in

Quarantine Hindi meaning – क्वारंटाइन हिंदी मीनिंग, क्या होता है क्वारंटाइन – What is quarantine ?

कोरोना वायरस काल में पूरा विश्व इस महामारी से जूझ रहा है। और इस दौरान एक शब्‍द है जो सबसे ज्‍यादा सुनने को मिलता है। और वो शब्‍द है क्‍वारंटाइन। जी हां, जैसे ही ये शब्‍द दिमाग में आता है तो एक अजीब सा डिप्रेशन महसूस होता है। 

कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने का सबसे बेहतर और आसान उपाय क्वारंटाइन है। अगर आपको ऐसा संदेह है कि आप कोरोना वायरस से संक्रमित है या फिर सर्दी-जुकाम से पीड़ित हैं, तो दूसरे लोग इस संक्रमण से बचें रहें इस लिए क्वारंटाइन किया जाता है।

अगर 14 दिनों की इस अवधि को यदि उत्‍साहित होकर बिताया जाए तो मन में खुशी के हार्मोंस उत्पन्न होते हैं और इम्‍युनिटी भी बेहतर हो सकती है। वरिष्‍ठ मनोवैज्ञानिक डॉ केसी गुरुनानी के अनुसार शरीर के स्‍वस्थ रहने के लिए जरूरी क्‍वारंटाइन को मानसिक सेहत के साथ भी सुधारने की जरूरत रहती है।

यदि क्‍वारंटाइन का हर दिन उत्‍साह के साथ बिताया जाए तो सेहत में बहुत जल्‍द सुधार होता है।

महत्वपूर्ण बातें – Important things

  • अगर किसी व्यक्ति में कोरोना के लक्षण दिखते हैं तो तुरंत 14 दिन के लिए नज़दीकी संपर्क बंद कर दें।
  • रोगी के कमरे के टॉयलेट को भी रोज़ हाउसहोल्ड ब्लीच से साफ करें।
  • संक्रमित व्यक्ति के कमरे के फर्श और हर समान को एक फीसदी सोडियम हाइपोक्लोराइट सोल्यूशन से साफ करें।

यहाँ पढ़ें : rituyon ke anusar ayurveda

Quarantine Hindi meaning – क्या होता है क्वारंटाइन

क्‍वारंटाइन  का साधारण शब्दों में मतलब है, खुद को अपने घर के एक कमरे में बाकी सभी लोगों से दूर अलग कर लेना।

संक्रमित व्यक्ति को क्‍वारंटाइन करने से उसके परिवार के किसी अन्य सदस्य या किसी दूसरे शख्स को वायरस का संक्रमण नहीं फैलता है।

Quarantine Hindi meaning

क्वारंटीन एक लैटिन मूल का शब्द है। इसका मूल अर्थ 40 दिन का समय होता है। इसका मतलब होता है संगरोधन, यानी किनारे पर आने-जाने से रोकना तथा अस्पताल के अलग कमरे  को भी कहते है।

दरअसल, पुराने समय में जब जहाजों पर किसी यात्री के रोगी होने या जहाज पर लदे माल में रोग प्रसारक कीटाणु होने का संदेह होता था तो उस जहाज को बंदरगाह से दूर चालीस दिन के लिए रहना पड़ता था। ग्रेट ब्रिटेन में प्लेग को रोकने के लिए इस व्यवस्था की शुरुआत की गई थी।

कोरोना के लक्षण सर्दी जुकाम के लक्षण के समान ही दिखते हैं इसलिए ऐसा होने पर 14 दिन का होम क्वारंटाइन कारगर उपाय है। जानकारों के अनुसार कोरोना वायरस के लक्षण सामने आने में 14 दिन का समय लगता है।

कोरोना से बचाएगा क्वारंटाइन – Quarantine will save you from Corona

कोरोना काल मे अगर कोई इस वायरस के लक्षण की आशंका को देखते हुए घर पर ही खुद को सबसे अलग एक कमरे मे बंद कर लेता है तो इसे ही होम क्वारंटाइन कहा जाता है. आपको बता दें कि, सरकार की तरफ से भी क्वारंटाइन सेंटर बनाए गए हैं जहां पर भी कोरोना के संदिग्ध संक्रमित लोगों को रखा जाता है।

