in ,

डिजिटल मार्केटिंग – Digital Marketing

डिजिटल मार्केटिंग क्या है – What is Digital Marketing?

डिजिटल मार्केटिंग ऑनलाइन चैनलो, इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों और डिजिटल तकनीकों का उपयोग करके किसी व्यवसाय, व्यक्ति, उत्पाद या सेवा की मार्केटिंग और विज्ञापन है। कुछ डिजिटल मार्केटिंग उदाहरणों में सोशल मीडिया, ईमेल, पे-पर-क्लिक (पीपीसी), सर्च इंजन अनुकूलन (एसईओ), और बहुत कुछ शामिल हैं।

दूसरे शब्दो में, डिजिटल मार्केटिंग में इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस या इंटरनेट का उपयोग करने वाले सभी मार्केटिंग प्रयास शामिल हैं। डिजिटल मार्केटिंग सोशल मार्केटिंग, सर्च मार्केटिंग और ईमेल मार्केटिंग जैसे ऑनलाइन मार्केटिंग रणनीति का लाभ उठाकर उत्पादों और सेवाओं को बढ़ावा देने और बेचने का कार्य है।

डिजिटल मार्केटिंग उपभोक्ताओं तक पहुंचने के लिए इंटरनेट आवश्यक है। डिजिटल मार्केटिंग एक व्यापक क्षेत्र है, जिसमें ईमेल, कंटेंट मार्केटिंग, सर्च प्लेटफॉर्म, सोशल मीडिया और बहुत कुछ के माध्यम से ग्राहकों को आकर्षित करना शामिल है।

डिजिटल मार्केटिंग क्या है - What is Digital Marketing?

डिजिटल मार्केटिंग पारंपरिक मार्केटिंग से कैसे अलग है – How is Digital Marketing different from Traditional Marketing?

पारंपरिक मार्केटिंग ऑफलाइन चैनलों का उपयोग करता है, जबकि डिजिटल मार्केटिंग ऑनलाइन चैनलों का उपयोग करता है। किसी व्यवसाय और उसके आॅफर को बढ़ावा देने के लिए पारंपरिक मार्केटिंग के रूप में, होर्डिंग, रेडियो विज्ञापन और समाचारों का उपयोग कर सकता हैं, जबकि डिजिटल मार्केटिंग के रूप में, सोशल मीडिया, ब्लॉग पोस्ट और ईमेल का उपयोग कर सकता है।

डिजिटल और इंटरनेट मार्केटिंग में अन्तर – Difference between Digital and Internet Marketing

इंटरनेट मार्केटिंग डिजिटल मार्केटिंग से भिन्न है। इंटरनेट मार्केटिंग विज्ञापन है जो पूरी तरह से इंटरनेट पर है, जबकि डिजिटल मार्केटिंग मोबाइल उपकरणों के माध्यम से, मेट्रो प्लेटफॉर्म पर, वीडियो गेम में या स्मार्टफोन ऐप के माध्यम से हो सकती है।

डिजिटल मार्केटिंग के प्रकार – Types of Digital Marketing

डिजिटल मार्केटिंग के प्रकार - Types of Digital Marketing

वेबसाइट मार्केटिंग (Website Marketing)

एक वेबसाइट सभी डिजिटल मार्केटिंग गतिविधियों का होता है। यह अकेले ही बहुत शक्तिशाली चैनल या माध्यम है और यह विभिन्न प्रकार के ऑनलाइन मार्केटिंग कार्यक्रमों को निष्पादित करने के लिए आवश्यक माध्यम भी है। एक वेबसाइट को स्पष्ट और यादगार तरीके से एक ब्रांड, उत्पाद और सेवा का प्रतिनिधित्व करना चाहिए। यह तेज, मोबाइल के अनुकूल और उपयोग में आसान होना चाहिए।

वेबसाइट डिजिटल मार्केटिंग प्रयासों का केंद्र बिंदु होता है। ब्रांड और संगठन इसे वितरित करने के लिए अन्य माध्यमों का उपयोग करते हुए कन्टेन्ट को होस्ट करने के लिए वेबसाइटों का उपयोग करते हैं। उदाहरण के लिए, फाइल का डाउनलोड, उत्पाद या सेवा की बुकिंग, और इसी तरह कार्य।

