in

LoveLove CuteCute CryCry AngryAngry

Good Afternoon in Hindi – गुड आफ्टरनून का मतलब हिंदी में

दोस्तों क्या आप जानते हैं कि Good Afternoon in Hindi, हिंदी में गुड आफ्टरनून का क्या मतलब होता है, गुड आफ्टरनू (Good Afternoon) क्या है, गुड आफ्टरनू (Good Afternoon) का पूरा नाम क्या (poora naam) है? गुड आफ्टरनू (Good Afternoon) कब बोला जाता है, गुड आफ्टरनू (Good Afternoon) क्यों बोलते हैं, गुड आफ्टरनू ka Hindi meaning kya hai. अगर आपके भी कुछ इसी तरह के सवाल हैं तो आपको परेशान होने की आवश्यकता नही है आपको इस लेख में इसकी जानकारी मिल जाएगी।  

गुड आफ्टरनून को हिंदी में क्या कहते हैं, गुड आफ्टरनून इन हिंदी, गुड आफ्टरनून हिंदी में

दोस्तों क्या आप जानते हैं कि गुड आफ्टरनून को हिंदी में क्या कहते हैं। वैसे तो ये लगभग सभी को पता होता है लेकिन फिर भी बहुत से लोगों को नही पता होता, इसलिए इस लेख के माध्यम से हम आपको बताना चाहते हैं कि गुड आफ्टरनून को हिंदी में कहते हैं “शुभ दोपहर”

good afternoon ka matlab, गुड आफ्टरनून का मतलब क्या होता है

Good Afternoon

गुड आफ्टरनून कब बोलते हैं

Good Afternoon गुड आफ्टरनून का हिंदी मतलब होता है शुभ दोपहर shubh dopahar Good afternoon यह दोपहर और शाम के बीच का समय होता है। यह समय मुख्य रूप से दोपहर 12 बजे के बाद शुरु होता है और दोपहर के 4 बजे तक चलता है।

आमतौर पर इस बात पर संशय रहता है कि दोपहर के 4 बजे से लेकर शाम के 5 बजे के बीच के समय को क्या कहा जाए। लेकिन बहुत लोग इस समय को भी दोपहर का समय ही कहते हैं। इसका कोई ऐसा सख्त नियम नही होता। इसलिए दिन के 12 बजे से लेकर शाम के 5 बजे के बीच के समय को ही दोपहर कहा जाता है।

Why is noon called Good afternoon? दोपहर को शुभ दोपहर क्यों कहा जाता है?

दोस्तों जब भी हम किसी को समय (Time) के लिए (Wish) करते हैं तो हम ये आशा करते हैं कि हम जिसे भी समय की बधाई दे रहे हैं उसके लिए आने वाला यह समय मंगलमय हो, इसी आशा से हम दोपहर के समय की बधाई देते समय दोपहर के आगे शुभ शब्द को जोड़ देते हैं जैसे- आपका दिन शुभ हो। इसी तरह दोपहर की बधाई के लिए शुभ दोपहर (Good afternoon) कहा जाता है।

यहाँ पढ़ें : हिंदी एल्फाबेट क्या है

When should I say good afternoon? ‘शुभ दोपहर’ गुड आफ्टरनून जी

Good Afternoon

क्या आप जानते हैं कि शुभ दोपहर (good afternoon) किसे और कब कहा जाता है। मान लीजिए कि आप दोपहर के समय किसी से पहली बार मिलते हैं तब आप उन्हे शुभ दोपहर कहते हैं। अगर आप किसी के साथ दोपहर के समय पहले से ही हैं तो उस व्यक्ति को आपको शुभ दोपहर कहने की आवश्यकता नही होती, लेकिन जिनसे आपकी मुलाकात इस समय पहली बार होती है उन्हे आप शुभ दोपहर की बधाई देते हैं।

Time Before and After आफ्टनून से पहले और बाद का समय

Good Morning
Good Afternoon
Good Evening
Time Before and After

आपको अब यह तो पता चल ही गया की दिन के समय की बधाई शुभ दोपहर (good afternoon) कहकर दी जाती है, लेकिन क्या आप जानते हैं कि दोपहर के पहले के समय और दोपहर के बाद के समय की बधाई किस प्रकार दी जाती है? और इस समय को क्या कहा जाता है?