क्वारंटाइन की अवधि 14 दिनों के लिए तय की गई है यह इसलिए किया गया है क्योंकि कोरोना वायरस के लक्षण खुलकर सामने आने में 14 दिन तक लग जाते हैं।

अकेलेपन को बनाएं सकारात्‍मक – Make loneliness positive

विशेषज्ञों का मानना है कि क्‍वारंटाइन का अकेलापन नकारात्मक सोच को बढ़ाता है इसलिए इससे बेहतर है इसे परिवर्तित करके सकारात्मक तरीके मे बदला जाए। इन 14 दिनों मे आपके पास भाग दौड़ भरी जिंदगी से आराम लेकर अपने लिए पर्याप्त समय होता है।

आप अगर क्वारंटाइन में हैं तो अपने और घर के अधूरे कामों को पूरा कर समय का सदुपयोग कर सकते हैं। अपने आप को व्यस्त रखने के लिए आप अपने पसंद के काम कर सकते हैं। अपने कमरे को मैंटेन कर सकते हैं जैसे अलमारी से गैर जरूरी कपड़ों को बाहर निकाल रख सकते हैं।

क्वारंटाइन में जाने पर आप अपने स्वास्थ्य पर ध्यान दे सकते हैं क्योंकि आज की भाग दौड़ भरी जिंदगी में स्वास्थ्य पर ध्यान देना भी मुश्किल हो गया है। अत: व्यायाम कर खुद को व्यस्त और स्वस्थ रखा जा सकता है।

आप चाहें तो इस समय किताबें पढ़ कर अच्छा समय व्यतीत करने के साथ अपने ज्ञान को भी  बढ़ा सकते हैं। तथा आप अपने पसंद की किताबे भी पढ़ सकते हैं।

घर पर अपने आप को कैसे कर सकते हैं क्वारंटाइन? – How can you quarantine yourself at home?

  1. अगर आप कोरोना पॉज़िटिव हैं तो अपने आप को घर पर ही होम क्वारंटाइन कर सकते हैं इसके लिए आपको कुछ बातों का ध्यान रखना आवश्यक होता है जैसे –
  2. होम क्वारंटाइन के लिए एक हवादार कमरे का चुनाव करें, कमरे मे टॉयलेट भी होना चाहिए।
  3. थोड़ी- थोड़ी देर में साबुन से हाथ धोएं और अल्कोहल बेस्ड हैंड सैनेटाइजर का इस्तेमाल करें।
  4. संक्रमित शख्स घर के अन्य बुजुर्गों, गर्भवतियों और बच्चों से दूर रहें।
  5. अगर कमरे में परिवार के अन्य सदस्य भी हो, तो दोनों में कम से कम एक मीटर की दूरी होनी चाहिए।
  6. वायरस से संक्रमित मरीज को किसी भी समारोह, शादी, पार्टी में 14 दिन या जब तक स्वस्थ न हो जाएं तब तक हिस्सा नही लेना चाहिए।
  7. घर में अपने आप से पानी, बर्तन, तौलिए तथा घर की अन्य किसी चीज को न छुएं?
    सर्जिकल मास्क का ही उपयोग करें और इसे लगाकर रखें। हर 6-8 घंटे में मास्क बदलें। इनको सभी से डिस्ट्रोए करके डस्टबिन मे ही फेंके।

होम क्वारंटाइन व्यक्ति के परिवार के लिए गाइडलाइंस – Guidelines for the Home Quarantine Family