ईमेल मार्केटिंग (E-mail Marketing)

ईमेल मार्केटिंग अभी भी सबसे प्रभावी डिजिटल मार्केटिंग चैनलों में से एक है। ईमेल मार्केटिंग संभावित ग्राहकों या किसी ब्रांड में रुचि रखने वाले लोगों के संपर्क में आने का एक सरल माध्यम है। यह निरंतर आधार पर अपने दर्शकों के साथ संवाद करने के लिए एक प्रभावी चैनल है। ईमेल सब्सक्राइबर आपके सब्सक्राइबर बेस को बढ़ाने, नए ग्राहकों को ऑनबोर्ड करने, छूट और ऑफर को बढ़ावा देने तथा कन्टेन्ट को वितरित करने के लिए उपयोगी है।

कंपनियां अपने दर्शकों के साथ संवाद करने के तरीके के रूप में ईमेल मार्केटिंग का उपयोग करती हैं। ईमेल का उपयोग अक्सर सामग्री, छूट को बढ़ावा देने के लिए किया जाता है, साथ ही साथ लोगों को व्यवसाय की वेबसाइट पर निर्देशित करने के लिए भी किया जाता है। ईमेल मार्केटिंग में आपके द्वारा भेजे जाने वाले ईमेलों के प्रकारों में शामिल हैं-

  • ब्लॉग सदस्यता समाचार पत्र
  • वेबसाइट विजिटर को ईमेल का अनुसरण करने के लिए
  • ग्राहक के लिए स्वागत मेल
  • कार्यक्रम के सदस्यों के लिए छुट्टी का प्रचार।
  • ग्राहक के फीडबैक के लिए ईमेल से सुझाव या शिकायत

वीडियो मार्केटिंग (Video Marketing)

YouTube दूसरा सबसे लोकप्रिय सर्च इंजन बन गया है। अधिकतर उपयोगकर्ता YouTube का उपयोग उत्पाद को खरीदने, किसी उत्पाद के बारे में जानने, सीखने और समीक्षा पढ़ने के लिए करते है। वीडियो मार्केटिंग का उपयोग करने के लिए फेसबुक वीडियो, इंस्टाग्राम तथा टिकटॉक सहित कई वीडियो मार्केटिंग प्लेटफॉर्म हैं। कंपनियां वीडियो के साथ सबसे अधिक एसईओ, कन्टेन्ट विज्ञापन और व्यापक सोशल मीडिया मार्केटिंग कार्यक्रमों को एक साथ एकीकृत करके पाती हैं।

digital marketing

कंटेंट मार्केटिंग (Content Marketing)

संपूर्ण डिजिटल मार्केटिंग रणनीति मुख्य रूप से कंटेंट निर्माण पर निर्भर होती है। आप कंटेंट मार्केटिंग रणनीति के माध्यम से अपने खरीदारों को सूचित करने, मनोरंजन करने, प्रेरित करने या उन्हें मनाने के लिए कंटेंट बना सकते हैं। कंटेंट मार्केटिंग का लक्ष्य कंटेंट के उपयोग के माध्यम से संभावित ग्राहकों तक पहुंचना है।

कंटेंट आमतौर पर एक वेबसाइट पर प्रकाशित की जाती है और फिर सोशल मीडिया, ईमेल मार्केटिंग, एसईओ या पीपीसी अभियानों के माध्यम से प्रचारित की जाती है। कंटेंट मार्केटिंग के उपकरण में ब्लॉग, ईबुक, ऑनलाइन पाठ्यक्रम, इन्फोग्राफिक्स, पॉडकास्ट और वेबिनार शामिल हैं।

ब्लॉग पोस्ट (Blog Post)

किसी कंपनी का अपने उत्पाद पर ब्लॉगया लेख लिखना और उसे प्रकाशित करना, कंपनी के उद्योग विशेषज्ञता को प्रदर्शित करने में मदद करता है। कंपनी के लिए सर्च ट्रैफिक उत्पन्न करता है। अंततः आपको अपनी बिक्री टीम के लिए वेबसाइट विजिटर को लीड करने के लिए अधिक अवसर प्रदान करता है।

