in ,

जियो 5G – Jio 5G

जियो 5G – JIO 5G

टेलीकॉम मार्केट में रिलायंस जियो के आने के बाद से ही कंपनीआए दिन नए-नए रिकॉर्डअपने नाम करते जार ही है । इसी कड़ी में रिलायंस जियो देश की पहली 5G सर्विस देने वाली कंपनी बन सकती है।इसके लिए कंपनी कुछ वेंडर्स से 5G में इस्तेमाल होने वाले डिवाइस के लिए बातचीत कर रही है।

5G सर्विस कि तरफ रिलायंस जियो के बढ़ते कदम को देखते हुए यह अनुमान लगाया जा रहा है कि कंपनीअगले साल अप्रैल तक 5G स्मार्ट फोन के साथ 5G सर्विस दे सकती है।

जियो 5G - JIO 5G

5G क्या है – What is 5G?

5G या पांचवीं पीढ़ी मोबाइल ब्रॉडबैंड नेटवर्क के दीर्घ कालिक विकास (LTE) में नवीनतम अपग्रेड है।पहली पीढ़ी या 1G नेटवर्क ने केवल मोबाइल वॉयसकॉल करने की अनुमति दी, जबकि दूसरी पीढ़ी या 2G नेटवर्क ने मोबाइल वॉयस कॉल के साथ – साथ छोटी टेस्क्ट संदेश भेजने की अनुमति दी।

इसके बाद तीसरी पीढ़ी या 3G नेटवर्क, जिसने मोबाइल उपकरणों पर वेबब्राउजिंग की अनुमति दी थी, जिसकी गति और लेटेंसी पीढ़ीया 4G नेटवर्क के साथ बेहतर हुई।

5G नेटवर्क में 1-10 मिली सेकंड के बीच लेटेंसी के साथ और भी तेज गति होती।लेटेंसी वह समय है जो किसी उपकरण को नेटवर्क के साथ संचार करने में लगता है, जो दुनिया भर में 4G नेटवर्क के लिए औसतन 50 मिली सेकंड तक होता है।

रिलायंस इंडस्ट्रीज के सीएमडी मुकेश अंबानी ने घोषणा की, कि कंपनी का टेलीकॉम वेंचर JIO स्कैच से डिजाइन और विकसित किया गया है , जो कि पूर्ण स्वदेशी 5G है जो विस्तारण के लिए तैयार है।कंपनी की वार्षिक आम बैठक में की गई घोषणाओ में, JIO को वैश्विक स्तर पर अन्य दूरसंचार कम्पनियों को 5G साधन निर्यात करने में सक्षम बनाना शामिल है।

5G की विस्तारण पर भारत कहां खड़ा है – Where does India stand on 5G expansion?

दूरसंचार सेवा प्रदाताओं और इनकी उपकरण विक्रेताओं, दोनों कंपनियों ने 5G नेटवर्क उपकरण प्रयोगशाला परीक्षणों को पूरा कर लिया है, लेकिन अभी फील्ड परीक्षण शुरू करना बाकी है, जो शुरू में पिछले साल होने वाले थे।

5G की विस्तारण पर भारत कहां खड़ा है - Where does India stand on 5G expansion?

इसी के लिए, दूरसंचार कंपनियों को दूरसंचार विभाग (DOT) से परीक्षण स्पेक्ट्रम के आवंटन का इंतजार है।सेवाप्रदाताओं ने पहले ही अपने 5G नेटवर्क के विस्तारण लिए नोकिया, एरिक्सन आदि जैसे उपकरण निर्माताओं के साथ गठजोड़ कर लिया है।

Jio ने दूरसंचार विभाग से नवीनतम 5G प्रौद्योगिकी के परीक्षण के लिए निश्चित आवृत्तियों में स्पेक्ट्रम मांगा है।कंपनी की पूर्ण स्वामित्व वाली यूएस-आधारित सहायक कंपनी रेडिसिस ने पहले ही 5G समाधानों में से कुछ को विदेशी कंपनियों को बेचना शुरू कर दिया है।

17 जुलाई को Reliance Jio ने 26 गीगाहर्ट्ज़ (GHz) ​​और 24 GHz बैंड में 800 मेगाहर्ट्ज़ के साथ “दिल्ली और मुंबई जैसे शहरी क्षेत्रों” में फील्ड ट्रायल चलाने के लिए 3.5 GHz बैंड में 100 MHz बैंड के लिए अनुरोध किया था। “Jio ने कहा है कि अमेरिका, दक्षिण कोरिया, जापान, कनाडा, ब्रिटेन जैसे अग्रिम देशों में उपयोग करने के लिए उच्च आवृत्तियों को रखा गया है।

कंपनी ने 26.5 – 29.5 GHz और 24.25-27.5 GHz बैंड के बीच स्पेक्ट्रम आवृत्तियों की मांग की है। इन उच्च आवृत्ति बैंडों की नीलामी अगले साल होने की उम्मीद है।

JIO के पास कंपनी द्वारा तैयार एक पूर्ण एंड-टू-एंड 5G साधन है जो नेटवर्क में एक बार विस्तारण के लिए तैयार है।इस साधन को अन्य दूरसंचार ऑपरेटरों द्वारा पूर्ण प्रबंधित सेवा के रूप में भी उपयोग किया जा सकता है।

JIO के 5G साधन में क्या शामिल है – What does JIO’s 5G instruments include?

जब रिलायंस ने अमेरिकी चिप मेकर क्वालकॉम द्वारा JIO में निवेश की घोषणा की, तो उन्होने कहा था कि इस निवेश से क्वालकॉम और JIO प्लेटफॉर्म के बीच संबंध और मजबूत होगे। इसके अतिरिक्त, JIO ने Google की साझेदारी से एक अनुकूलित Android आधारित ऑपरेटिंग सिस्टम का उपयोग करके किफायती स्मार्ट फोन विकसित करने की योजना बनाई है।

5G कैसे काम करता है - How does 5G work ?