Quarantine Hindi meaning
  1. होम क्वॉरंटाइन व्यक्ति 14 दिनों तक सभी नजदीकी संपर्क बंद कर दें। ऐसा तब तक करें जब तक रिपोर्ट निगेटिव न आ जाए।
  2. घर के किसी एक सदस्य को ही ऐसे व्यक्ति की देखभाल करनी चाहिए जो खुद पूर्ण रूप से स्वस्थ हो।
  3. जिसे संक्रमण हो उस व्यक्ति की त्वचा के सीधे संपर्क में आने से बचें।
  4. जो व्यक्ति देखभाल कर रहा है वह स्वंय का भी ध्यान रखे तथाघर को साफ करने के लिए दस्ताने पहनें। उन्हें उतारने के बाद हाथों को अच्छे से धोएं।
  5. इस समय घर में किसी भी बाहरी व्यक्ति को न आने दें।
  6. समय – समय पर रोगी को डॉक्टर के निर्देशानुसार उसकी दवाइयों और खान पान का ध्यान रखें।

क्वारंटाइन में क्या करें – What to do in quarantine?

  1. नकारात्मक बिल्कुल न सोचें सकारात्मक सोच को आगे बढ़ाते हुए समय का सदुपयोद करें।
  2. दूरी बनाते हुए घर वालों के साथ वक्त बिताएं, इस भाग दौड़ भरी जिंदगी में ये एक बहुत अच्छा अवसर है कि अपने परिवार के साथ समय बिताएं।
  3. हर क्षेत्र में सीखने के लिए बहुत कुछ होता है जो समय की कमी के कारण हम नही सीख पाते इसलिए नया सीखें- इस वक्त ऑनलाइन तरीके से आप कुछ भी सीख सकते हैं।
  4. जितना आपका मन करें टीवी देखें मस्ती करें, खुश रहें।
  5. जब वक्त मिला है तो घर पर ही व्यायाम कर सकते हैं और अपने स्वास्थ्य पर अधिक ध्यान दें।
  6. ऑनलाइन वीडियो कॉल करें तथा अपने सभी दोस्तों से बात चीत करते रहें।
  7. लोगों को इसके बारे मे सही जानकारी दें।
  8. सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए बच्चों को नई नई चीज़ें सिखाएं, खुद भी मजे के साथ बच्चों के साथ रहें।

क्वारंटाइन में क्या न करें – What not to do in quarantine?

  1. अगर आप होम क्वारंटाइन में हैं तो घर से बाहर बिल्कुल न जाएं इससे दूसरों को संक्रमण का खतरा बना रहता है।
  2. कोरोना होने पर अपने घर वालों के पास न जाएं और घर के सभी कमरों मे न जाएं।
  3. बाहर का जंग फूड न खाएं घर का बना स्वस्थ तथा डॉक्टर की सलाह के अनुसार ही खाएं।
  4. अपने अंदर नकारात्मक सोच को बिल्कुल न आने दें। हमेशा अच्छा सोचें।
  5. कोरोना संक्रमित व्यक्ति को किसी फंक्शन, या भीड़ भाड़ वाली जगह पर नही जाना चाहिए।

इस लेख मे आपने जाना Quarantine Hindi meaning क्या होता है क्वारंटाइन। उम्मीद है इस लेख मे आपके क्वारंटाइन से संबंधित सभी सवालों का जवाब मिल गया होगा। इसी तरह की अन्य जानकारी पाने के लिए हमारे दूसरे लेख पढ़ सकते हैं। आपका स्नेह हमे आप तक महत्वपूर्ण जानकारी पहुँचाने के लिए प्रेरित करता रहेगा।

Reference

Written by Amit Singh

I am a technology enthusiast and write about everything technical. However, I am a SAN storage specialist with 15 years of experience in this field. I am also co-founder of Hindiswaraj and contribute actively on this blog.

One Comment

Leave a Reply
  1. Hi there this is somewhat of off topic but I was wanting to know if blogs use WYSIWYG editors or if you have to
    manually code with HTML. I’m starting a blog soon but have no
    coding know-how so I wanted to get guidance from someone with experience.

    Any help would be enormously appreciated!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

USB Kya Hai in Hindi

USB Kya Hai – Full Form Aur यह कैसे काम करता है ?

10 Places To Visit In Delhi In Hindi

दिल्ली में 10 Best घूमने वाली सबसे अच्छी जगहें – 10 Places To Visit In Delhi In Hindi