बूढ़ा शेर और लोमड़ी पंचतंत्र की कहानी | budha sher aur lomdi Panchtantra ki kahani in Hindi

बूढ़ा शेर और लोमड़ी – Hindi Kahaniya | Hindi Moral Stories | Animated Short Stories In Hindi

budha sher aur lomdi Panchtantra ki kahani

यहाँ पढ़ें : विष्णु शर्मा की 101 कहानियाँ

budha sher aur lomdi Panchtantra ki kahani in Hindi

एक जंगल में एक बूढ़ा बीमार शेर रहता था। एक बार उसने जंगल के सारे जानवरों को कहा कि वह गुफा में ही रहेगा क्योंकि वह बीमार है। कई जानवर उसका हाल चाल पूछने गुफा में गए। शेर उन पर हमला कर, उन्हें खा जाता।

budha sher aur lomdi Panchtantra ki kahani
budha sher aur lomdi Panchtantra ki kahani

एक दिन शेर ने देखा एक लोमड़ी बाहर उसका इंतजार कर रही है। शेर ने कहा, “तुम्हें भी बाकि जानवरों की तरह गुफा के अंदर आना चाहिए था।”

लोमड़ी बोली, “मुझे क्षमा करिए महाराज पर मैंने कई जानवरों के पैरों के निशान गुफा के अंदर जाते हुए देखे पर किसी के निशान बाहर आते हुए नहीं देखे।”

शेर समझ गया कि लोमड़ी समझदार है और बिना कुछ बोले वापस गुफा में चला गया। “लोमड़ी ने जंगल में जाकर सभी जानवरों को सचेत कर दिया।”

नैतिक शिक्षा :– अपने आसपास के माहौल से आगाह रहे। हमें हमेशा चौकन्ना रहना चाहिए।

Leave a Comment