in

Major Tourist places in Udaipur- उदयपुर में घूमने वाली प्रमुख पर्यटन स्थल

Pichola Lake- पिछोला झील

जब शहर ही झीलों का है तो शुरुआत भी झील से ही होना स्वाभाविक है। पिछोला झील एक मानव निर्मित झील है, जो प्राकृतिक सुंदरता से परिपूर्ण है। सन् 1362 में इस झील का निर्माण कार्य पूरा हुआ और बाद में राणा उदय सिंह द्वितीय ने इसका विस्तार करवाया। पहाड़ियों, महलों और घाटों से घिरा यह झील मनोरम दृश्य की प्रस्तुति देता है। सबसे ज्यादा अनुभव तब होगा जब नौका विहार किया जाए और चारो तरफ के नज़ारे का आनंद उठाया जाए।

पिछोला झील की लंबाई 3 मील, चौड़ाई 2 मील और गहराई 30 फीट है। शाम के दौरान, ऐसा लगता है कि पूरी जगह सोने में डूबी हुई है क्योंकि आप विरासत की इमारतों और प्राचीन पानी को सूरज के प्रतिबिंब के साथ सुनहरा देख सकते हैं। मोहक दृश्य आपको एक अलग दुनिया में ले जाएगा और आपका रोमांटिक पक्ष भी सामने लाएगा।

City Palace- सिटी पैलेस

Major Tourist places in Udaipur- उदयपुर में घूमने वाली प्रमुख पर्यटन स्थल

पिछोला झील के किनारे, उदयपुर में सिटी पैलेस राजस्थान में सबसे बड़ा शाही परिसर माना जाता है। शानदार महल का निर्माण वर्ष 1559 में महाराणा उदय सिंह ने करवाया था और सत्ता की मुख्य सीट के रूप में कार्य किया, जहाँ महाराजा रहते थे और राज्य का संचालन करते थे। इसके बाद, महल को उनके उत्तराधिकारियों द्वारा और भी शानदार बना दिया गया, जिन्होंने इसमें कई संरचनाएँ जोड़ीं। पैलेस में अब महल, आंगन, मंडप, गलियारे, छतों, कमरे और लटकते उद्यान हैं। यहाँ एक संग्रहालय भी है जो राजपूत कला और संस्कृति के कुछ बेहतरीन तत्वों को प्रदर्शित करता है – रंगीन चित्रों से लेकर राजस्थानी महलों में पाई जाने वाली विशिष्ट वास्तुकला तक।

यह महल इतना भव्य और आलीशान है कि आपको ऐसा आभास होगा जैसे आप राजा महाराजा के युग में हो। ऊपर से इसका परिसर मन मोह लेता है।

समय – सुबह 9:30 से शाम 5:30 तक।

टिकट दर – भारतीय पर्यटक – ₹300

               भारतीय विद्यार्थी – ₹100

Fateh Sagar Lake- फतेह सागर झील

Major Tourist places in Udaipur- उदयपुर में घूमने वाली प्रमुख पर्यटन स्थल

उदयपुर के उत्तर-पश्चिम में स्थित, फतेह सागर झील एक शानदार झील है जो शहर के प्रमुख पर्यटन स्थलों में से एक है। अरावली पहाड़ियों से घिरा, यह शहर की दूसरी सबसे बड़ी कृत्रिम झील है और अपनी सुंदरता के लिए जाना जाता है। फतेह सागर झील एक वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में फैली हुई है और तीन अलग-अलग द्वीपों में विभाजित है। इनमें से सबसे बड़ा नेहरू पार्क कहलाता है और इसमें नाव के आकार का रेस्तरां और बच्चों के लिए एक छोटा चिड़ियाघर है। यह एक प्रसिद्ध पिकनिक स्थल के रूप में है।

दूसरे द्वीप में पानी-जेट फव्वारे के साथ एक सार्वजनिक पार्क है। तीसरे द्वीप में पूरे एशिया में उदयपुर सौर वेधशाला में सबसे अच्छा सौर अवलोकन स्थल शामिल है। शहर की चार झीलों में से एक होने के नाते, लोग अक्सर यहाँ आते हैं, ताकि असली नीले पानी में नौका विहार का आनंद लिया जा सके और प्राकृतिक सुंदरता को देख सकें।

