हंस और उल्लू पंचतंत्र की कहानी | hans aur ullu Panchtantra ki kahani in Hindi

हंस और उल्लू की कहानी | Hindi Stories for Kids | Infobells

hans aur ullu Panchtantra ki kahani

यहाँ पढ़ें : vishnu sharma ki 101 panchtantra kahaniyan in hindi

hans aur ullu Panchtantra ki kahani in Hindi

एक बार एक उल्लू एक हंस के पास गया और उसके सामने दोस्ती का प्रस्ताव रखा। हंस मान गया और दोनों दोस्त बन गए।

hans aur ullu Panchtantra ki kahani
hans aur ullu Panchtantra ki kahani

कई दिनों तक हंस के साथ रहने के बाद उल्लू ने अपने घर वापस जाने की इच्छा जताई। वह हंस को अपने घर ने का न्योता देकर चला गया। कुछ समय बाद हंस उल्लू के घर गया।

उल्लू ने हंस का अच्छी तरह स्वागत नहीं किया। सफर की थकान की वजह से हंस वहीं पेड़ के नीचे सो गया।

भोर के वक्त राजा अपने रक्षकों के साथ वहां से गुजर रहा था। उसको देखकर उल्लू जोर से चिल्लाया। राजा को उस आवाज से चिढ़ हुई और उसने अपने अंगरक्षक कहा कि वह उस आवाज की दिशा में तीर चलाएं।

अंगरक्षक ने आवाज की दिशा में तीर चलाया पर उल्लू पेड़ के कोटर में छुप गया। तीर हंस को लगा और उसकी मृत्यु हो गई।

नैतिक शिक्षा :– हमें सोच समझ कर दोस्ती करनी चाहिए।

Leave a Comment