5G कैसे काम करता है – How does 5G work ?

सभी 5G नेटवर्क मुख्य रूप से तीन स्पेक्ट्रम बैंड पर काम करते हैं।निम्न बैंड स्पेक्ट्रम के लिए अच्छा कवरेज साबित हुआ है और भूमिगत परिस्थितियों में भी तेजी से काम करता है।हालाँकि, इस बैंड की अधिकतम गति सीमा 100 एमबीपीएस (मेगाबिटप्रतिसेकंड) है। मिड-बैंडस्पेक्ट्रम में, गतिअधिक है, दुनिया भर में टेल्कोसने कवरेज क्षेत्र में आने और इमारतों में टेलीफोन सिग्नलों के प्रवेश की सीमाएं दर्ज की हैं।

हाई-बैंडस्पेक्ट्रम उच्चतम गति प्रदान करता है लेकिन इसमें बेहद सीमित नेटवर्क कवरेज क्षेत्र और प्रवेश क्षमताएं हैं।इस बैंड का उपयोग करने वाले टेलकोस मौजूदा एलटीई नेटवर्क पर भरोसा करते हैं और पर्याप्त कवरेज और उच्च गतिप्रदर्शन सुनिश्चित करने के लिए कई छोटे टॉवर स्थापित करने की आवश्यकता होगी।

5G तैयार होने का क्या मतलब है – What does 5G getting ready mean ?

वैश्विक स्तरपर,  AT&T -मोबाइल और वेरिजान जैसी कंपनियां अपने सेवा क्षेत्रों में 5G नेटवर्क का विस्तार कर रही हैं। जबकि AT&T ने 2018 की शुरुआत में ही इससे वाको शुरू कर दिया था, जबकि अमेरिका में अन्य प्रदाताओं ने ग्राहकों को परीक्षण के आधार पर सीमित सेवाएँ प्रदान करना शुरू कर रहे हैं।

5G नेटवर्क के अलावा ग्राहकों को मोबाइल ब्रॉडबैंड में नवीनतम अपग्रेड के अधिकतम लाभों का आनंद लेने में सक्षम होने के लिए उपकरणों को भी तैयार कर रहा। 5G नेटवर्क को कई – इनपुट मल्टीपल-आउटपुट (MIMO) दक्षता के लिए डिजाइन किया गया हैं, जो 5G नेटवर्क पर सभी उपकरणों के लिए सिग्नल को बेहतर बनाता है।

JIO 5G लॉन्च करने का उद्देश्य क्या है – What is the motive of launching 5G?

JIO 5G भारत में इंजीनियरों द्वारा विकसित किया गया है और यह रिलायंस एजीएम 2020 लाइव स्ट्रीम के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी की ‘आत्मनिर्भरभारत’ केअभियान को समर्पित है। जैसे ही India में 5G स्पेक्ट्रम उपलब्ध होगा, वैसे ही JIO 5G सेवा का परीक्षण करेगा और फील्ड परिनियोजन के लिए तैयार करेगा।कंपनी पूरी तरह से प्रबंधित सेवा के रूप में अन्य दूरसंचार ऑपरेटरों को JIO 5G साधन के निर्यात पर भी योजना बना रही है।

यह JIO 5G नेटवर्क हमारी कैसे मदद करेगा – How will JIO 5G network help us?

मुकेश अंबानी ने यह भी साझा किया कि JIO के 4G नेटवर्क को 5G नेटवर्क में अपग्रेड करना आसान होगा, और इसका सारा श्रेय इसके सभी IP नेटवर्क आर्किटेक्चर को दिया जाता है।इस 5G तकनीक का उपयोग करके हम विभिन्न उद्योग जैसे कि मीडिया, वित्तीय सेवाओं, नए वाणिज्य, शिक्षा, स्वास्थ्य, कृषि, स्मार्ट शहरों, स्मार्ट विनिर्माण और स्मार्ट गतिशीलता जैसे साधन उत्पन्न कर सकते हैं।

Reliance JIO 5G के बारे में अहम बातें – Important points about Reliance JIO 5G

  • RELIANCE JIO 2021 तक 5G मोबाइल यूजर्स को पेश कर सकता है।
  • JIO Google के साथ साझेदारी से नया Android आधारित स्मार्ट फोन बनाएगा।
  • भारत में यह नया Android OS पर चलने वाला 5G फोन लॉन्च हो सकता है और कंपनी इसे सस्ते दाम में लॉन्च करेगी।  
  • पूरी तरह से मेड इन इंडिया होगा नया स्मार्टफोन और आत्मनिर्भर भारत में योगदान देगा।
  • AGM 2020 के मंच से मुकेश अंबानी ने बताया कि 4G फीचर Jio Phone और Jio Phone 2 ने बिक्री के नए रिकॉर्ड बनाए हैं। कंपनी ने दोनों Jio Phone के 100 मिलियन यूनिट  सेल किए हैं।

Reference

Written by Amit Singh

I am a technology enthusiast and write about everything technical. However, I am a SAN storage specialist with 15 years of experience in this field. I am also co-founder of Hindiswaraj and contribute actively on this blog.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

जियो Vs एयरटेल प्रीपेड रिचार्ज प्लान - Jio Vs Airtel Prepaid Recharge Plan

जियो Vs एयरटेल प्रीपेड रिचार्ज प्लान – Jio Vs Airtel Prepaid Recharge Plan

जियो के साथ माइक्रोसॉफ्ट की डील -Deal of Jio with Microsoft

जियो के साथ माइक्रोसॉफ्ट की डील -Deal of Jio with Microsoft