इन्फोग्राफिक्स (Infographics)

कभी-कभी, पाठक या उपयोगकर्ता चाहते हैं कि आप उत्पाद को दिखाएं, न कि बताएं। इन्फोग्राफिक्स दृश्य सामग्री का एक रूप है जो वेबसाइट विजिटरों को एक अवधारणा की कल्पना करने में मदद करता है जिसे विजिटर आसानी से समझ तथा सीख सकते हैं।

एफिलेटेड मार्केटिंग (Affiliate Marketing)

एफिलेटेड मार्केटिंग की अवधारणा कमीशन-आधारित बिक्री के समान है। कम्पनियां अपने सहयोगियों को कस्टम लिंक प्रदान करते हैं। सहयोगी हर बार किसी व्यक्ति या उपयोगकर्ता को अपने कस्टम लिंक के माध्यम से कोई उत्पाद खरीदवाता है, जिसके लिए उसे उस उत्पाद पर कम्पनी की तरफ से विशिष्ट कमीशन मिलता हैं। अमेजन जैसी कई प्रसिद्ध कंपनियां एफिलेटेड मार्केटिंग का काम करवाते हैं तथा अपने उत्पादों की ब्रिक्री पर प्रति माह लाखों डॉलर का भुगतान करते हैं।

मोबाइल मार्केटिंग (Mobile Marketing)

2020 में दुनिया भर में स्मार्टफोन उपयोगकर्ताओं की संख्या 3.5 बिलियन तक है। कुछ ब्रांड अपने उपयोगकर्ताओं के साथ अपने स्मार्टफोन पर मोबाइल एप्लिकेशन, ईमेल, मोबाइल-फ्रेंडली वेबसाइट और सोशल मीडिया के माध्यम से जुड़ते हैं। उपयोगकर्ताओं के साथ जुड़कर, ब्रांड अपनी मार्केटिंग रणनीतियों का अनुकूलन कर सकते हैं और समय पर संदेश तथा उत्पाद के लिए आफर भेज सकते हैं।

मोबाइल मार्केटिंग (Mobile Marketing)

प्रति क्लिक भुगतान (पीपीसी) (Per click payment)

पीपीसी आपके विज्ञापन को क्लिक किए जाने पर हर बार प्रकाशक को भुगतान करके आपकी वेबसाइट पर ट्रैफिक लाने का एक तरीका है। पीपीसी के सबसे सामान्य प्रकारों में से एक Google विज्ञापन है, जो आपको Google के सर्च इंजन परिणाम पृष्ठों पर शीर्ष स्लॉट के लिए भुगतान करने की अनुमति देता है जो आपके द्वारा दिए गए लिंक के ‘प्रति क्लिक’ पर हैं।

       अन्य चैनल जहां आप पीपीसी का उपयोग कर सकते हैं, निम्न है-

  • फेसबुक पर भुगतान किए गए विज्ञापन-यहां, उपयोगकर्ता वीडियो, छवि पोस्ट या स्लाइडशो को अनुकूलित करने के लिए भुगतान कर सकते हैं, जिसे फेसबुक आपके व्यवसाय के दर्शकों से मेल खाने वाले लोगों के न्यूजफीड में प्रकाशित करेगा।
  • ट्विटर विज्ञापन– यहां, उपयोगकर्ता किसी विशिष्ट ऑडियंस के समाचार फीड में पोस्ट या प्रोफाइल बैज की एक श्रृंखला रखने के लिए भुगतान कर सकते हैं, सभी आपके व्यवसाय के लिए एक विशिष्ट लक्ष्य पूरा करने के लिए समर्पित हैं। यह लक्ष्य वेबसाइट ट्रैफिक, अधिक ट्विटर फालोवर, ट्वीट जुड़ाव या यहां तक कि ऐप डाउनलोड भी हो सकता है।
  • लिंक्डइन पर प्रायोजित संदेश-यहां, उपयोगकर्ता अपने उद्योग और पृष्ठभूमि के आधार पर विशिष्ट लिंक्डइन उपयोगकर्ताओं को सीधे संदेश भेजने के लिए भुगतान कर सकते हैं।
  • सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन  (Search Engine Optimization) – डिजिटल मार्केटिंग कैसे काम करती है, इसमें सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन बड़ी भूमिका निभाता है। यदि आप डिजिटल युग में उपभोक्ताओं तक पहुंचना और उन्हें परिवर्तित करना चाहते हैं, तो आपको सर्च इंजनों के साथ शुरुआत करनी होगी। फॉरेस्टर के शोध अध्ययन में पाया गया कि 71% उपभोक्ता Google जैसे सर्च इंजन पर अपनी खरीदारी शुरू करते हैं। यदि आप अपनी साइट के एसईओ को बेहतर बनाने के लिए सही कदम नहीं उठा रहे हैं, तो आप एक बढ़िया अवसर से खो रहे हैं। सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन न केवल आपकी वेबसाइट पर अधिक ट्रैफिक लाता है, बल्कि यह सुनिश्चित करने में भी मदद करता है कि आप जो लीड ला रहे हैं वह उच्च गुणवत्ता का है। डिजिटल मार्केटिंग का लक्ष्य उन लोगों को आकर्षित करना है जो आपके उत्पादों या सेवाओं के लिए सही हैं, और एसईओ ऐसा करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। आप अपने कन्टेन्ट में कुछ खोजशब्दों और विषयों पर जोर देकर, उन लोगों तक पहुँचने का काम कर सकते हैं, जिनको आपके उत्पादों या सेवाओं में रुचि होने की सबसे अधिक संभावना है।

