in ,

जियो के साथ माइक्रोसॉफ्ट की डील -Deal of Jio with Microsoft

जियो और माइक्रोसॉफ्ट डील – JIO and Microsoft deal

माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ, सत्य नडेला ने हाल ही में भारत की आर्थिक राजधानी मुंबई में आयोजित एक कार्यक्रम में भाग लिया।इस कार्यक्रम में व्यापार जगत के दो गणमान्य व्यक्ति, माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ, सत्य नडेला, और रिलायंस के अध्यक्ष, मुकेश अंबानी ने मंच साझा किया।

पिछले एक महीने से मुकेश अंबानी की कंपनी JIO में लगातार विदेश निवेशक कर रहे हैं।एक महीने में कंपनी ने विदेशी निवेशकों के साथ 5 बड़ी डील्स साइन की है।अब एक और डील जियो और माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft Jio Deal) के बीच हुर्ह है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक Microsoft, JIO Platforms में 2.5 फीसदी की हिस्सेदारी खरीद रहा है। माइक्रोसॉफ्ट जियो में 2 अरबडॉलर का निवेश किया है।

माइक्रोसॉफ्ट ने रिलायंस जियो इंफोकॉम लिमिटेड से एक बड़ा डील किया है, जिससे देश में डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन को तेजी मिल सके। 42 वी AGM में मुकेश अंबानी ने बताया कि भारत के साथ साझेदारी द्वारा जियो स्टार्टअप कंपनियों को मुफ्त में कनेक्टिविटी और क्लाउड इंफ्रासर्विस प्रोवाइड कराएगी।इस डील के तहत माइक्रोसॉफ्ट अपने क्लाउड सर्विस Azure को जियो नेटवर्क पर लाएगा।

Microsoft ने Reliance के साथ एक सौदा किया, जहाँ उसने Reliance के साथ क्लाउड साझेदारी में प्रवेश किया ।यह उन दो कंपनियों के बीच 10 साल का सौदा है जहां Microsoft ने अपने एज्योरक्लाउड के साथ रिलायंस के डेटा केंद्रों को बल देने के लिए प्रतिबद्ध किया है।

जियो और माइक्रोसॉफ्ट डील - JIO and Microsoft deal

माइक्रोसॉफ्ट कॉर्प. ने भारत के सबसे बड़ी कंपनी JIO Platforms Ltd की डिजिटल इकाई में $2 बिलियन से अधिक का निवेश करना चाहती है। Microsoft, डिजिटल भुगतान सेवाओं के क्षेत्र में कई कम्पनियो के साथ काम रहा है।Reliance के साथ, Microsoft, Jio Platforms में 2.5% से अधिक हिस्सेदारी खरीदने का इच्छुक है।

दुनिया की सबसे मूल्यवान कंपनी Microsoft को JIO प्लेटफॉर्म्स का एक हिस्सा मिलेगा, जो फेसबुक इंक, के के आर एंड कंपनी, सिल्वर लेक, विस्टाइक्वेल पार्टनर और जनरल सहित मार्की निवेशकों से सिर्फ एक महीने में $10 बिलियन का निवेश आकर्षित कर चुका है।

फरवरी में, माइक्रोसॉफ्ट के मुख्य कार्यकारी सत्यन डेला ने कहा कि कंपनी ने रिलायंस जियो के साथ साझेदारी की है।सौदे के हिस्से के रूप में, रिलायंस जियो ने देश भर में डेटा कें द्रस्थापितकर ने और एंटरप्राइजक्लाइंट के लिए Microsoft Azure कीक्लाउड सेवाओं का उपयोग करने की योजना बनाई है।

Jio Platforms Limited एक भारतीय डिजिटल सेवा कंपनी और Reliance Industries Limited की सहायक कंपनी है। 2019 में स्थापित, Jio Platforms, Reliance Industries की सभी डिजिटल और दूरसंचार पहलुओं का एक संगठन है।कंपनी के पास भारत के सबसे बड़े मोबाइल नेटवर्क ऑपरेटर, JIO और रिलायंस के अन्य डिजिटल व्यवसाय हैं।

माइक्रोसॉफ्ट का पहले से ही रिलायंस जियो के साथ अच्छा रिश्ता है।पिछले साल अगस्त में, रिलायंस इंडस्ट्रीज ने घोषणा की कि उसने Microsoft Azure के साथ 10 साल की साझेदारी पर हस्ताक्षर किए हैं।इस़ साझेदारी के रूप में, JIO भारत भर में अगली पीढ़ी का कम्प्यूटर, भंडारण और नेटवर्किंग क्षमताओं से युक्त डेटा केंद्रों का निर्माण करेगा, जिन्हें Microsoft Azure के क्लाउड पर होस्ट किया जाएगा।

रिलायंस जियो, जो चार साल पहले लॉन्च हुई थी। रिलायंस जियो भारत में मोबाइल ग्राहकों को बनाने के लिए भारतीए यरटेल और वोडाफोन-आइडिया के साथ प्रतिस्पर्धा में है।

रिलायंस जियो के किए गए सौदे - Deals by Reliance JIO

रिलायंस जियो के किए गए सौदे – Deals by Reliance JIO

के के आर द्वारा नवीनतम निवेश की घोषणा 22 मई को की गई थी। JIO प्लेटफॉर्म्स की 2.32% हिस्सेदारी के लिए buyout फर्म ने ₹11,367 करोड़ रुपये भुगतान करने के लिए सहमत हुई, जो कि KKR का एशिया में अब तक का सबसे बड़ा निवेश होगा। इस सौदों ने JIO प्लेटफॉर्म को लगभग ₹4.91  ट्रिलियन की राशि प्राप्त किया है।

फेसबुक ने अप्रैल मे घोषणा कि थी, JIO में 9.99% हिस्सेदारी के लिए $5.7  बिलियन का निवेश किया जाएगा, इसके बाद सिल्वर लेक से $750  मिलियन और विस्टा इक्विटी पार्टनर्स से $1.5  बिलियन का निवेश किया गया। 17 मई को, JIO Platforms ने कहा कि यह जनरल अटलांटिक से $870  मिलियन जुटा रहा है। 

जियो प्लेटफार्म में किस कंपनी ने कितनी खरीदी हिस्सेदारी – Which Company bought how much stake in JIO Platform?