Sajjangarh Monsoon Palace- सज्जनगढ़ मॉनसून महल

इसका नाम महाराजा सज्जन सिंह के नाम पर रखा गया है। उदयपुर के बाहरी क्षेत्र में स्थित यह महल कभी मेवाड़ साम्राज्य का निवास स्थान हुआ करता था। मानसून पैलेस को मुख्य रूप से मेवाड़ के शाही परिवार और उनके मेहमानों के लिए शिकार लॉज के रूप में इस्तेमाल किया गया था। सज्जनगढ़ पैलेस एक आकर्षक राजपूत वास्तुकला को प्रदर्शित करता है, जो उच्च टावरों, बुर्ज, बालकनियों और स्तंभों के साथ पूरा होता है। यहां तक कि अद्वितीय वैज्ञानिक तकनीकों में वर्षा जल के संरक्षण करने की भी सुविधा थी।

मॉनसून पैलेस की शीर्ष बालकनियों से, पूरे उदयपुर शहर, इसके सभी झीलों, महलों और किलों, साथ ही मेवाड़ के पैतृक घर, चित्तौड़गढ़ का एक शानदार दृश्य देख सकते हैं। हो सकता है कि इस कारण से इस स्थान को महाराणा सज्जन सिंह ने अपनी महलनुमा वेधशाला के लिए चुना था। महाराणा फतेह सिंह द्वारा निर्मित फतेह सागर झील के संपूर्ण खिंचाव का सीधा दृश्य भी आप देख सकते हैं। यदि आप दोपहर के दौरान कभी भी मानसून पैलेस जाते हैं, तो सूर्यास्त का इंतजार और गवाही देना सुनिश्चित करें, जो कि विरासत भवन की विशाल बालकनियों से आश्चर्यजनक लगता है।

समय – सुबह 9:30 से शाम 5:30 तक।

टिकट दर – भारतीय पर्यटक – ₹10

               विदेशी पर्यटक – ₹80

Jag Temple- जग मंदिर

पिछोला झील के बीचोबीच स्थित जग मंदिर अन्यंत मनोरम लगता है। इसने मुझे जयपुर के जल महल की याद दिला दी। रात में जब यहां रोशनी की जाती है तो इसकी सुंदरता में और भी वृद्धि हो जाती है। नौका विहार करके आप इसके निकट पहुंच सकते हैं। इसका निर्माण महाराणा कारण सिंह द्वितीय द्वारा 17 वीं शताब्दी में करवाया गया था।

इस महल में सबसे प्रसिद्ध स्थानों में से एक गुल महल हैं, जहाँ शाहजहाँ अपने परिवार के साथ रहते थे। यह स्थान इस्लामिक वास्तुकला की शैली में बना है। शाहजहाँ की धार्मिक आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए यहाँ एक मस्जिद बनाई गई थी। बारह पत्थरों का महल, कुंवर पडा का महल (राजसी राजकुमार के लिए महल) और झेनाना महल (शाही महिलाओं के लिए कक्ष) अन्य  मंडप हैं जिनको घूमना चाहिए।

समय – सुबह 9 से शाम 7 बजे।

टिकट – भारतीय पर्यटक – ₹ 325

Vintage Car Museum- विंटेज कार संग्रहालय

Major Tourist places in Udaipur- उदयपुर में घूमने वाली प्रमुख पर्यटन स्थल

पुरानी और एंटीक गाड़ियों के शौकीन हैं? अगर हां, तो यह जगह आपको बिल्कुल भी निराश नहीं करेगी। एक से बढ़कर एक गाड़ियों को संग्रह कर के रखा गया है। आपको जानकारी के लिए बता दूं कि राजस्थान के राजा महाराजा कारों के बड़े ही शौकीन हुआ करते थे। यहीं वजह थी कि उनके महल में गाड़ियों की लाइन लगी रहती थी।

समय – प्रतिदिन सुबह 9 बजे से शाम 9 बजे तक।

टिकट – भारतीय पर्यटक – ₹250, बच्चे – ₹150

Shilpgram- शिल्पग्राम

शिल्पग्राम का शाब्दिक अर्थ है ‘कारीगरों का गाँव’। यह अपने नाम का बखूबी पालन करता है। यह विशेष रूप से कारीगरों और अन्य प्रतिभा धारकों के लिए बनाया गया एक गाँव है जो अपने उत्पाद या सेवाओं को प्रदर्शित करने और बेचने के लिए है। सबसे खूबसूरत बात यह है कि यह राजस्थान की ग्राम संस्कृति को बारीकी से दर्शाती है। यही मुझे यहां सबसे ज्यादा पसंद है।