सोशल मीडिया मार्केटिंग (Social media marketing)

social marketing

किसी ब्रांड का प्रचार करने, बिक्री बढ़ाने और वेबसाइट ट्रैफिक चलाने के लिए तथा अपने दर्शकों से जुड़ने के लिए सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का उपयोग करना, सोशल मीडिया मार्केटिंग कहलाता है। इसमें सोशल मीडिया प्रोफाइल पर अच्छा कन्टेन्ट प्रकाशित करना, फालोवर्स को सुनना और उन्हें लुभाना, परिणामों का विश्लेषण करना और सोशल मीडिया विज्ञापनों को चलाना शामिल है।

प्रमुख सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक, इंस्टाग्राम, ट्विटर, लिंक्डइन, पिनटेरेस्ट, यूट्यूब और स्नैपचैट हैं। अधिकांश ब्रांड आज अपने डिजिटल मार्केटिंग कार्यक्रमो को करने और अपनी वेबसाइट पर अधिक ट्रैफिक चलाने के लिए सोशल मीडिया मार्केटिंग का उपयोग कर रहे हैं।

सोशल मीडिया मार्केटिंग में, कन्टेन्ट को बढ़ावा देना और फेसबुक, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, और Pinterest जैसे सोशल मीडिया चैनलों पर अपने लक्षित उपभोक्ताओं के साथ जुड़ना शामिल है। इस रणनीति का उपयोग डिजिटल मार्केटिंग में व्यवसायों की ब्रांड जागरूकता बढ़ाने और ग्राहक से सम्पर्क करने के लिए किया जाता है।

सोशल मीडिया मार्केटिंग की सबसे बड़ी उपलब्धि यह है कि यह व्यवसायों को व्यापक दर्शकों तक ऑनलाइन पहुंचने की अनुमति देता है। उदाहरण के लिए, 326.1 मिलियन भारतीय इंटरनेट उपयोगकर्ता फेसबुक पर सक्रिय हैं। यदि आपका व्यवसाय सोशल प्लेटफॉर्म पर इन उपभोक्ताओं तक पहुंचने और उनसे जुड़ने की कोशिश नहीं कर रहा है, तो आप निश्चित रूप से इन नए अवसरों तक पहुंचने के एक महत्वपूर्ण अवसर खो रहे हैं। 

Reference

Written by Amit Singh

I am a technology enthusiast and write about everything technical. However, I am a SAN storage specialist with 15 years of experience in this field. I am also co-founder of Hindiswaraj and contribute actively on this blog.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कम्प्यूटर का विकास - Development of Computer Generations

कम्प्यूटर का विकास – Development of Computer

ऑनलाइन / इंटरनेट से पैसे कैसे कमाए - How to make Money Online/Internet

ऑनलाइन / इंटरनेट से पैसे कैसे कमाए – How to make Money Online/Internet