कंपनीडील की घोषणानिवेश करोड़ रुपये मेंजियो में हिस्सेदारी (%)
फेसबुक22 अपैल435749.99
सिल्वर लेक4 मई5655.751.15
विस्ता पार्टनर8 मई113672.32
जनरल अटलांटिक17 मई6598.381.34
केकेआर22 मई113672.32
कुल निवेश 78562.1317.12
Jio and Microsoft Deal

विदेशी निवेशक Jio Platforms के लिए एक रूपरेखा बना रहे हैं, क्योंकि वे भारत के तेजी से बढ़ते डिजिटल बाजार को देखना चाहते हैं। Jio Platforms Reliance के सभी डिजिटल और टेलीकॉम पहलों को जोड़ती है, जिसमें Jio डिजिटल सेवाएँ (मोबाइल, ब्रॉडबैंड), ऐप्स, तकनीकी क्षमताएं (कृत्रिम बुद्धिमत्ता, बिग डेटा, इंटरनेट ऑफ़ थिंग्स, इत्यादि) और अन्य निवेश जैसे कि Den Network, Hathway Cable शामिल हैं।

jio and microsoft

इस नए समझौते के महप्वपूर्ण बिन्दु इस प्रकार हैं –
The important points of this new agreement are as follows:

  • JIO Microsoft 365 के साथ उपलब्ध क्लाउड-आधारित उत्पादकता और सहयोगी उपकरणों के साथ अपने आंतरिक कार्यबल प्रदान करेगा और अपने गैर – नेटवर्क अनुप्रयोगों को Microsoft Azure क्लाउड प्लेटफॉर्म पर माइग्रेट करेगा।
  • JIO की मूल कनेक्टिविटी संरचना, जो हर किसी को, हर जगह जोड़ने का लक्ष्य रखता है, JIO की क्लाउड रणनीति के हिस्से के रूप में स्टार्टअप्स के बढ़ते पारिस्थिति की तंत्र के भीतर Microsoft Azure क्लाउड प्लेटफ़ॉर्म को अपनाने को बढ़ावा देगा।
  • JIO भारत भर के स्थानों में डेटा केंद्र स्थापित करेगा, जिसमें अगली पीढ़ी के कम्प्यूटर, भंडारण और नेटवर्किंग क्षमताएं शामिल होंगी, और Microsoft,  Jio की पेशकश का समर्थन करने के लिए इन डेटा केंद्रों में अपने Azure प्लेटफ़ॉर्म का उपयोगकरेगा।
  • शुरुआती दो डेटा सेंटर, गुजरात और महाराष्ट्र राज्यों में स्थापित किए जा रहे हैं। इनमें 75 मेगावाट बिजली की खपत करने वाले आईटी उपकरण स्थापित किए जा सकते हैं। इन्हें 2020 में पूरी तरह से चालू करने का लक्ष्य रखा गया है।
  • Jio Microsoft Azure क्लाउड प्लेटफॉर्म का लाभ उठाएगा ताकि भारतीय व्यवसायों की जरूरतों पर ध्यान केंद्रित करने वालेअभिन वक्लाउड समाधान विकसित किए जा सकें।
  • भारतीय स्टार्ट अप के पास कुशल और सस्ती क्लाउड इंफ्रास्ट्रक्चर और प्लेटफॉर्म सेवाओं तक पहुंच होगी, जिससे वे उत्पाद और सेवाओं को तेजी से और अधिक लागत प्रभावी ढंग से विकसित कर सकें।
  • भारत में छोटे और मझोले व्यवसायों में ऑफिस 365 सहित क्लाउड आधारित उत्पादकताए सहयोग और व्यावसायिक अनुप्रयोगों की एक सीमा तक पहुंच होगी, जिससे वे भारतीय बाजार में अधिक प्रभावी ढंग से प्रतिस्पर्धा कर सकेंगे।
  • बड़ी कंपनियां नए JIO साधन का लाभ उठाकर अपने स्वयं के डिजिटल परिवर्तनों में तेजी लाने में सक्षम होंगी जो कई बड़े उद्यमों के भीतर पहले से ही उपयोग में आने वाले Microsoft ऑफ़र के साथ काम कर सकते हैं।
  • JIO प्रमुख भारतीय भाषाओं और बोलियों का समर्थन करने वाले साधन विकसित करने के लिए Microsoft के साथ मिलकर, भारतीय ग्राहकों के लिए एकीकृत भाषण और कंप्यूटर विजन साधनो पर अपने दृष्टिकोण से विचार करेगा, जो भारतीय समाज में प्रौद्योगिकी को अपनाने को बढ़ावा देगा।

Reference

Written by Amit Singh

I am a technology enthusiast and write about everything technical. However, I am a SAN storage specialist with 15 years of experience in this field. I am also co-founder of Hindiswaraj and contribute actively on this blog.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

5G क्या है - What is 5G?

जियो 5G – Jio 5G

रिलायंस जियो DTH - Reliance Jio DTH

जियो DTH – Jio DTH