आपको यह स्थान बिल्कुल भी भूलना नहीं चाहिए। आपको राजस्थानी संस्कृति और परंपरा की झलक यहां देखने को मिलेगा। झोपडियां, चौपाल, लोकगीत गाते लोग, पुराने तौर तरीके आदि आपको प्राचीन काल में लेकर जाएंगी और आप इन सब को अपने कैमरे में कैद किए बिना नहीं रह सकते।

अगर आप दिसंबर के महीने में जा रहे हैं तो आप शिल्पग्राम महोत्सव का भी हिस्सा बन सकते हैं। यह एक 10 दिवसीय आयोजन होता है, जहां देश के अलग अलग हिस्सों से लोग अपनी कारीगरी का नमूना पेश करने आते हैं।

समय – सुबह 10 बजे से शाम 6 बजे तक।

टिकट – भारतीय पर्यटक- ₹ 50

Big lake- बड़ी झील

शहर के बाहरी इलाके में स्थित, बड़ी झील एक कृत्रिम मीठे पानी की झील है जो उदयपुर में स्थित है। 1652 और 1680 के बीच महाराजा राज सिंह द्वारा निर्मित, बड़ी झील 155 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में फैला है। एक लोकप्रिय पिकनिक स्थल के रूप में आदर्श, बड़ी झील भी पूरी तरह से शांति और शांति का माहौल प्रदान करती है क्योंकि यह नियमित पर्यटक भीड़ से रहित है। झील तैरने के लिए भी आदर्श है, और तटबंधों पर कई बैठने और आराम करने के लिए स्थान हैं।

अक्सर आप झील में पर्यटकों की भारी भीड़ देखते हैं जो मौज मस्ती करने के लिए आते है, पर यह एक ऐसा स्थान है जहां आपकी शांति की अनुभूति होगी।

How to reach Udaipur?- उदयपुर कैसे पहुंचें?

By Rail- रेल द्वारा

आप जयपुर से आ रहे हो या किसी अन्य शहर से, रेलवे एक संभव विकल्प है। उदयपुर शहर रेलवे स्टेशन (UDZ) देश के सभी स्टेशनों से जुड़ा हुआ है।

By air- वायु मार्ग द्वारा

उदयपुर का सबसे नजदीकी हवाई अड्डा महाराणा प्रताप हवाई अड्डा शहर से लगभग 20 किमी दूर है। कुछ एयरलाइंस जैसे जेट एयरवेज, इंडिगो और एयर इंडिया अपने विमान संचालित करती हैं।

By road- रोड द्वारा

उदयपुर, जयपुर से बहुत अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है और परिवहन विकल्प जयपुर के सिंधी कैंप बस स्टेशन से नियमित अंतराल पर लगभग हर समय उपलब्ध है। हालाँकि आप दिल्ली और आगरा से भी आसानी से आ सकते हैं। यहाँ आपके विकल्प हैं।

शाम के समय, अंबाराई घाट अवश्य घूमें। जब झील के आसपास महलों में उजियाला होता है तो लगता है कि आप वेनिस शहर में हैं। अगर आप पहली बार उदयपुर जा रहे है तो ये उपर्युक्त सभी जगहें आपको एक अच्छा अनुभव देंगी। चूंकि राजस्थान एक गर्म प्रदेश है, कोशिश करें कि सर्दियों के मौसम में जाएं। गर्मी में जाना थोड़ा कठिन होगा।

Reference

Written by Utkarsh Chaturvedi

नमस्कार, मेरा नाम उत्कर्ष चतुर्वेदी है। मैं एक कहानीकार और हिंदी कंटेंट राइटर हूँ। मैं स्वतंत्र फिल्म निर्माता के रूप में भी काम कर रहा हूँ। मेरी शुरुवाती शिक्षा उत्तर प्रदेश के आगरा में हुई है और उसके बाद मैं दिल्ली आ गया। यहां से मैं अपनी पत्रकारिता की पढ़ाई कर रहा हूँ और साथ ही में कंटेंट राइटर के तौर पर काम भी कर रहा हूँ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Yoga for better sleep- अच्छी और बेहतर नींद के लिए योग

Yoga for better sleep- अच्छी और बेहतर नींद के लिए योग

Taj Mahal - One amongst the Seven wonders in Hindi

Taj Mahal – One amongst the Seven wonders ताज महल – विश्व के सात अजूबों में से एक