने का पता लगा सकते हैं। इन्ही Tools  को Plagiarism checker कहां जाता है।

वे लोग जो Blog Post और Website पर लिखते हैं,  उनके लिए Plagiarism Checker बहुत काम की चीज है। वह अपनी द्वारा लिखी गई Articles और Stories को उस में डाल कर आसानी पूर्वक पता कर सकते हैं, कि  उनके द्वारा लिखी गई Articles कितनी unique है।

यदि आपके  Articles किसी और website द्वारा Copy की गई होगी, तो Plagiarism Checker आपको बता देगा, की यह Article कौन सी Website से Copy की गई है और साथ ही उन Website के Link भी आपके साथ Share कर देगा।

यहाँ पढ़ें : डिजिटल मार्केटिंग क्या है

Plagiarism checker tool ka use kyu karna chahiye

Plagiarism Checker Tools का Use  हमें बहुत से कारणों की वजह से करना चाहिए जैसे कि,

  • यदि आप अपनी Website या Blog के लिए किसी और Content writer को Hire करते हैं और वह आपको Articles लिख कर देते हैं, तो आप Plagiarism Checker Tools के द्वारा उन Articles को उसमें Copy करके Check कर सकते हैं, कि वह Articles कितना Unique है और कितना दूसरे Content से Copy किया हुआ।
  • Plagiarism Checker Tools का सबसे बड़ा फायदा यह भी होता है, कि यह आपको बिल्कुल Original Content बनाने में सहायता करता है। यदि कहीं भी एक वाक्य Copy किया हुआ होता है, तो इसके द्वारा आसानी से पता लगाया जा सकता है और साथ ही  आप यह भी पता लगा सकते हैं, कि आपका Original Content कोई और Copy कर रहा है या नहीं।

Plagiarism Checker Tools kaun-kaun se hai

इंटरनेट पर Plagiarism Checker Tools दो प्रकार के मौजूद है,

  1. Premium, Plagiarism Checker Tools
  2. Free, Plagiarism Checker Tools.

आप दोनों में से किसी भी Plagiarism Checker Tools का इस्तेमाल करके अपने Articles ko Plagiarism Free बना सकते हैं।

वैसे तो Free Plagiarism Tools भी अच्छा रिजल्ट देता है, लेकिन कुछ लोग Free Plagiarism Tools को अच्छा नहीं मानते और वे लोग Premium Features वाले Plagiarism Tools को पहली तर्जी देते हैं।

Plagiarism Tool Free – Small SEO Tools

Plagiarism kya hai - small seo tool

Small SEO Tools एक Free Plagiarism Tools है, जो आपको Google पर आसानी से मिल जाएगा इसके लिए आपको Google पर Plagiarism Checker Tools करके search करना होगा।

Small SEO Tools, on करते ही आपको एक Text box दिखाई देगा, उस Text box में आप अपने Content को डाल कर चेक कर सकते हैं, कि आपका Content किसी और Website के Content के साथ मिल रहा है या नहीं। आप इसमें एक बार में केवल 1000 words का Content ही चेक कर सकते हैं।

Plagiarism Tool Free –Duplichecker Tools

Plagiarism kya hai - duplichecker

Duplichecker भी एक Free Plagiarism Tools है। इसकी मदद से आप अपने Content को चेक कर सकते हैं,  कि आपका Content,  Copy किया गया है या नहीं। Duplichecker एक अच्छा Plagiarism Tools है। इसमें आपको बहुत से अलग फीचर्स भी देखने को मिलेंगे, इसमें आप Artical के लिए Keywords भी Search कर सकते हैं।

Duplichecker में आप एक बार में केवल 1000 words ही चेक कर सकते हैं। आप इसमें हिंदी और इंग्लिश दोनों ही प्रकार के कंटेंट्स डाल कर Plagiarism check कर सकते हैं,  कि वह Content चोरी का है या नहीं।

Premium Plagiarism Checker Tool – Copyscape

Plagiarism kya hai - copyscape

Copyscape एक Free और Premium दोनों ही प्रकार का Plagiarism Checker Tools है। आप इसमें URL को इंटर करके भी चेक कर सकते हैं, कि आपका Content Copy है या नहीं।

यह सुविधा आपको इसमें Free मिलेगी, लेकिन यदि आप Piece Of Content  या Document  Check करना चाहते हैं,  तो आपको उसके लिए Pay करने की आवश्यकता पड़ेगी।