दोपहर के पहले के समय को सुबह और दोपहर के बाद के समय को शाम कहते हैं। जब आप सुबह के समय किसी इंसान से उस दिन पहली बार मिलते हैं तब आप उन्हे सुबह की बधाई देते हैं और आप उन्हे शुभ प्रभात (good morning) कहते हैं इसका मतलब होता है कि आपकी सुबह शुभ और खूबसूरत हो। सुबह की बधाई का मतलब यह भी होता है कि “आपका दिन मंगलमय हो”

इसी प्रकार दोपहर के बाद के समय को शाम (evening) का समय कहते हैं और इसकी बधाई देते समय आप शुभ संध्या (good evening) कहते हैं। शाम की बधाई आप सुबह और दोपहर की तरह उस व्यक्ति को देते हैं जिनसे आप शाम के समय पहली बार मिलते हैं।

यहाँ पढ़ें : What is quarantine

Importance of afternoon दोपहर के समय का महत्व

दोस्तों क्या आप जानते हैं कि दोपहर के समय का अपना एक अलग महत्व होता है। आज की भागदौड़ भरी ज़िंदगी मे हर इंसान व्यस्त रहता है। सुबह के समय बड़ों को अपने काम पर जाने की जल्दी रहती है, बच्चों को स्कूल जाने की और महिलाओं को घर का काम करने की। और ठीक इसी प्रकार शाम के समय भी लोग व्यस्त रहते हैं जैसे ऑफिस से घर आने की भागदौड़, बच्चों को गृह कार्य करने की और महिलाओं को फिर से शाम के खाने की और बाकी काम की जल्दी होती है। इसलिए हम अपने लिए समय ही नही निकाल पाते।

दोस्तों क्या कभी आपने सोचा है कि दोपहर का समय वो समय होता है जब लोग अपने लिए थोड़ा बहुत समय निकाल लेते हैं, इस समय आप वह काम कर सकते हैं जो आप करना चाहते हैं। इसलिए दोपहर के समय का अपना अलग महत्व होता है। यह समय हर किसी के लिए खास होता है जब इंसान अपने लिए समय निकालता है। इसलिए जब भी हम किसी से दोपहर के समय मिले तो हमे उन्हे good afternoon शुभ दोपहर कहना चाहिए।

गुड आफ्टरनून सुविचार

good afternoon

गुड आफ्टर्नून मतलब शुभ दोपहर, क्या आप जानते हैं दोपहर का समय अपने सुविचार लिखने के लिए एक बहुत अच्छा समय होता है। क्योंकि इस समय हमे थोड़ा बहुत खाली समय मिलता है, और लगभग हर इंसान अपने खाली समय में बैठकर बेहतर सोच सकता है। एक ऐसा ही सुविचार है-

नेक लोगों की संगत से
हमेशा भलाई ही मिलती है,
क्योंकि जब हवा फूलों से गुजरती है
तो वो भी खुशबूदार हो जाती है।

गुड आफ्टरनून गूगल

दोस्तों क्या आप जानते हैं कि गूगल प्ले के माध्यम से आप जितने चाहे गुड आफ्टरनून डाउनलोड कर सकते हैं गूगल एप के माध्यम से आप सभी प्रकार के फोटो डाउनलॉड करे इसके लिए नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करें।

गुड आफ्टरनून शायरी

गुड आफ्टरनून शायरी आप किसी को भी भेज सकते हैं, चाहे वो आपके रिश्तेदार हों, गर्ल फ्रेंड बाय फ्रेंड हो, या दोस्त हो। गुड आफ्टरनून शायरी भेजने का मतलब अपने भाव प्रकट करना होताा है। मैसेज में लिख सकते हैं-

good afternoon

जब तन्हाई में आपकी याद आती है
होंठों पर एक ही फरियाद आती है
खुदा हमेशा खुश रखे आपको
क्यूंकि हमारी हर खुशी आपके बाद आती है

गुड आफ्टरनून मैसेज

गुड आफ्टरनून मैसेज आप कैसे भी भेज सकते हैं जैसे व्हाट्स्प, टेक्स मैसेज, फेसबुक, ट्वीटर, इंस्टाग्राम आदि पर भेज सकते हैं।

good afternoon

चिराग तो आंधी मे भी जला करते हैं।
गुलाब तो काटों मे भी खिला करते हैं।।
खुशनसीब बहुत होते हैं वो लोग।
दोस्त जिन्हे आप जैसे मिला करते है।।

Reference-
22 November 2020, Good Afternoon meaning, wikpedia

Written by savita mittal

मेरा नाम सविता मित्तल है। मैं एक लेखक (content writer) हूँ। मेैं हिंदी और अंग्रेजी भाषा मे लिखने के साथ-साथ एक एसईओ (SEO) के पद पर भी काम करती हूँ। मैंने अभी तक कई विषयों पर आर्टिकल लिखे हैं जैसे- स्किन केयर, हेयर केयर, योगा । मुझे लिखना बहुत पसंद हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Hindi alphabet

हिंदी एल्फाबेट (Hindi alphabet) हिंदी वर्णमाला क्या है तथा हिंदी भाषा का इतिहास

89 meaning in Hindi

What is 69, 79, 89 meaning in Hindi? – 89 को हिंदी में क्या कहते है?