Pricing

Plagiarism kya hai - copyscape

Premium Plagiarism Checker Tool – Grammarly

Plagiarism kya hai

Grammarly एक Grammar Checking Tools है, जिसमें आप Plagiarism भी check कर सकते हैं, यह बहुत ही पावरफुल Plagiarism Checking Tools है।  लेकिन इसमें आप केवल English Content ही चेक कर सकते हैं। यह एक Premium Plan Plagiarism Checker Tools है।

 इसमें आप जब भी कोई Content लिखते हैं,  तो Plagiarism Checking वाले Option को बंद करके आप लिखने के साथ ही साथ यह भी  पता कर सकते हैं कि आपका Content Copy है या नहीं।

Pricing

Plagiarism kya hai

Premium Plagiarism Checker Tool – Quetext

Plagiarism kya hai

Quetext एक प्रीमियम plagiarism checker टूल है। अब तक हमने जितने भी चेकर के बारे में बात की है वह सब अपनी अपनी जगह पे अच्छे हैं।  पर Quetext सबसे एक्यूरेट रिजल्ट देता है और गजब की बात यह है की यह टूल न की सिर्फ English का plagiarsim चेक करता है बल्कि Hindi  का भी plagiarsim  चेक करता है

Quetext  में आप अपना कंटेंट सीधे पेस्ट कर सकते हैं और वह आपको बता देगा की आपका कंटेंट plagiarised  है या नहीं। आपको  free ऑप्शन भी मिलता है Quetext  में पर वह बहुत ही लिमटेड  है।  अगर आप Quetext  को अच्छी  तरह से इस्तेमाल करना चाहते हैं तो आपको इसका पेड प्लान ले लेना चाहिए।

Pricing

Plagiarism kya hai

Plagiarism के फायदे

  • जैसा कि आपने ऊपर पढा है, की  किसी और कंटेंट को  कॉपी करना बहुत ही गलत बात है, इसलिए इसके फायदे तो नहीं हो सकते पर फिर भी हम कुछ Points पर चर्चा ज़रुर करेंगे।

यदि आप किसी और के website या Blog से Content Copy करते हैं,  तो आपका समय बचेगा और आप अपने Article को बहुत जल्दी Complete कर लेंगे और  आपको ज्यादा लिखने की जरूरत भी  नहीं पड़ेगी।

आप अगर किसी का  Content Copy करके लिखते हैं, तो आपको ज्यादा मेहनत करने की जरूरत नहीं पड़ती आप बस  लिखी लिखाई पोस्ट को आपने Website पर Upload कर सकते है।

Plagiarism के नुकसान

Plagiarism के फायदे तो ज्यादा नहीं थे, लेकिन इसके नुकसान काफी है।

यदि आप किसी के Content को Copy करके अपनी Website पर लिखते हैं, तो आपको इससे काफी नुकसान उठाने पड़ सकते हैं क्योंकि कॉपी किया हुआ आर्टिकल गूगल पर कभी Rank नहीं कर पाता।

यदि आप ज्यादा Plagiarism वाले कंटेंट लिखते हैं, तो Google आपकी Website या Blog को बंद कर सकता है।

किसी के शब्दों को चोरी करना Copyright Issue मे शामील करता है, यानी कि Copyright Act के कारण आपको इसके लिए जुर्माना भी अदा करना पड़ सकता है।

यदि आप पर Copyright Act का जुर्माना लग गया है, और यदि आप समय पर जुर्माना नहीं भर पाएंगे तो आप को जेल की सजा भी हो सकती है।

मुझे उम्मीद है कि आप को इस पोस्ट को पढ़कर अच्छे से समझ गया होंगा कि Plagiarism क्या है और Plagiarism Checker किसे कहते हैं अब यदि आप लिखने के शौकीन है और Blog तथा website पर लिखने का काम करते हैं तो Plagiarism Check करना बिल्कुल ना भूले।

Written by Amit Singh

I am a technology enthusiast and write about everything technical. However, I am a SAN storage specialist with 15 years of experience in this field. I am also co-founder of Hindiswaraj and contribute actively on this blog.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

balo ko chamakdar banane ke upay

रेशमी और चमकदार बालों के लिए घरेलू उपाय – 14 Best : balo ko chamakdar banane ke gharelu upay

rukhi twacha ke gharelu upay

बेजान और रुखी त्वचा के लिए घरेलू उपाय – 6 Best: rukhi twacha ke gharelu upay